विज्ञापन

RERA का एक सालः देश के 14 राज्यों में पोर्टल भी नहीं, बायर्स को नहीं मिल रही है किसी तरह की मदद

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Fri, 27 Apr 2018 03:11 PM IST
rera will complete one year on may 1, has done little to help buyers
विज्ञापन
ख़बर सुनें
रियल एस्टेट पर अपने शिकंजे को कसने और घर खरीदारों को राहत देने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से लाए गए रियल एस्टेट रेग्यूलेशन एक्ट (रेरा) को लागू हुए पहली मई को एक साल हो जाएगा। लेकिन इस एक्ट के लागू हो जाने के बाद भी बायर्स को किसी तरह को कोई फायदा धरातल पर नहीं मिला है। इससे बायर्स के मन में इस एक्ट को लेकर संदेह बना हुआ है, क्योंकि कई राज्यों में इसके लिए पोर्टल तक नहीं बना है। 
विज्ञापन
20 राज्यों ने किया नोटिफाई
जम्मू-कश्मीर को छोड़कर के पूरे देश में रेरा कानून लागू है। इन 28 राज्यों मे भी केवल तीन ने ही अपने स्थाई रेग्यूलेटर को नियुक्त किया है। वहीं 20 राज्यों में इसका नोटिफिकेशन जारी हो चुका है। इसके बावजूद 14 राज्यों ने रेरा के लिए अलग से पोर्टल शुरू किया है। प्रॉपर्टी कंसल्टेंसी नाइट फ्रैंक के मुताबिक इतना होने के बाद भी ग्राहकों की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। 

इन राज्यों ने शुरू नहीं किया वेबपोर्टल
महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और पंजाब ने ही केवल स्थाई तौर पर रेग्यूलेटर को नियुक्त किया है। अन्य राज्यों ने केवल इस पद पर अस्थाई तौर पर रेग्यूलेटर की नियुक्ति की गई है। हालांकि असम, हरियाणा, केरल, तेलंगाना और ओडिशा ने अभी तक रेरा के लिए अलग से पोर्टल नहीं शुरू किया है। 

इन राज्यों के पोर्टल नहीं मिलती पूरी जानकारी
यूपी, बिहार, राजस्थान और आंध्र प्रदेश जैसे राज्यों रेरा के पोर्टल पर जो जानकारी डेवलपर्स द्वारा अपलोड की जा रही है वो बायर्स के लिए नाकाफी है। ऐसा इसलिए क्योंकि रेरा के तहत सभी चल रहे प्रोजेक्ट्स के बारे में अगस्त 2017 तक रजिस्ट्रेशन करना होगा। लेकिन ऐसे कई प्रोजेक्ट्स जिनको पजेशन सर्टिफिकेट नहीं मिला है और वो रेरा में रजिस्टर्ड नहीं हो सके हैं। 

पश्चिम बंगाल सरकार ने नहीं किया नोटिफाई
रिपोर्ट के मुताबकि पश्चिम बंगाल में ममता सरकार ने इस कानून को अभी तक नोटिफाई भी नहीं किया है। इसके अलावा पूर्वोत्तर के सभी राज्य भी इसी कतार में शामिल हैं। इस हिसाब से देखा जाए तो राज्य सरकार भी इसे लागू करने में फिसड्डी साबित हो गई हैं। ऐसे में कैसे बिल्डर्स धोखाधड़ी करने से बाज आएंगे यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Business News in Hindi related to stock exchange, sensex news, finance, breaking news from share market news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Business and more Hindi News.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Business Diary

जेट एयरवेज पर नहीं मिलेगा उड़ान के दौरान अब नाश्ता-खाना, 28 सितंबर से लागू होगा नियम

घाटे से गुजर रही देश की प्रमुख एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज अपनी घरेलू उड़ानों पर यात्रियों को किसी भी तरह का नाश्ता-खाना नहीं देगी। हालांकि यात्रियों को उड़ान के दौरान मुफ्त पानी, चाय और कॉफी पीने को मिलेगी।

20 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

गाय को ‘राष्ट्रमाता’ बनाने की पहली पहल, क्या सुधर जाएगी गायों की स्थिति

उत्तराखंड सरकार की बीजेपी सरकार ने एक अध्यादेश पास किया है, जिसके बाद गाय को ‘राष्ट्रमाता’ माना जाएगा।

20 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree