लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Business ›   Personal Finance ›   Must have business skills to take the Entrepreneurial plunge

सफल उद्यमी बनने के लिए मेहनत व स्किल की जरूरत, कारोबार में काम आएंगे ये टिप्स

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलावाधी Updated Sat, 27 Feb 2021 11:35 AM IST
कारोबारसफल उद्यमी बनने के लिए मेहनत व स्किल की जरूरत
कारोबारसफल उद्यमी बनने के लिए मेहनत व स्किल की जरूरत - फोटो : pixabay
विज्ञापन
ख़बर सुनें

किसी भी व्यावहारिक बिजनेस आइडिया को एक सफलतापूर्वक बिजनेस ऑपरेशन में ढालने के लिए बहुत मेहनत और स्किल की जरूरत पड़ती है। इस काम में मात्र कुछ ही उद्यमी सफल हो पाते है। ऐसा अनुमान है कि 90 फीसदी स्टार्टअप अपनी स्थापना के पांच साल के अंदर ही धराशायी हो जाते है। नवोन्मेष की कमी, अपर्याप्त आर्थिक मैनेंजमेंट, खराब मार्केटिंग स्ट्रैटेजी और अत्यधिक विस्तार की योजना, कुछ ऐसे फैक्टर हैं जिससे स्टार्टअप बिजनेस बर्बाद हो जाता है।



बादा बिजनेस के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉक्टर विवेक बिंद्रा बताते हैं कि किसी भी बिजनेस को शुरू करने और फिर इसे चलाने के लिए मल्टिपल स्किल की जरूरत पड़ती है। बिजनेस के इस फेज की देखरेख करने वाले उद्यमियों को मल्टिपल स्किल को सीखना चाहिए और तकनीक के साथ-साथ विशेष कार्यों को अपने दम पर करने में सक्षम होना चाहिए। भले ही आप आउटसोर्सिंग कर रहे हो या टास्क को सौंप रहे हैं, आपको यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि बिजनेस को सही रास्ते पर चलाने के लिए हर ऑपरेशन को जाने। स्पष्ट रूप से एक स्टार्टअप को कठिन स्टार्टअप की दुनिया में उतारने से पहले एक उद्यमी को अपना होमवर्क करना चाहिए।


कई जरूरी बिजनेस स्किल को आमतौर पर काम करते हुए सीखा जा सकता है। उद्यमियों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे कई बिजनेस स्किल को सीखने के लिए खुद को तैयार रखें। ट्रेनिंग या इंटर्नशिप करके, विभिन्न बिजनेस के लिए काम करके और कई शॉर्ट टर्म डिजिटल बिजनेस लर्निंग प्रोग्राम्स को सीखने से व्यक्तियों को अपने बिजनेस को चलायमान रखने के लिए जरूरी स्किल प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

नए जमाने की मार्केटिंग स्किल
बिक्री को बढ़ाने के लिए प्रभावी मार्केटिंग स्किल सबसे महत्वपूर्ण चीज होती है। मार्केटिंग आज एक बहुआयामी प्रैक्टिस हो गई है जिसमें न केवल पारंपरिक आउटरीच एक्टिविटी शामिल हैं, बल्कि डिजिटल और सोशल मीडिया आउटरीच भी बड़े स्तर पर शामिल है। इसलिए उद्यमियों को बिजनेस शुरू करने से पहले सलाह दी जाती है कि वे मार्केटिंग के बेसिक पहलुओं को समझें। इसमें वे ऑनलाइन लर्निंग से एक कदम आगे रह सकते है। कई तरह के ऑनलाइन बिजनेस स्किल वाले कोर्स करने से उद्यमियों को ट्रेडिशनल मार्केटिंग और डिजटल मार्केटिंग जिसमे कंटेंट मार्केटिंग, एसईओ फेसबुक, और इंस्टाग्राम शामिल होता है, उसे सीखने की जरूरत होती है। इन प्लेटफॉर्म का समझदारी से इस्तेमाल करने से आपको अपने बिजनेस को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

कंसल्टिंग सेलिंग
बिक्री स्ट्रेटजी को समझना एक एंट्रेप्रेन्योर के लिए सबसे महत्वपूर्ण बिजनेस स्किल है। अगर आप एक उद्यमी हैं, तो आपको एक बुद्धिमान विक्रेता बनने की भी जरूरत है। हालांकि अत्यधिक प्रतिस्पर्धी बाजार में आपकी बिक्री स्ट्रेटजी को समय के साथ बनाए रखने की आवश्यकता होती है। प्रोडक्ट-बेस्ड बिक्री के बजाय कंसल्टिंग सेलिंग वह दृष्टिकोण है जो नए-पुराने बिजनेस के बीच ज्यादा अंतर लाता है। हालांकि हर विक्रेता अपना उत्पाद बेचता है, लेकिन आपको पूरी बिक्री प्रक्रिया को खरीदार के लिए प्रॉब्लम सोल्विंग (समस्या-समाधान) प्रक्रिया की तरह बनाना सीखना होगा और यह कंसल्टिंग सेलिंग के लिए बहुत जरूरी चीज होती है।

जब आप कंसल्टिंग सेलिंग का दृष्टिकोण अपनाते है तब आप एक सेल्सपर्सन की तरह काम नही करते है बल्कि आप खरीददार के लिए एक कंसल्टेंट के रूप में काम करते है। इस प्रोसेस में सबसे पहले ग्राहकों से एप्रोच करने से पहले रिसर्च और उनकी जरुरत की जानकारी इकठ्ठा करना और फिर जानकारी के आधार पर उन्हें समाधान प्राप्त करना होता है न कि उन्हें मात्र एक प्रोडक्ट प्रदान करना। कंसल्टिंग सेलिंग को सीखने के लिए आपको सेल्सपर्सन से अलग बनना होगा और अपनी सेल्स प्रोसेस को ज्यादा निरंतर और कस्टमर फ्रेंडली बनाना होगा।

मार्केट रिसर्च
किसी भी मार्केट की प्रभावी रिसर्च करने की स्किल को हासिल करना बहुत जरूरी होती है। अक्सर इस स्किल को उतनी महत्ता नहीं दी जाती है। हालांकि मार्केट की स्थिति और कमियों का अध्ययन करने और गैप की पहचान करने के लिए पूरी तरह से मार्केट रिसर्च करना बिजनेस की सफलता में एक महत्वपूर्ण तत्व होता है। प्रभावी मार्केट रिसर्च होने से आपको बिजनेस के लिए आपको सही जानकारी और ज्ञान प्रदान करके तैयार करता है कि आपके प्रतिस्पर्धी कहाँ खड़े हैं, आप मार्केट रिसर्क करके इसका पता लगा सकते है और आपका टारगेट कस्टमर कौन है और आपका बिजनेस किस लेवल पर है। यह सब जानकारी मात्र मार्केट रिसर्च से ही पा सकते है। मार्केट रिसर्च न केवल एक बिजनेस शुरू करने से पहले जरूरी होता है, बल्कि यह बिजनेस चलाने का एक बहुत जरूरी हिस्सा होता है। प्रभावी मार्केट रिसर्च समय की बदलती जरूरतों के लिए खुद को अनुकूल बनाने के लिए बिजनेस को सक्षम करने के लिए बहुत जरूरी प्रक्रिया होती है।

डाटा एनालिटिक्स
डाटा एनालिटिक्स या कई डाटा की बिजनेस समझ बनाने की कला एक व्यापक रूप से उभरती हुई स्किल है। उद्यमियों को इस स्किल को सीखने की जरुरत है। ऑनलाइन उत्पन्न होने वाले डेटा का एक बड़ा भाग जानकारी का खजाना होता है। इस जानकारी का इस्तेमाल बिजनेस को टार्गेट बिक्री रणनीतियों को बढ़ाने के लिए करना चाहिए। डिजिटल बिक्री प्रमुख रूप से बढ़ रही है इसलिए डाटा एनालिटिकल स्किल्स को जानने से उद्यमियों डाटा से चलने वाले निर्णय लेने में मदद मिलती है जिसके परिणामस्वरूप प्रोडक्ट में सुधार होता है और व्यापार रणनीति बेहतर होती है। यह उन छोटे बिजेनस के लिए एक बड़ा प्रतिस्पर्धी लाभ देता है जो मार्केट में अपने बिजनेस को फिर से शुरू करना चाहते है। इसलिए अगर आप बिजनेस शुरू करने की योजना बना रहे हैं, तो डाटा को समझना आपके एजेंडे में होना आवश्यक है।

फाइनेंशल मैनेजमेंट
फाइनेंशल मैनेजमेंट केवल बहुत ज्यादा खर्च से बचने के लिए ही जरूरी नही होता है। किसी भी बिजनेस की ट्रेजेक्टरी को बढ़ाने के लिए कई फाइनेंशल फैसले बहुत बड़ी भूमिका निभाते है। समझदारी से लोन लेना, आरओआई एसेसमेंट के खिलाफ सही निवेश करना, बिजनेस के विभिन्न कोर के लिए खर्च करने हेतु सही निर्णय को लेना और बिजनेस को चलाने के लिए आने वाले खर्च को कम से कम रखना, अपने लाभ में निश्चित राशि का निवेश करना फाइनेंशल मैनेजमेंट का महत्वपूर्ण पहलू होता है। इससे न केवल बिजनेस मजबूत होता है बल्कि लोन को चुकता करने में मदद मिलती है। आमतौर पर उद्यमी बिजनेस को बढ़ाते समय गलत कैलकुलेशन कर लेते है और जिससे उनके रिसोर्सेज में कमी आ जाती है।

एक कैलिब्रेटेड और सतर्क वित्तीय (फाइनेंशल) रणनीति विशेष रूप से होने से शुरूआती कारोबार के फेज में बहुत महत्वपूर्ण होती है। इसके अलावा यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि व्यक्ति को कभी भी अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक पैसों का मिश्रण नहीं करना चाहिए। इसलिए प्रभावी फाय्नैन्शियल मैनेजमेंट की मूल बातें सीखना उद्यमी के लिए महत्वपूर्ण होता है। यह स्किल डिजिटल बिजनेस स्किलिंग कोर्स के माध्यम से सीखी जा सकती है।

ब्रांड मैनेजमेंट
एक बार जब स्टार्टअप बाजार में एक मुकाम हासिल कर लेता है, तो ब्रांड पहचान स्थापित करना आपकी ओवरआल मार्केटिंग स्ट्रेटजी का एक महत्वपूर्ण तत्व बन जाता है। प्रभावी ब्रांड मैनेजमेंट रणनीति आपके आर्गेनाइजेशन की एक निश्चित छवि (इमेज) बनाने में मदद करती है, उपभोक्ताओं को आपके ब्रांड को सिद्धांतों और मूल्यों के एक समूह के साथ जोड़ने और ज्यादा से ज्यादा ब्रांड जागरूकता को बढ़ाने में सक्षम बनाती है। यह न केवल आपके प्रोडक्ट और सर्विस की कीमत को बढ़ाने में मदद करता है, बल्कि ग्राहकों का एक लॉयल सेट बनाने में भी मदद करता है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और Budget 2022 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00