फेसबुक ने बंद किए 58 करोड़ से अधिक अकाउंट, आपत्तिजनक पोस्ट भी किए डिलीट

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 16 May 2018 12:26 PM IST
facebook privacy
facebook privacy
ख़बर सुनें
सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक ने पिछले तीन महीनों में 58.3 करोड़ से अधिक ऐसे फर्जी अकाउंट को बंद किया है जो कि सेक्स और हेट स्पीच को बढ़ावा देते थे। इन अकाउंट्स को बंद करने के लिए फेसबुक लंबे समय से काम कर रहा था, जिससे वो अपने बिजनेस करने के तरीके को ज्यादा पारदर्शी बना सके। 
मार्क जुकरबर्ग ने लिखा पोस्ट
इस बात की जानकारी फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने अपनी एक पोस्ट के जरिए दी। फेसबुक ने कहा कि आर्टिफिशल इंटेलिजेंस के इस्तेमाल और टेक्नॉलजी की मदद से करीब ग्राफिक वॉइलेंस वाली पोस्ट को डिलीट किया गया है। फेसबुक ने खुद 38 फीसदी कन्टेंट को ही पहचाना, जबकि बाकी सबकी शिकायत फेसबुक यूजर्स द्वारा की गई थी। 

सबसे ज़्यादा पोस्ट्स जिनके बारे में फेसबुक यूजर्स ने अपनी चिंता जताई, वो है अडल्ट न्यूडिटी या सेक्सुअल ऐक्टिविटी की थीं। हालांकि बच्चों पर होने वाले यौन अपराध या फिर पोर्न को  इस रिपोर्ट में कवर नहीं किया गया है। अक्टूबर-दिसंबर 2017 की तरह ही 2018 के पहले तीन महीनों में भी इस तरह की पोस्ट्स की संख्या करीब 21 मिलियन रही।
आगे पढ़ें

200 ऐप्स पर भी गिरी गाज

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Business News in Hindi related to stock exchange, sensex news, finance, breaking news from share market news in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Business and more Hindi News.

Spotlight

Most Read

Online Market

ई-कॉमर्स वेबसाइट पर एक तिहाई सामान मिलता है नकली, टॉप पर है स्नैपडील

देश की प्रमुख ई-कॉमर्स वेबसाइट्स पर खरीदारी करने वाले एक-तिहाई ग्राहकों को नकली सामान मिलता है।

24 अप्रैल 2018

Related Videos

IPL 11 का खिताब जीतने के साथ-साथ चेन्नई ने रचा ये इतिहास

चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल सीजन 11 के फाइनल में सनराइजर्स हैदराबाद को 8 विकेट से मात दी और आईपीएल का खिताब अपने नाम कर लिया।

28 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen