विज्ञापन
विज्ञापन

मालिकों के बीच में लड़ाई से नौ फीसदी गिरा इंडिगो का शेयर

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Thu, 16 May 2019 07:55 PM IST
इंडिगो
इंडिगो
ख़बर सुनें

खास बातें

  • 54 शहरों के लिए उड़ान भरते हैं विमान देश में। 
  • 17 विदेशी शहरों के लिए भी हैं इसकी उड़ानें। 
  • 10 साल से लगातार मुनाफे में हैं।
  • 10 साल से लगातार मुनाफे में है कंपनी 
  • 1 विमान से एयरलाइन की शुरुआत की थी। 
  • 225 विमान हैं अब एयरलाइन के पास। 
  • 46.9% मार्केट शेयर मार्च 2019 में। 
जेट एयरवेज के संकट के बीच एविएशन सेक्टर को देश की सबसे फायदेमंद एयरलाइन इंडिगो के दो प्रमोटरों और सह-संस्थापकों राहुल भाटिया और राकेश गंगवाल के बीच मतभेद की खबर से एक और झटका लगा है। विवाद सुलझाने के लिए दोनों लॉ फर्म के पास पहुंचे हैं। इस बीच इंडिगो के सीईओ रोनो दत्ता ने कर्मचारियों को भरोसा दिलाया है कि एयरलाइन की ग्रोथ स्ट्रेटजी में कोई बदलाव नहीं है। इसे लागू करने में इंडिगो के मैनेजमेंट को कंपनी के बोर्ड का पूरा समर्थन प्राप्त है।
विज्ञापन
दत्ता ने इसी साल जनवरी में एयरलाइन के सीईओ का पद संभाला था। सूत्रों के मुताबिक इन दोनों के बीच मतभेद तब उभरे, जब भाटिया को लगा कि गंगवाल एयरलाइन में अपनी टीम बढ़ा रहे हैं, ताकि उनका कंट्रोल कंपनी पर ज्यादा हो सके। अब उन्होंने विवाद को सुलझाने के लिए लॉ फर्म जेएसए लॉ और खेतान एंड कंपनी की सेवाएं ली हैं।

विवाद की खबर के बाद बीएसई में गुरुवार को इंडिगो की कंपनी इंटरग्लोब एविएशन के शेयरों में 9.82% तक गिरावट देखने को मिली। 1,450.50 रुपए का निचला स्तर छूने के बाद कंपनी के शेयर 8.82% नुकसान के साथ 1,466.60 रुपए पर बंद हुए। इंडिगो को पहले विमान की डिलीवरी 28 जुलाई 2006 को हुई। 4 अगस्त 2006 से कंपनी ने अपनी उड़ान शुरू की।

14 साल पहले 100 एयरबस विमान खरीदनेे का ऑर्डर देकर इंडिगो चर्चा में आई थी। 2004 में इंडिगो ने लाइसेंस हासिल किया। लेकिन 2006 तक कंपनी उड़ान नहीं भर पाई थी। किंगफिशर, स्पाइसजेट और जेट एयरवेज तक दिक्कत का सामना कर रही थीं। 2005 के ऐसे विपरीत माहौल में इंडिगो ने पेरिस एयर शो में 100 एयरबस विमान खरीदने का ऑर्डर दिया। जेब में सिर्फ 100 करोड़ रु. थे। गंगवाल की साख काम आई। एयरबस ने इतने कम एडवांस पर बड़ा ऑर्डर लिया।

राहुल भाटिया : ऑपरेशनल एक्सपर्ट 

इंडिगो में 38% हिस्सेदारी है। 58 वर्षीय भाटिया इंटरग्लोब एविएशन के ग्रुप एमडी हैं। इनकी नेटवर्थ 21,700 करोड़ रुपए है। भाटिया ऑपरेशनल कॉस्ट कम रखने में महारत रखते हैं। 1991 में उन्हें कारोबार से अलग होना पड़ा। 

राकेश गंगवाल : 30 साल का अनुभव 

इंडिगो में 37% हिस्सेदारी है। 66 वर्षीय गंगवाल अमेरिकी नागरिक और इंटरग्लोब एविएशन में नॉन-एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर हैं। इनकी नेटवर्थ 25,200 करोड़ रुपए है। एविएशन इंडस्ट्री में 30 साल से ज्यादा का अनुभव है।

मालिकाना हक को लेकर हुआ विवाद

पिछले कई महीने से हिचकोले खा रहे भारतीय विमानन क्षेत्र की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। सस्ती विमानन सेवा देने वाली इंडिगो में मालिकाना हक को लेकर विवाद बढ़ता जा रहा है, जिससे कर्मचारियों में आशंका बढ़ गई है। कंपनी के सीईओ ने बृहस्पतिवार को बयान जारी कर कर्मचारियों को प्रबंधन को लेकर आश्वस्त किया है।  

इंडिगो का संचालन करने वाली कंपनी इंटरग्लोब के सीईओ रंजॉय दत्ता ने कहा कि प्रवर्तकों के बीच विवाद के बावजूद वृद्धि को लेकर हमारी रणनीति में कोई बदलाव नहीं आया है। एयरलाइन के प्रबंधन को कंपनी बोर्ड का पूरा सहयोग मिल रहा है। 

सीईओ ने लिखा ई-मेल

सीईओ ने कर्मचारियों को भेजे ई-मेल में कंपनी के प्रवर्तकों राहुल भाटिया और राकेश गंगवाल के बीच बढ़ते विवाद पर भी स्थिति स्पष्ट की। कहा, मैं आप सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हमारी वृद्धि योजनाओं में कोई बदलाव नहीं आया है और बोर्ड की ओर से प्रबंधन को पूरा सहयोग जारी है। मीडिया में आ रही प्रवर्तकों के बीच विवाद की रिपोर्ट को लेकर आप (कर्मचारी) बिलकुल भी आशंकित न हों। कंपनी सभी शेयरधारकों, उपभोक्ताओं, कर्मचारियों और अन्य संबद्ध लोगों के प्रति अपने मूल्यों को बढ़ाने पर पूरा जोर दे रही है। 

ऐसे शुरू हुआ विवाद

सूत्रों के अनुसार, दोनों प्रमोटरों के बीच उस समय मतभेद हुए जब भाटिया को लगा कि गंगवाल एयरलाइन में अपनी टीम बढ़ा रहे हैं, ताकि उनका कंपनी पर ज्यादा नियंत्रण हो सके। विवाद बढ़ने पर दोनों ने अपनी हिस्सेदारी तय करने के लिए जेएसए लॉ फर्म और खेतान एंड कंपनी लॉ फर्म की मदद ली है। गंगवाल की एयरलाइन में करीब 37 फीसदी हिस्सेदारी है, जबकि भाटिया के पास 38 फीसदी हिस्सा है। 2003-04 में गंगवाल और भाटिया ने भारत में साथ मिलकर इंडिगो एयरलाइन की नींव रखी थी।
विज्ञापन

Recommended

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?
Junglee Rummy

आखिर भारतीयों को क्यो पसंद है रमी खेलना?

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा और घर बैठें पाएं प्रसाद : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2019 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Bazar

गिरावट के साथ हुई बाजार की शुरुआत, सेंसेक्स 39,000 के नीचे

सप्ताह के दूसरे कारोबारी दिन यानी बुधवार को शेयर बाजार लाल निशान पर खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 36.97 अंक यानी 0.09 फीसदी की गिरावट के बाद 38,926.87 के स्तर पर खुला।

23 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तानों में से एक सौरव गांगुली आज बनेंगे बीसीसीआई के अध्यक्ष

भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तानों में से एक सौरव गांगुली बीसीसीई के 39वें अध्यक्ष बनेंगे। गांगुली का बीसीसीआई के अध्यक्ष पद के लिए नामांकन सर्वसम्मति से हुआ है।

23 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree