बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मालविंदर सिंह और शिविंदर सिंह धोखाधड़ी और ठगी के आरोप में गिरफ्तार

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Published by: paliwal पालीवाल Updated Fri, 11 Oct 2019 12:10 AM IST
विज्ञापन
मालविंदर-शिविंदर सिंह (फाइल फोटो)
मालविंदर-शिविंदर सिंह (फाइल फोटो) - फोटो : PTI
ख़बर सुनें
फार्मा कंपनी रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मालविंदर सिंह को भी पुलिस ने देर रात गिरफ्तार कर लिया। मलविंदर सिंह को आर्थिक अपराध शाखा की टीम ने गुरुवार देर रात पंजाब से पकड़ा है। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने शिविंदर सिंह को पहले ही धोखाधड़ी और ठगी के आरोप में गिरफ्तार कर चुकी है।
विज्ञापन


बता दें कि मालविंदर की गिरफ्तारी से पहले फोर्टिस के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह समेत चार लोगों को दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया।

दिल्ली पुलिस ने रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड द्वारा मिली शिकायत के आधार पर इनको गिरफ्तार किया। रेलिगेयर का आरोप है कि इन तीनों लोगों ने कंपनी से मिले फंड में हेराफेरी करते हुए उसे बिना जानकारी के डायवर्ट भी किया। 


शिविंदर देश की प्रमुख दवा कंपनी रैनबैक्सी के भी प्रमोटर रह चुके हैं। 

रेलिगेयर के पूर्व सीईओ भी गिरफ्तार

पुलिस ने जिन तीन लोगों को गिरफ्तार किया है उनमें रेलिगेयर के पूर्व सीईओ और प्रबंध निदेशक सुनील गोधवानी, कवि अरोड़ा और अनिल सक्सेना शामिल हैं। इन सभी लोगों पर 740 करोड़ रुपये की हेराफेरी करने का आरोप लगाया था। 

ईडी ने मारा था छापा

इससे पहले अगस्त में प्रवर्तन निदेशालय ने  सिंह बधुओं, रेलिगेयर एंटरप्राइजेज लिमिटेड (आरईएल) के पूर्व चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक (सीएमडी) सुनिल गोधवानी, आरईएल के कार्यकारी अधिकारी एन के घोषाल, हेमंत ढींगरा से जुड़े सात ठिकानों पर छापेमारी की गई। 

एजेंसी की ओर से प्रवर्तन मामला जांच रिपोर्ट (ईसीआईआर) दर्ज करने के बाद यह कार्रवाई की गई है। ईसीआईआर पुलिस प्राथमिकी के समान होती है। पिछले साल दिसंबर में दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए धनशोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं में ईसीआईआर दर्ज की गई थी। 

आरईएल की अनुषंगी कंपनी रेलिगेयर फिनवेस्ट (आरएफएल) ने आर्थिक अपराध शाखा में 740 करोड़ रुपये की वित्तीय अनियमितता और धोखाधड़ी के आरोपों में शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत में सिंह बंधुओं समेत अन्य लोगों का नाम था। 

सिंह बंधुओं ने समूह की दिक्कतों के लिए गोधवानी को जिम्मेदार ठहराया था। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें कारोबार समाचार और बजट 2020 से जुड़ी ब्रेकिंग अपडेट। कारोबार जगत की अन्य खबरें जैसे पर्सनल फाइनेंस, लाइव प्रॉपर्टी न्यूज़, लेटेस्ट बैंकिंग बीमा इन हिंदी, ऑनलाइन मार्केट न्यूज़, लेटेस्ट कॉरपोरेट समाचार और बाज़ार आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X