ऐसी जमीन में बरसता है धन

Rakesh Jha Updated Tue, 14 Aug 2012 04:05 PM IST
 land which brings prosperity
ख़बर सुनें
अगर आपको लगता है कि पैसे और टैलेंट से आप बिजनेस में सफल हो जाएंगे तो इस धारणा को मन से निकाल दीजिए। वास्तु विज्ञान के अनुसार जिस जमीन पर आप व्यावसायिक प्रतिष्ठान बनाने जा रहे हैं अगर वह जमीन दोषपूर्ण हो तो आपकी मेहनत और योग्यता के अनुसार लाभ नहीं मिलता है। इसलिए व्यवसाय या फैक्ट्री स्थापित करने से पहले जमीन की अच्छी तरह जांच परख कर लें।
ऐसी जमीन पर फैक्ट्री नहीं लगाएं
वास्तु विज्ञान के अनुसार ऐसी जमीन पर फैक्ट्री लगानी चाहिए जहां की जमीन में नमी हो। शुष्क, बंजर और कटी फटी जमीन फैक्ट्री के लिए अच्छी नहीं होती है। ऐसी जमीन में फैक्ट्री लगाने से बार-बार परेशानी आती है। जिस जमीन पर फैक्ट्री स्थापित करने जा रहे हैं उसका आकार भी काफी मायने रखता है।

फैक्ट्री के लिए वर्गाकर और आयाताकर जमीन शुभ होती है। ऐसी जमीन जो आगे से चौड़ी और पीछे से संकरी होती है अथवा जिस जमीन का उत्तर पूर्वी भाग बढ़ा होता है वह भी फैक्ट्री एवं व्यावसायिक प्रतिष्ठान के लिए लाभप्रद होती है। अन्य आकार की जमीन व्यवसाय के लिए हानिप्रद होती है।

मुख्य द्वार
व्यावसायिक लाभ की दृष्टि से पूर्वोत्तर दिशा में मुख्य दरवाजा उत्तम होता है। पूर्वोत्तर दिशा में मुख्य दरवाजा बनाने में परेशानी हो तो ईशान कोण में मुख्य दरवाजा बनवा सकते हैं। इससे कर्मचारियों के साथ अच्छे संबंध बने रहते हैं जिससे उनका पूरा सहयोग प्राप्त होता है।

वास्तु विज्ञान के अनुसार आग्नेयमुखी द्वार व्यवसाय के लिए अच्छा नहीं होता है इससे बार-बार बाधाओं का सामना करना पड़ता है। कर्मचारियों के साथ मनमुटाव बना रहता है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Astrology News in Hindi related to daily horoscope, tarot readings, birth chart report in Hindi etc. Stay updated with us for all breaking news from Astro and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Vaastu

वास्तु टिप्स: घर में लगाएं धन समृद्धि का यह पौधा, दूर होती है दरिद्रता

शमी ऐसे पौधा है जिसको घर पर लगाने से धन-संपदा तो बढ़ती ही है साथ ही शनि देव की कृपा भी मिलती है।

19 जून 2018

Related Videos

बीजेपी-पीडीपी ब्रेकअप पर उमर अब्दुल्ला ने तोड़ी चुप्पी

जम्मू कश्मीर में बीजेपी-पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद राजनीतिक संकट खड़ी हो गई है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि अब सरकार किसकी बनेगी। इस मुद्दे पर पूर्व सीएम सुनिए उमर अब्दुल्ला ने क्या कहा।

19 जून 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen