अगर दिल अच्छा है, तो बदसूरती भी खूबसूरती बन जाएगी...

मो यान
                
                                                             
                            मैं बदसूरत पैदा हुआ था। गांव के लोग अक्सर मेरे चेहरे का मजाक उड़ाते थे और स्कूल में धमकाने वाले लड़के तो कभी-कभी मुझे इसके कारण पीट भी देते थे। मैं रोते हुए घर भाग
                                                                     
                            
आता था, जहां मेरी मां कहती थीं, तुम बदसूरत नहीं हो, बेटा। तुम्हारे पास नाक और दो कान हैं। तुम्हारे हाथ-पैर भी सही-सलामत हैं, तो तुम बदसूरत कैसे हो सकते हो? अगर तुम्हारा
दिल अच्छा है और तुम हमेशा सही काम करते हो, तो तुम्हारी बदसूरती भी खूबसूरती बन जाएगी। शिक्षित लोग भी मेरा मजाक उड़ाते थे, लेकिन जब मैं अपनी मां की बातें याद करता
था, तो मुझे राहत मिलती थी। मेरी निरक्षर मां पढ़ने-लिखने वालों का काफी सम्मान करती थीं। हम इतने गरीब थे, कि हमें अक्सर पता नहीं होता था कि अगली बार हमारे लिए खाना
कहां से आएगा, फिर भी उसने मुझे किताबें खरीदने या लेखन करने से मना नहीं किया।


  आगे पढ़ें

अपना काम भूल जाने के कारण मां नाराज हो गई...

1 month ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X