साहित्य

14 Poems

                                                                           व्यंग्य,नाटक, उपन्यास व कहानी हर विधा में नरेन्द्र कोहली को कौन नहीं जानता। उनके लाखों पाठक देश विदेश में बिखरे हैं। उनके उपन्यासों की लंबी श्रृंखलाएं हैं। चाहे 'महासमर' हो, 'अभ्युदय' हो या 'तोड़ो कारा तोड़ो'--इनके कई कई खंड ल...और पढ़ें
                                                
21 hours ago
                                                                           सेक्टर-26 आरडब्ल्यूए अध्यक्ष गोविंद शर्मा ने बताया कि गुलज़ार देहलवी बहुत ही मिलनसार थे। वह 2000 में नोएडा आए थे। सेक्टर-26 में वह पत्नी कविता जुत्शी के साथ रहते थे। उनका बेटा पुणे और बेटी भी देश में ही रहती है।...और पढ़ें
                                                
1 day ago
                                                                           'बड़े अरमान से रखा है बलम तेरी कसम, 
प्यार की दुनिया में ये पहला क़दम'

भले ही इस खूबसूरत गीत को वजूद में आए 65 साल गुज़र गए हों, लेकिन इसकी तासीर आज भी मोहब्बत बिखेरे हुए है। यह महज़ एक गीत का जन्म ही नहीं था, बल्कि बॉली...और पढ़ें
1 day ago
                                                                           आदमी जिंदगी भर प्यार से दूर रहता है, भागता है पर उसका मन प्यार की तरफ ही लगा रहता है, प्यार से ही उसको ताकत मिलती है| ऐसे में भी आदमी और उसका समाज प्यार जैसी चीज़ को बेकार मानता  है|  लेकिन  इसके बाद भी आदमी प्यार को  एक सिरे से अपने मन मष्तिस्क से ख़ा...और पढ़ें
                                                
2 days ago
                                                                           ये पहली दफ़ा नहीं है कि विश्व किसी महामारी से जूझ रहा है। पहले भी इस तरह के वायरस गाहे-बगाहे आते रहे हैं। ऐसे वक़्त में एक ज़रूरी मसअला नज़रिए का भी है, इसलिए जब-जब वबा यानी महामारी फैली उस समय के महान लोगों ने अपने ख़याल ज़ाहिर किए। इन्हीं में अज़ीज...और पढ़ें
                                                
2 days ago
                                                                           भोपाल के हमीदिया अस्पताल में मुक्तिबोध जब मौत से जूझ रहे थे, तब उस छटपटाहट को देखकर मोहम्मद अली ताज ने कहा था -

उम्र भर जी के भी न जीने का अन्दाज आया
    जिन्दगी छोड़ दे पीछा मेरा मैं बाज आया

जो मुक्तिबोध को निकट...और पढ़ें
5 days ago
                                                                           किशोर कुमार बॉलीवुड की सबसे लोकप्रिय 5 हस्तियों में शामिल हैं। उनका जन्म मध्य प्रदेश के खंडवा में 4 अगस्त 1929 को हुआ था। निधन 13 अक्टूबर 1987 को हुआ। किशोर कुमार के स्वभाव में फक्कड़पन कूट कूट कर भरा हुआ था। वह बेखौफ थे। उन्हें जिंदगी की जरा सी भी च...और पढ़ें
                                                
5 days ago
                                                                           27 दिसंबर को  यानी आज तुम्हारी यौम-ए-पैदाइश (जयंती )है । (27 दिसंबर, 1797) को एक अजीम शायर ने जन्म लिया था जिसे हम गालिब के नाम से जानते हैं । मियां, 220 साल बाद भी हमारे जैसे लोग हजारों लोग तुम्हारे फैन हैं और आगे भी रहेंगे। किसी भी अदीब के लिए यह ब...और पढ़ें
                                                
5 days ago
                                                                           ‘‘वो शायर जिसका नाम भूपेन हज़ारिका है, कितनी आसानी से आवाम के दिलों की आहट सुन लेता है। उन्हें आवाम का शायर कहना जायज है। जिस व्यक्ति की बात करते हैं, लगता है, जैसे वो खुद कह रहे हैं। उसके लबों से निकली आह अपने आप शायर के होठों का मिसरा बन जाती है। उस...और पढ़ें
                                                
6 days ago
                                                                           गुलशन बावरा ने हिंदी सिनेमा को 'मेरे देश की धरती सोना उगले' से लेकर 'यारी है ईमान मेरा' तक गाने दिए हैं। उनकी कलम से लगभग हर अवसर के लिए गीत निकले। गुलशन बावरा शुरुआती दिनों में क्लर्क का काम करते थे। लेकिन फ़िल्मों में गीत लिखने की च...और पढ़ें
                                                
1 week ago
X