फ़िरोज़ ख़ान की कहानी उनकी बेटी की ज़ुबानी...

Firoz Khan in word of his daughter Laila Khan
                
                                                             
                            

पिता को बेटियों से अधिक प्यार होता है। ये बात सबके लिए सच हो या ना हो, लेकिन मेरे लिए सच साबित हुई। मेरे पिता एक मशहूर अभिनेता, निर्माता और निर्देशक थे। दुनिया उन्हें फिरोज खान के नाम से जानती थी। दौलत, शोहरत और रुतबा होने के बाद भी वह बहुत ही सुलझे हुए और सरल व्यक्ति थे। स्टारडम के नशे में चूर न होने वाले और अपने परिवार से बेहद प्यार करने वाले शख्स थे। वह कभी आगे बढ़ने की रेस में शामिल नहीं हुए। पापा को लैला नाम बहुत पसंद था, इसलिए जब मैं पैदा हुई, तो मेरा नाम उन्होंने प्यार से लैला रख दिया। वह जितना प्यार भाई को करते थे, उतना ही मुझे भी। उन्होंने हम दोनों में कभी कोई भेदभाव नहीं किया। 

आगे पढ़ें

3 years ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X