जिगर मुरादाबादी के ख़जाने से 20 चुनिंदा शेर...

जिगर मुरादाबादी के ख़जाने से 20 चुनिंदा शेर
                
                                                             
                            हुस्न और इश्क़ का जिक्र आते ही जिगर मुरादाबादी का नाम बेसाख्ता ज़बान पर आ जाता है। मोहब्बत में महरूमी और मायूसी का सामना करने वाले जिगर की शायरी में ये एहसास शिद्दत से बयां होतें हैं। पेश है जिगर की ग़ज़लों से 20 चुनिंदा शेर...
                                                                     
                            

दिल को सुकून रूह को आराम आ गया 
मौत आ गई कि दोस्त का पैग़ाम आ गया 

सुब्ह तक हिज्र में क्या जानिए क्या होता है 
शाम ही से मिरे क़ाबू में नहीं दिल मेरा 
आगे पढ़ें

3 years ago

कमेंट

कमेंट X

😊अति सुंदर 😎बहुत खूब 👌अति उत्तम भाव 👍बहुत बढ़िया.. 🤩लाजवाब 🤩बेहतरीन 🙌क्या खूब कहा 😔बहुत मार्मिक 😀वाह! वाह! क्या बात है! 🤗शानदार 👌गजब 🙏छा गये आप 👏तालियां ✌शाबाश 😍जबरदस्त
X