बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

शहर चुनें

टीकरी बॉर्डर दुष्कर्म केस: सामने आया एक नया सच, जांच में सनसनीखेज खुलासे से सभी स्तब्ध

संवाद न्यूज एजेंसी, बहादुरगढ़ (हरियाणा) Published by: निवेदिता वर्मा Updated Fri, 11 Jun 2021 02:07 PM IST
विज्ञापन
1 of 5
पुलिस गिरफ्त में दुष्कर्म आरोपी। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
किसान आंदोलन के दौरान पश्चिम बंगाल की युवती से दुष्कर्म के आरोपी अनिल मलिक को अदालत ने गुरुवार को तीन दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया है। मलिक को भिवानी के भीम स्टेडियम के पास से गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में नए खुलासे हुए हैं। एसआईटी प्रमुख, डीएसपी पवन कुमार ने बताया कि आरोपी अनिल मलिक के खिलाफ पीड़िता के पिता ने एफआईआर दर्ज करवाई थी। पुलिस की जांच में युवती के साथ ट्रेन में छेड़खानी और फिर झोपड़ी में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। यही नहीं आरोपी ने अपने ही फोन से वीडियो बनाकर पीड़िता को ब्लैकमेल भी किया। पुलिस के अनुसार आरोपी ने माना है कि अनूप चानौत ने भी दुष्कर्म किया था और अंकुर सांगवान ने छेड़खानी की थी। जबकि जगदीश बराड़ ने विवाद को दबाने की कोशिश की। डीएसपी ने बताया कि ये बातें एसआईटी द्वारा पूछताछ के दौरान शामिल किए गए अन्य व्यक्तियों ने भी बताई हैं। आरोपी अनिल मलिक रिटायर्ड फौजी है। उसने 2016 में रिटायरमेंट ले ली थी। फिलहाल वह दिल्ली के पोचनपुर में रह रहा था।
विज्ञापन

2 of 5
टीकरी बॉर्डर दुष्कर्म केस - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
डीएसपी पवन ने बताया कि रिमांड के दौरान आरोपी के मोबाइल से अहम खुलासे हो सकते हैं। अब गांव चानौत जिला हिसार के निवासी अनूप और गांव मंदौला जिला चरखी दादरी के निवासी अंकुर को पकड़ने के लिए एसआईटी छापे मार रही है।
 

3 of 5
टीकरी बॉर्डर दुष्कर्म केस - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर
डीएसपी पवन ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि केस में नामजद सभी आरोपी किसान सोशल आर्मी नामक संगठन के बैनर तले किसान आंदोलन में सक्रिय थे। वे अपने टेंट में पढ़ाने के लिए आसपास के श्रमिकों के छोटे बच्चों को भी बुलाते थे। सभी आरोपी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ प्रचार करने के लिए पश्चिमी बंगाल गए थे। 
 
विज्ञापन

4 of 5
टीकरी बॉर्डर दुष्कर्म केस - फोटो : फाइल फोटो
कुछ रोज वहां रहकर वापस चले तो 11 अप्रैल को वहां की युवती किसान आंदोलन में भाग लेने के लिए उनके साथ चल पड़ी। अगले दिन 12 अप्रैल को युवती को लेकर टीकरी बॉर्डर पहुंचे। करीब 18 दिन बाद 30 अप्रैल को युवती की बहादुरगढ़ के एक निजी अस्पताल में मौत हो गई। बताया गया कि पीड़िता की मौत कोरोना संक्रमण से हुई।
 

5 of 5
टीकरी बॉर्डर दुष्कर्म केस - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
डीएसपी ने बताया कि बीमारी के दौरान युवती ने पिता को फोन करके अपने साथ खराब काम होने की जानकारी दी थी। उसके पिता बहादुरगढ़ पहुंचे और 9 मई को एफआईआर दर्ज करवा दी। पुलिस ने छह लोगों पर केस दर्ज किया। जिनमें दो महिलाओं के भी नाम हैं। इसलिए उक्त महिलाओं को भी जांच में शामिल किया गया। शिकायतकर्ता ने अपनी दरखास्त में आरोप लगाया था कि उनकी बेटी के साथ अनिल मलिक, अनूप चानौत व अन्य द्वारा छेड़खानी व खराब काम किया गया था। गांव चानौत जिला हिसार के निवासी अनूप और गांव मंदौला जिला चरखी दादरी के निवासी अंकुर को पकड़ने के लिए एसआईटी छापे मार रही है।

 

Latest Video

विज्ञापन

Recommended

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।