आपका शहर Close

जब इंदिरा गांधी की जान बचाने के लिए उन्हें चढ़ाया गया था 80 बोतल खून

situation when 80 bottles blood donated to former PM Indira Gandhi

भुवनेश्वर से इंदिरा गांधी की कई यादें जुड़ी हुई हैं और इनमें से अधिकतर यादें सुखद नहीं हैं। इसी शहर में उनके पिता जवाहरलाल नेहरू पहली बार गंभीर रूप से बीमार पड़े थे जिसकी वजह से मई 1964 में उनकी मौत हुई थी और इसी शहर में 1967 के चुनाव प्रचार के दौरान इंदिरा गांधी पर एक पत्थर फेंका गया था जिससे उनकी नाक की हड्डी टूट गई थी।

30 अक्तूबर 1984 की दोपहर इंदिरा गांधी ने जो चुनावी भाषण दिया, उसे हमेशा की तरह उनके सूचना सलाहकार एचवाई शारदा प्रसाद ने तैयार किया था। लेकिन अचानक उन्होंने तैयार आलेख से अलग होकर बोलना शुरू कर दिया। उनके बोलने का तेवर भी बदल गया।

पढ़ें: इंदिरा गांधी पर साजिश के तहत गिराया गया था तंबू, जानें उस चुनावी सभा की बैठक का राज

Most Viewed

मिस वर्ल्ड 2017: मानुषी छिल्लर से जुड़ी वे बातें जो आप भी जानना चाहेंगे

who is Miss World 2017 Manushi Chhillar unknown facts
  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

बर्थ-डे स्पेशल: जब 1971 में 'आयरन लेडी' इंदिरा ने पाक को घुटनों पर था टिकाया

Iron Lady and former prime minister Indira Gandhi 100th birth anniversary
  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

बर्फ से ढका कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड, देखिए तस्वीरें

Jammu-Kashmir, himachal pradesh and uttarakhand experienced heavy snowfall, change climate
  • शनिवार, 18 नवंबर 2017
  • +

Also View

इंदिरा गांधी पर साजिश के तहत गिराया गया था तंबू, जानें उस चुनावी सभा की बैठक का राज

Special on the death anniversary of Indira Gandhi
  • बुधवार, 1 नवंबर 2017
  • +

पूर्व PM इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि आज, मनमोहन- राहुल ने दी श्रद्धांजलि

rahul gandhi and manmohan singh pays tribute to former pm indira gandhi on her death anniversary
  • मंगलवार, 31 अक्टूबर 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!