आपका शहर Close

खाना पचाने में ऐसे सहयोग करता है अग्नाशय

ऊर्जा डेस्क, अमर उजाला

Updated Tue, 14 Nov 2017 01:34 PM IST
This Is How Pancreas Help In Food Digestion
1 जठराग्नि का स्रोत, भोजन को पकाने-पचाने वाली पाचन ग्रंथि, पेंक्रियाज को ही 'अग्नाशय' कहते हैं। यह छोटी आंत से घिरा रहता है।
2 पेंक्रियाज दो तरह के रस स्रावित करता है- पाचक रस व पावक रस। पाचक (अग्नि) रस (पेंक्रियाटिक जूस) पेंक्रियाटिक डक्ट में स्रावित होता है और पावक रस सीधा रक्त में। पाचक रस बनाने वाले ग्लैंड्स होते हैं, जिनका मुंह डक्ट में खुलता है, जबकि पावक रस (इंसुलिन आदि) विशिष्ट कोशिकाओं के छोटे-छोटे आईलेट्स से सीधा रक्त में ही अवशोषित होता है।

3 पाचक रस में स्रावित ट्रिप्सिन, काइमोट्रिप्सिन, लाइपेज व अमाइलेज नामक एंजाइम्स, भोजन में प्रोटीन, वसा व शर्करा को पकाने-पचाने का अहम कार्य करते हैं, इसीलिए इसे 'जठराग्नि' भी कहते हैं। 

4 शरीर में तात्कालिक ऊर्जा ग्लूकोज को जलाकर मिलती है। कोशिकाओं को ग्लूकोज उपलब्धि और उपयोग के लिए इंसुलिन की जरूरत होती है, जो पेंक्रियाज के पावक रस से स्रावित होकर रक्त के माध्यम से संपूर्ण शरीर में पहुंचता है। 

5 पावक रस के अन्य एंजाइम्स ग्लूकोगोन, सोमेटोस्टेटिन सहायक एंजाइम्स होते हैं, जो रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को नियंत्रित करते हैं। इंसुलिन शारीरिक ऊर्जा का स्रोत होती है। इंसुलिन की कमी से ही डायबिटीज होता है।

6  इंसुलिन की अधिकता से (इंसुलिन बनाने वाली आइलेट कोशिकाओं के ट्यूमर के कारण) या अन्य किसी कारण से रक्त में ग्लूकोज की कमी से हाइपोग्लाइसीमिया होता है। हाइपोग्लाइसीमिया के लक्षण गंभीर होते हैं। इसमें रोगी को खूब पसीना आता है, घबराहट होती है, मृत्यु का भय सताने लगता है आदि। यह समस्याएं न हों, इसके लिए आइलेट कोशिकाएं ग्लूकोगोन नामक एंजाइम स्रावित करती हैं, जो ग्लूकोज की कमी होने पर लिवर में संगृहित ग्लाइकोनोजन को ग्लूकोज में बदलकर रक्त में संगृहित कर देता है।

7 मांसाहारियों में पेंक्रियाज का पाचक रस जब सब कुछ पचा जाता है, तो फिर खुद पेंक्रियाज कैसे अछूता रह जाता है? कैसे वह गलने से बच जाता है? प्रोटीन को गलाने वाले एंजाइम्स ट्रिप्सिन और काइमोट्रिप्सिन पेंक्रियाज में ट्रिप्सिनोजन और काइमोट्रिप्सिनोजन नामक असक्रिय फॉर्म से स्रावित होते हैं। आंत में पित्त के संपर्क में आने के बाद ही वे सक्रिय हो पाते हैं।

(ये जानकारी डॉ. गोपाल काबरा ने विशेष बातचीत में दी है)
 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Lifestyle Tips in Hindirelated to health tips, facts, ideas, tasty recipes in Hindi & healthy life style etc. Stay updated with us for all breaking news from Lifestyle and more Hindi News.

Comments

स्पॉटलाइट

महज 14 की उम्र में ये छात्र बन गया प्रोफेसर, ये है सफलता के पीछे की कहानी

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

Bigg Boss 11: बंदगी के ऑडिशन का वीडियो लीक, खोल दिये थे लड़कों से जुड़े पर्सनल सीक्रेट

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

सुष्मिता सेन के मिस यूनिवर्स बनते ही बदला था सपना चौधरी का नाम, मां का खुलासा

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

'दीपिका पादुकोण आज जो भी हैं, इस एक्टर की वजह से हैं'

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

B'Day Spl: 20 साल की सुष्मिता सेन के प्यार में सुसाइड करने चला था ये डायरेक्टर

  • रविवार, 19 नवंबर 2017
  • +

Most Read

हार्ट अटैक से भी ज्यादा खतरनाक है कार्डियक अरेस्ट, जानिए इसके लक्षण

difference between a cardiac arrest and a heart attack
  • गुरुवार, 18 मई 2017
  • +

एक्सरसाइज का सबसे जरूरी नियम जान लें, हमेशा रहेंगे फायदे में

excercise rules- doing yoga before breakfast is more benificial
  • गुरुवार, 4 मई 2017
  • +

एक्ट्रेस सोनाक्षी सिन्हा ने शेयर किया अपना फिटनेस फंडा!

sonakshi sinha shares a fitness funda at instagram
  • सोमवार, 19 जून 2017
  • +

मार्शल आर्ट एक्सपर्ट बन रहे हैं सुशांत सिंह राजपूत, शेयर किया वीडियो

Sushant Singh Rajput sets the new fitness standard for the film industry
  • बुधवार, 17 मई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!