आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

Home ›   Kavya ›   Halchal ›   this the way to submit your creation on amarujala kavya
this the way to submit your creation on amarujala kavya
हलचल

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, ऐसे भेजें अपनी रचनाएं...

  • काव्य डेस्क-अमर उजाला, नई दिल्ली
  • शनिवार, 9 सितंबर 2017
अगर आप अमर उजाला काव्य के विशाल मंच से अपनी रचना पाठकों तक पहुंचाना चाहते हैं, तो इसकी एक बेहद सरल प्रक्रिया है। जिसके ज़रिए आप अपनी रचना भेज सकते हैं। पाठकों को अपनी रचना अमर उजाला काव्य की साइट पर ख़ुद जाकर फ़ाइल करनी है। साइट पर आपको एक 'रचना भेजिए' बॉक्स नज़र आएगा। जिस पर आपको क्लिक करना है। इसके बाद फ़ेसबुक या जीमेल प्रोफ़ाइल से ख़ुद को अमर उजाला के साथ एक बार रजिस्टर्ड करना होगा। 

एक बार रजिस्टर्ड होने के बाद एक फ़ॉर्म आपके सामने खुल जाएगा। जिसमें आपको रचना से संबंधित डिटेल सबमिट करनी है। सबसे पहले आपको इंग्लिश टाइटल लिखना है। उसके बाद रचना का हिंदी टाइटल। फिर अगले स्टेप में आपको अपनी रचना एड करनी है। इसके बाद आपको सिलेक्ट पिक्चर ऑपशन में रचना को परिभाषित करने वाले एक फोटो का चयन करना है।

फिर जिस कैटेगरी में आप रचना भेजना चाहते हैं, दी हुई कैटेगरी में से उसे सिलेक्ट करें। वहीं, कविता-ग़ज़ल और नज़्म लिखने वालों को 'मेरे अल्फ़ाज़' कैटेगरी सिलेक्ट करना है। यह आख़िरी स्टेप है। इसके बाद आपको अपनी रचना सबिमट करनी है। कृप्या अपनी रचना हिंदी में ही भेजें, ताकि अमर उजाला काव्य टीम को उसे प्रकाशित करने में सहूलियत हो। 

रचना सबमिट होते ही संदेश हमें मेल के माध्यम से प्राप्त हो जाएगा। अमर उजाला की टीम आपकी रचना को एडिट करके उसे पब्लिश कर देगी। पब्लिश होते ही वह रचना अमर उजाला के काव्य पेज पर 'मेरे अल्फ़ाज़' सेक्शन में दिखने लगेगी। इस तरह आप काव्य प्रेमी पाठकों को बीच पहुंच जाएंगे।

अमर उजाला काव्य दिन-ब-दिन लोगो के दिलों में जगह बना रहा है। अमर उजाला काव्य का यह मंच कविता-ग़ज़ल लिखने वालों सहित अन्य क़लमकारों को सुनहरा मौक़ा दे रहा है। काव्य की इस वेबसाइट में कई तरह की कैटेगरी में लिखने के लिए पाठकों को आमंत्रित किया जा रहा है। अमर उजाला का यह विशाल मंच काव्य के शौक़ीन लोगों के लिए तो नया अनुभव है ही, वहीं नए रचनाकारों के लिए भी रचना संसार में अपना मुक़ाम बनाने में अहम साबित होगा। अपनी रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें। 
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
progressive hindi poet shayar tashna almi passes away in lucknow
हलचल

फ़िल्म फेस्टिवल में 'नाच लौंडा नाच'

  • काव्य डेस्क, नई दिल्ली
  • बुधवार, 20 सितंबर 2017
हलचल

बीकानेर के देशनोक में अन्तरराष्ट्रीय कवि सम्मेलन

  • काव्य डेस्क, नई दिल्ली
  • मंगलवार, 19 सितंबर 2017
अन्य
Top
Your Story has been saved!