आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

मोदी कैबिनेट का VIP कल्चर को झटका, 1 मई से लालबत्ती बंद, किसी को छूट नहीं

amarujala.com- Presented by: अजय कुमार सिंह

Updated Wed, 19 Apr 2017 07:20 PM IST
Central Govt ministers and officials will not use red beacons on cars from 1st May

फाइल फोटो

मोदी कैबिनेट ने लाल बत्ती पर पाबंदी लगा दी है। ये फैसला एक मई से लागू होगा। VVIP कल्चर समाप्त करने के लिए ये कदम उठाए गए हैं। इसके दायरे में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश और मुख्यमंत्री समेत सभी शामिल हैं। किसी को छूट नहीं है। 
कैबिनेट की इस बैठक के बाद पत्रकारों से मुखातिब होते हुए अरुण जेटली ने फैसलों पर विस्तार से बात की। जेटली ने बताया कि सरकार 16 लाख से ज्यादा वीवीपीएटी मशीनें खरीदेगी। कैबिनेट ने 3,000 करोड़ रुपए नई ईवीएम मशीनों की खरीद को मंजूरी दे दी है। यह निर्णय विपक्षी दलों द्वारा लगातार ईवीएम मशीन पर संदेह और भविष्य में होने वाले चुनावों में वीवीपीएटी मशीन के इस्तेमाल की मांग पर लिया गया है।

बता दें कि चुनाव आयोग 2014 से अबतक 11 बार सरकार को वीवीपीटी मशीनों के लिए कह चुका था। वहीं पिछले साल मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने पत्र  लिखकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से वीवीपीएटी मशीनों के लिए फंड जारी करने के लिए लिखा था 

इसके अलावा सरकार ने कैबिनेट के उस फैसले पर भी बात की जिसमें सरकार के मंत्रियों की गाड़ियों से लाल बत्ती हटवाने की बात कही। 

ये भी पढ़ें-VVIP कल्चर को नजरअंदाज कर शेख हसीना को लेने पहुंचे मोदी
अभी तक मापदंडों के मुताबिक, केन्द्र में 32 कैबिनेट मंत्रियों और कुछ अन्य लोगों के गाड़ियों पर लाल बत्ती लगाने की अनुमति दी जाती है, जो कैबिनेट मंत्री के पद के बराबर माने जाते हैं। वहीं राज्यों में मंत्रियों की संख्या इससे अधिक होती है। बताया जा रहा है कि सड़क परिवहन मंत्रालय ने वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों के साथ परामर्श लेने के बाद पीएमओ के लिए तीन विकल्प भेजे थे। उनमें से एक विकल्प लाल बत्तियों के इस्तेमाल को समाप्त करना था। सूत्रों मुताबिक यह प्रस्ताव डेढ़ साल से ज्यादा के लिए लंबित है।

ये भी पढ़ें-पंजाब में लाल बत्ती का इस्तेमाल हुआ गैरकानूनी, VIP कल्चर खत्म करने पर मुहर
गौरतलब है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने सबसे पहले इस कल्चर को समाप्त किया था। उसके बाद पंजाब में अमरिंदर सिंह के सरकार बनने के बाद ये फैसला लिया गया। हाल ही में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रियों के लाल बत्ती पर रोक लगा दी थी।
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

अधूरी रह गई विनोद खन्ना की आखिरी ख्वाहिश...

  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

बाहुबली ने बॉक्स ऑफिस में रचा इतिहास, खान तिकड़ी के ये रहे कमाई के रिकॉर्ड?

  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

इस मंदिर में पुरुषों का प्रवेश है निषेध, जानें कैसे कर पाते हैं पूजा

  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

अपडेटेड रेंज रोवर अगले साल तक होगी लॉन्च

  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

कन्या राशि वालों के लिए भाग्यशाली रहेगा आज का दिन, पढ़ें राशिफल

  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

Most Read

तीन तलाक पर पीएम बोले- मुस्लिम समाज से ही इसके खिलाफ सामने आएंगे लोग

PM modi addresses on basava jayanti in vigyan bhawan
  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

छोटा शकील बोला-दाऊद इब्राहिम फिट

dawood ibrahim critical in karachi pakistan after heart attack said media reports
  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

गूगल के CEO सुंदर पिचाई को पिछले साल मिला 13 अरब का बोनस

google gives aroung 13 billions compensation to CEO Sunder pichai
  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

'आम कैदी' हुईं शशिकला, 15 दिनों में मिलने पहुंचे सिर्फ 3 लोग

sources says V. K. Sasikala met only three visitors in the jail in till 15 April 
  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +

'योगी स्टाइल में हो बाल, नॉनवेज लाने की न करें गलती'

CBSE affiliated school in Meerut tells students to get ‘Yogi Adityanath haircut’
  • शुक्रवार, 28 अप्रैल 2017
  • +

जस्टिस कर्णन का आदेश, चीफ जस्टिस सहित 7 जजों की विदेश यात्रा हो बैन

Justice C S Karnan orders ban CJI and seven SC judges from travelling abroad
  • शनिवार, 29 अप्रैल 2017
  • +
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!
Top