आपका शहर Close

चंडीगढ़+

जम्मू

दिल्ली-एनसीआर +

देहरादून

लखनऊ

शिमला

जयपुर

उत्तर प्रदेश +

उत्तराखंड +

जम्मू और कश्मीर +

दिल्ली +

पंजाब +

हरियाणा +

हिमाचल प्रदेश +

राजस्थान +

छत्तीसगढ़

झारखण्ड

बिहार

मध्य प्रदेश

सरकार का इनकार, पुराने नोट बदलने का ‘एक और मौका’ नहीं मिलेगा

amarujala.com- Presented By- मोहित

Updated Mon, 17 Jul 2017 09:16 PM IST
Cannot Allow One Last Window For Deposit Demonetised Notes, Centre Tells Supreme Court
केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा है कि वह 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को जमा करने का ‘एक और मौका’ देने के पक्ष में नहीं है। ऐसा करने से कालेधन पर काबू पाने के लिए की गई नोटबंदी का मकसद ही बेकार हो जाएगा। मौका देने से इसका दुरुपयोग किया जाएगा। बेनामी लेनदेन और नोट जमा कराने में किसी दूसरे व्यक्ति का इस्तेमाल करने के मामले सामने आएंगे। सरकार को यह पता लगाने में परेशानी होगी कि कौन सही है और कौन गलत।
सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में सरकार ने कहा कि कालेधन पर लगाम लगाने के लिए 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने का निर्णय लिया गया था। नोटबंदी के बाद लोगों को पुराने नोटों को बदलने का पर्याप्त समय दिया गया लिहाजा लोगों को और मौका नहीं दिया जा सकता। केंद्र के इस हलफनामे पर सुप्रीम कोर्ट मंगलवार को विचार करेगा।

पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कहा था अगर कोई व्यक्ति यह साबित करता हो कि उसके पास वैध तरीके से कमाई गई रकम है तो उस व्यक्ति को नोट जमा करने से कैसे महरूम रखा जा सकता है। पीठ ने यह भी कहा था कि अगर किसी व्यक्ति के पास तय समय में पुराने नोटों को जमा नहीं करा पाने का वाजिब कारण हो तो उसे अपने कारणों को बताने का मौका मिलना चाहिए। ऐसे लोगों को पुराने नोटों को जमा कराने का मौका मिलना चाहिए। अदालत ने सरकार से पूछा था कि क्या ऐसे लोगों को मौका मिल सकता है। पीठ ने यह भी कहा कि हमने इस मामले का इसलिए परीक्षण करने का निर्णय लिया था कि बूढ़ी घरेलू महिला सहित अन्य याचिकाकर्ता वास्तव में सरकार के निर्णय से प्रभावित हुए हैं।

अप्रैल में भी मौका देने पर जताया था एतराज....
गत अप्रैल महीने में भी केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर कहा था कि नोटबंदी के बाद पुराने नोटों को जमा करने की मिली छूट का बड़े पैमाने पर दुरुपयोग हुआ। यही कारण है कि 30 दिसंबर के बाद 500 और 1000 रुपये के नोटों को जमा नहीं करने का निर्णय लिया गया। बड़े पैमाने पर दुरुपयोग होने के कारण ही सरकार को अध्यादेश लाने की जरूरत पड़ी। अध्यादेश के जरिए तमाम पुरानी अधिसूचनाओं को अप्रभावी बनाया गया। इसमें वह अधिसूचना भी शामिल थी जिसमें 31 मार्च 2017 तक पुराने नोटों को बदलने की बात कही गई थी। 
  • कैसा लगा
Write a Comment | View Comments

स्पॉटलाइट

क्या आपने देखा है अमीषा का ये ‘रेड अलर्ट’ फोटोशूट

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

गैस्ट्रिक की समस्या से छुटकारा दिलाएगा गजब का ये आसन

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

सोते समय अगर मुंह से बहती है लार तो ये उपाय दिलाएंगे छुटकारा

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

मिलिए नेपाल के सुपरस्टार से जिसकी हर फिल्म होती है ब्लॉकबस्टर, लेता है मोटी फीस

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

अब नहीं करनी पड़ेगी डाइटिंग..ये 5 तरीके चंद दिनों में घटाएंगे वजन

  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

Most Read

मुकेश अंबानी दो दिन बाद दे सकते हैं फ्री Jio ब्रॉडबैंड, 500 में 4G फोन और DTH

reliance jio launch its dth service on 21 july, 4g feature phone at 500 rupees also to be unveiled
  • बुधवार, 19 जुलाई 2017
  • +

फॉर्च्यून की 500 में से 40% कंपनियां एशिया की, रिलायंस-टाटा भी शामिल

40% of Fortune 500 companies Asia, Reliance and Tata also in list
  • शनिवार, 22 जुलाई 2017
  • +

GST: आज से महंगी हो जाएगी सिगरेट

 Cigarette will become expensive from 12 o'clock tonight
  • मंगलवार, 18 जुलाई 2017
  • +

सरकार का इनकार, पुराने नोट बदलने का ‘एक और मौका’ नहीं मिलेगा

Cannot Allow One Last Window For Deposit Demonetised Notes, Centre Tells Supreme Court
  • सोमवार, 17 जुलाई 2017
  • +

अब छोटे शहरों में भी 'उड़ान' भरेगा इंडिगो, देश के इस हिस्से से होगी शुरुआत

Indigo soon to start flight services to small towns and cities under udaan scheme
  • मंगलवार, 18 जुलाई 2017
  • +

मोबाइल में कैरी कर सकेंगे आधार कार्ड, लांच हुआ आधार ऐप

uidai launches aadhaar app for andriod users, can carry aadhaar profile on mobile
  • बुधवार, 19 जुलाई 2017
  • +
Top
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper
Your Story has been saved!