रास्ते के विवाद में मारपीट, छह लोग घायल हुए

Home›   City & states›   Six people injured in road dispute

ब्यूरो/अमर उजाला सिद्धार्थनगर

Six people injured in road dispute

भनवापुर। त्रिलोकपुर थाना क्षेत्र के महतिनिया खुर्द गांव में बुधवार को रास्ते के निर्माण को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई। मौके पर पहुंचे आसपास के लोगों के बीच-बचाव के बाद मामला शांत हुआ। इसमें आधा दर्जन लोग घायल हो गए। दोनों पक्षों की तहरीर पर प्रधान सहित 20 लोगों के खिलाफ मारपीट, बलवा व अन्य धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। क्षेत्र के महतिनिया के ग्राम प्रधान जगदीश शुक्ल घर के सामने से रास्त बनवा रहे थे। जिस पर गांव के ही समसुद्दीन ने डुमारियागंज न्यायालय में स्टे होने की बात कहकर रोकने लगा। जबकि, ग्राम प्रधान ने जमीन को बैनामा करवाने की बात कहकर मिट्टी डालने लगे। जिस पर दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। इसमें छह लोग लोग घायल हो गए। इसी बीच किसी ने घटना की जानकारी 100 नंबर पर दे दी। सूचना पर पीआरवी 1521 और एसओ त्रिलोकपुर देवेंद्र कुमार मिश्र मय फोर्स मौके पर पहुंच गए। समझा-बुझाकर मामले को शांत करवाया और घायलों को उपचार के लिए अस्पताल भिजवाया। इसके बाद विवादित भूमि की पैमाइश कराने के लिए दोनों पक्षों से कहा था। इसके बाद गुरुवार को नायब तहसीलदार डुमरियागंज लालता प्रसाद पांच लेखपालों की टीम लेकर गांव पहुंचे और भूमि की पैमाइश की। रिपोर्ट आने के बाद आगे की करवाई होने की बात कही। पैमाइश टीम पहुंचने से पहले ही प्रधान पक्ष के लोग रास्ते को मिट्टी से पाट चुके थे। इस संबंध में एसओ देंवेद्र कुमार मिश्र ने कहा कि प्रधान पक्ष से तहरीर जगराम पुत्र नंदू ने दी है। जिस पर 10 लोगों के खिलाफ मारपीट सहित एससी-एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। दूसरे पक्ष के समसुद्दीन की तहरीर  प्रधान सहित 10 लोगों के खिलाफ बलवा व अन्य धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। भूमि की पैमाइश हो गई है, एसडीएम की रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। हालत सामान्य है।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

एक्स ब्वॉयफ्रेंड ने देखी अनुष्‍का की हनीमून फोटो, फिर तुरंत दिया कुछ ऐसा रिएक्‍शन

विराट-अनुष्का की शादी में एक मेहमान का खर्च था 1 करोड़, पूरी शादी का खर्च सुन दिमाग हिल जाएगा

अनुष्‍का-विराट की हनीमून फोटो पर 1 घंटे में 9 लाख से ज्यादा लाइक, तेजी से हो रही वायरल

रायन के माली ने खोला बहुत बड़ा राज, हत्या के वक्त आसपास भी नहीं था बस कंडक्टर

संसद परिसर में हुआ कुछ ऐसा कि आडवाणी के लिए भीड़ से बाहर आए राहुल और पकड़ लिया उनका हाथ

चश्मदीद की जुबानी, प्रद्युम्न की हत्या वाले दिन की कहानी