शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

यूपी की 12 सीटों पर भाजपा की प्रचंड जीत के पीछे इनकी थी सबसे अहम भूमिका, एक-एक वोट पर ऐसे थी पकड़

यूपी डेस्क, अमर उजाला, कानपुर Updated Sat, 25 May 2019 04:18 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी - फोटो : पीटीआई
भाजपा की जीत में संगठन की रणनीति ने सभी पार्टियों को चकमा दे दिया। लंबे समय से पार्टी की रीढ़ कही जाने वाले 33 हजार से अधिक पन्ना प्रमुखों ने इस बार फिर से कमाल दिखाया। लोकसभा चुनाव की घोषणा के पहले से ही पार्टी ने बूथ स्तर पर पन्ना प्रमुखों की टीम तैयार कर दी थी।

इसी वजह से भाजपा लोकसभा क्षेत्र के हर घर तक अपनी पहुंच बना सकी। वे शांतिपूर्ण तरीके से वोट बैंक में इजाफा करते रहे। इसका नतीजा सामने है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी की अप्रत्याशित जीत के बाद अपने पहले संबोधन में पन्ना प्रमुखों की भूमिका को सराहा है।

 
विज्ञापन

जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने बताया कि पन्ना प्रमुख भाजपा की रीढ़ हैं

नरेंद्र मोदी, अमित शाह (फाइल फोटो) - फोटो : सोशल मीडिया
पन्ना प्रमुख भाजपा के सबसे निचले पायदान के सबसे प्रमुख कार्यकर्ता माने जाते हैं। बूथ स्तर पर इनकी नियुक्ति की जाती है। बूथ अध्यक्षों के निर्देशन में पन्ना प्रमुख कार्य करते हैं, लेकिन पार्टी स्तर पर चुनाव के समय इनकी भूमिका विशेष हो जाती है। जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने बताया कि पन्ना प्रमुख भाजपा की रीढ़ हैं।

एक बूथ पर 21 पन्ना प्रमुख तैनात
भाजपा की रणनीति के हिसाब से एक बूथ पर 21 पन्ना प्रमुख की नियुक्ति की जाती है। इस तरह महानगर लोकसभा की बात करें तो यहां 1600 बूथ पर 33,600 पन्ना प्रमुखों ने गली-गली के हर घर-परिवार तक अपनी पहुंच बनाई। 

 

उन बीस मतदाताओं से जुड़े पूरे परिवार की जिम्मेदारी उस क्षेत्र के पन्ना प्रमुख की होती

नरेंद्र मोदी-अमित शाह (फाइल फोटो) - फोटो : PTI
ऐसे काम करते हैं पन्ना प्रमुख
एक बूथ के क्षेत्र में जितने घर होते हैं, पन्ना प्रमुखों में घर के हिसाब से जिम्मेदारी बांट दी जाती है। जैसे वोटर लिस्ट के एक पन्ने में एक से लेकर बीस मतदाताओं के नाम हैं। उन बीस मतदाताओं से जुड़े पूरे परिवार की जिम्मेदारी उस क्षेत्र के पन्ना प्रमुख की होती है।

क्योंकि वोटर लिस्ट का एक पन्ना उसके नाम होता है, इसलिए उसे पन्ना प्रमुख कहते हैं। प्रत्येक पन्ना प्रमुख का काम होता है, उसके हिस्से में आने वाले सभी मतदाताओं के परिवारों से बार-बार मुलाकात करना, पार्टी की नीतियों से अवगत कराना। उन्हें वोटिंग के दौरान बूथ तक ले आना, वोट डलवाकर वापस घर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी होती है।
विज्ञापन

Recommended

2019 lok sabha results 2019 lok sabha election 2019 election result lok sabha election 2019 result 2019 lok sabha result lok sabha election result date lok sabha election date 2019 2019 lok sabha election results result of lok sabha election 2019 result of 2019 lok sabha election when is lok sabha election result 2019 when is the result of lok sabha election 2019 लोकसभा चुनाव रिजल्ट

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।