विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

#9Pm9Minute: दीपों की जगमग रोशनी के साथ एकजुट नजर आए कानपुर सहित आसपास के जिले, देखें तस्वीरें

दुनियाभर में फैले कोरोना वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रविवार रात 9 बजे 9 मिनट तक लाइटें बंद करने की अपील का लोगों ने खुले दिल से समर्थन किया।

5 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

फर्रूखाबाद

सोमवार, 6 अप्रैल 2020

निजामुद्दीन में टैक्सी चलाने वाले युवक सहित दो को कराया आईसोलेट

कायमगंज (फर्रुखाबाद)। दिल्ली के निजामुद्दीन के आसपास टैक्सी चलाने वाले युवक को पुलिस ने सर्विलांस से ट्रेस कर पकड़ लिया। उसके दोस्त व उसे फ्लू कैंप में ले जाकर जांच कराई और शाम तीन बजे तक आइसोलेशन वार्ड में रखकर दोनों को गांव में ही क्वारंटीन प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए प्रधान की सुपुर्दगी में दिया है। उसके 13 दोस्तों की भी पुलिस तलाश कर रही है।
क्षेत्र के गांव जौरा निवासी 22 वर्षीय युवक दिल्ली के निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के आसपास टैक्सी चलाता था। 17 मार्च को वह अपने दोस्तों के साथ गांव चला आया। निजामुद्दीनपुर स्टेशन के पास ही तब्लीगी जमात का मरकज है। जमात में शामिल कई लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। वहां से आए हर व्यक्ति की पुलिस खोजबीन कर रही है। दिल्ली के खुफिया विभाग से पुलिस को मिले मोबाइल नंबरों को सर्विलांस पर लगाया। इसके बाद शुक्रवार रात गांव जौरा निवासी युवक को पुलिस ने सर्विलांस से ट्रेस कर लिया। एसपी डॉ. अनिल मिश्रा ने इंस्पेक्टर विनय राय को टैक्सी चालक की सूचना दी। पुलिस ने टैक्सी चालक व उसके गांव के ही 22 वर्षीय दोस्त को पकड़ लिया। दोनों को एलवाई डिग्री कालेज के स्पेशल फ्लू कैंप में भेजा। टैक्सी चालक ने दिल्ली से साथ आए अपने 13 दोस्तों के भी नाम बताए हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। वह घर नहीं मिले। टैक्सी चालक उसके दोस्त की फ्लू कैंप में ड्यूटी पर तैनात डॉ. मनीष रस्तोगी, डॉ. संजेश, डॉ. पीके शर्मा ने जांच की और आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया। डॉक्टर के मुताबिक उनमें कोरोना संदिग्ध के कोई लक्षण नहीं मिले हैं। करीब 3 बजे कैंप प्रभारी कानूनगो सतेंद्र कटियार व व्यवस्थापक डॉ. विकास शर्मा ने दोनों को ग्राम प्रधान के सुपुर्द कर दिया और उन्हें गांव में क्वारंटीन सेंटर में रखने के लिए कहा है। इंस्पेक्टर विनय राय ने बताया कि एसपी के निर्देश पर टैक्सी चालक व उसके दोस्त को लाया गया था। उसके दोस्तों की जांच कराने के लिए उनकी तलाश की जा रही है।
दिल्ली से भेजे गए मोबाइल नबंरों की कराई गई जांच
फर्रुखाबाद। निजामुद्दीन के जमातियों की तलाश में दिल्ली पुलिस ने जिले की सर्विलांस टीम को ऐसे तीन मोबाइल नंबर भेजे थे। जो निजामुद्दीन मरकज या उसके आसपास की रेंज में आए थे। सर्विलांस की टीम ने उन मोबाइल नंबर के धारकों पुलिस की मदद से धरपकड़ शुरू की। तो पता चला कि वह जमाती नहीं हैं। उन सभी की दिल्ली व जिले में जांच हो चुकी है। सर्विलांस के प्रभारी सुरेश ने बताया कि कुल तीन मोबाइल नंबर दिल्ली पुलिस ने भेजे थे। उनकी जांच कर ली गई है। वह जमाती नहीं थे और दिल्ली के अलावा उनकी जिले में भी मेडिकल जांच हो चुकी है।
... और पढ़ें

एंबुलेंस व 6 वेंटीलेटर सहित 70 लाख के उपकरणों की होगी खरीद

फर्रुखाबाद। कोरोना वायरस से निपटने के लिए सांसद व चारो विधायकों ने अपनी निधि से स्वास्थ्य विभाग को 1.45 करोड़ दिए हैं। शनिवार को स्वास्थ्य सुविधाओं संबंधी उपकरणों की खरीद के लिए कमेटी की बैठक हुई। इसमें एंबुलेंस व 6 वेंटीलेटर सहित करीब 70 लाख के उपकरण खरीदने का प्रस्ताव बनाकर खरीद की तैयारी शुरू कर दी गई है।
सांसद मुकेश राजपूत ने अपनी निधि से स्वास्थ्य विभाग को 80 लाख रुपये दिए हैं। विधायक मेजर सुनील दत्त द्विवेदी ने 20 लाख, जबकि नागेंद्र सिंह राठौर, सुशील शाक्य व अमर सिंह खटीक ने विधायक निधि से 15-15 लाख दिए हैं। विधायक व सांसद निधि की एक करोड़ 45 लाख रुपये से स्वास्थ्य संबंधी उपकरणों की खरीद होनी है। मुख्य विकास अधिकारी डा. राजेंद्र पैंसिया ने अपने आवास पर सीएमओ डा. चंद्रशेखर, संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य आरके सिंह, एसीएमओ डा. दलवीर सिंह, डा. प्रज्ञा मिश्रा व सीएमएस के साथ बैठक की। इसमें एक एंबुलेंस, 6 वेंटीलेटर, दो हजार एन-95 मास्क, एक थर्मल स्कैनर, एक हजार पीपी (पर्सनल प्रोटेक्शन) किट की शीघ्र खरीद करने का सहमति बनी। सीडीओ ने बताया कि करीब 70 लाख रुपये के स्वास्थ्य संबंधी उपकरणों की दो-तीन दिन में खरीद कर ली जाएगी।
सांसद निधि से मास्क व सैनिटाइजर पहुंचे
फर्रुखाबाद। कोरोना वायरस की रोकथाम को सांसद निधि से लोगों को वितरण करने के लिए मास्क व सैनिटाइजर की आपूर्ति स्वास्थ्य विभाग में पहुंच गई। इसमें करीब पांच लाख रुपये से 200 मिली के 5000 सैनिटाइजर की खरीद हुई। जबकि 50 हजार मास्क थ्री लेयर व दो हजार एन-95 मास्क करीब 12 लाख रुपये से खरीदे गए हैं। स्टोर से मिली जानकारी के अनुसार सांसद निधि से 100 गद्दा, 100 पैकेट ब्लीचिंग पाउडर आदि सहित करीब 15 लाख रुपये की सामग्री खरीदी गई है।
... और पढ़ें

यूपी: मां की मौत के नौ दिन बाद बेटे ने भी तोड़ा दम, कोरोना के शक में दफन शव को पुलिस ने निकलवाया

फर्रुखाबाद में मोहल्ला नितगंजा दक्षिण निवासी अवधेश श्रीवास्तव के नौ वर्षीय पुत्र सुमित की शुक्रवार रात तबियत खराब हुई और शनिवार सुबह उसकी मौत हो गई। परिजनों ने पांचालघाट पर गंगा किनारे गड्ढा खोदकर उसके शव को दफना दिया।

इससे पहले 26 मार्च को सुमित की मां सुधा (45) की भी अचानक मौत हो गई थी। उनका अंतिम संस्कार भी हो गया था। किसी व्यक्ति ने शनिवार दोपहर फोन पर जिलाधिकारी को सूचना देकर सुमित की मौत कोरोना से होने का शक जताया।

इसके बाद डीएम के आदेश पर सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सिटी, सीएमओ व कोतवाली पुलिस परिजनों को लेकर पांचालघाट पहुंची और दफनाए गए सुमित के शव को निकलवाया। मौत की वजह जानने के लिए अब सुमित के शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा।
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में सीने में गोली लगने से वकील की मौत

कायमगंज (फर्रुखाबाद)। कोतवाली क्षेत्र में रविवार की सुबह संदिग्ध हालात में वकील की सीने में गोली लगने से मौत हो गई। वकील के पैर के पास बारह बोर का तमंचा भी मिला है, जिसमें खोखा फंसा हुआ था। पुलिस का कहना है कि जिस चारपाई पर वकील सोये थे, वहीं पर सुसाइड नोट मिला है, जिसमें आत्महत्या करने की बात तो कही गई, लेकिन वजह नहीं बताई। पुलिस का कहना है कि परिजनों ने भी कोई आरोप नहीं लगाए और न ही खुदकुशी करने की वजह बताई है।
जौरा गांव निवासी बृजेश कुमार कश्यप (35) पुत्र सरनाम सिंह मुंसिफ कोर्ट में वकालत करते थे और अधिवक्ता संघ के सदस्य भी थे। परिजनों ने बताया कि शनिवार की रात बृजेश खाना खाने के बाद बरामदे में सोये थे। रविवार को तड़के करीब तीन बजे उनके बड़े भाई प्रमोद सब्जी की आढ़त में चले गए, जबकि दूसरे भाई दिनेश अपने परिवार के साथ घर पर ही थे। बृजेश के पिता दूसरे घर पर थे। सुबह पांच बजे प्रमोद की पत्नी नारायणी भी मार्निंग वाक को चली गईं। पुलिस ने बताया कि जिस वक्त नारायणी मार्निंग वॉक को जा रही थी, उस वक्त बृजेश लघुशंका गए थे। सुबह 6 बजे जब वापस आईं तो बृजेश जमीन पर लहूलुहान पड़े थे और उनके पैरों के पास एक तमंचा भी पड़ा था। वकील की मौत की सूचना पर सीओ राजवीर सिंह गौर व इंस्पेक्टर विनय राय पहुंचे और तमंचा कब्जे में लिया।
पुलिस ने बताया कि सुसाइड नोट में बृजेश ने खुदकुशी के लिए किसी संबंधी या परिवार वाले को परेशान न करने की बात कही है। पुलिस ने मौके पर पहुंचे बृजेश के साथी वकीलों से राइटिंग की पुष्टि कराई तो दस्तखत उन्हीं के होने की बात कही गई। वकीलों ने पुलिस को बताया कि तीन अप्रैल को बृजेश ने अपनी एक फेसबुक पोस्ट में आत्महत्या की ओर इशारा किया था। परिजनों से पूछताछ में भी जान देने की वजह स्पष्ट नहीं हुई। भाभी नारायणी ने बताया कि 10 साल पहले अनबन के बाद बृजेश की पत्नी अपने मायके चली गईं थीं और पांच साल पहले दोनों में तलाक हो गया था। बृजेश का 11 साल का बेटा अपनी मां के पास रहता है। इंस्पेक्टर ने बताया कि मामला आत्महत्या का लग रहा है, फिर भी जांच की जाएगी।
... और पढ़ें
धिवक्ता व्रृजेश का फाइल फोटो। संवाद धिवक्ता व्रृजेश का फाइल फोटो। संवाद

1.30 लाख किसानों के खातों में पहुंची सम्मान निधि

फर्रुखाबाद। कोरोना वायरस के लॉकडाउन के चलते केंद्र सरकार ने वित्तीय वर्ष के प्रथम सप्ताह में किसान सम्मान निधि की पहली किस्त भेज दी है। जिले के एक लाख 30 हजार किसानों के खातों में सम्मान निधि की धनराशि पहुंच गई है।
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के लिए जनपद में एक लाख 95 हजार किसानों का डाटा फीड कर केंद्र सरकार के पोर्टल पर भेजा जा चुका है। इनमें एक लाख 30 हजार किसानों के खाते में किस्त के दो हजार रुपये शनिवार को भेज दिए गए। कृषि उपनिदेशक प्रसार राजकुमार ने बताया कि कुल एक लाख 78 हजार किसानों के खाते में पहली किस्त पहुंचेगी।
पहली शिफ्ट में एक लाख 30 हजार खातों में धनराशि हस्तांतरित की गई। दूसरी शिफ्ट में 48 हजार किसानों के खातों में दो हजार डाले जाएंगे। उन्होंने बताया कि कुल एक लाख 95 हजार किसानों का डाटा फीड कर भेजा गया है। इनमें 17 हजार किसानों को पहली किस्त के लिए कुछ इंतजार करना पड़ सकता है।
... और पढ़ें

दिए जलाकर कोरोना पर विजय का संकल्प

फर्रुखाबाद। कोरोना वायरस के संक्रमण की चेन तोड़ने को चल रहे लॉकडाउन में हर कोई घरों में रह रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर रविवार रात नौ बजे हर किसी ने दीपक जलाकर एकजुटता का संदेश दिया। साथ ही कोराना पर विजय का संकल्प लिया गया।
कोरोना वायरस पर विजय पाने के लिए देश का हर नागरिक मन, वचन और कर्म से जंग लड़ने को तैयार है। प्रधानमंत्री के आह्वान पर रविवार सुबह से ही लोगों ने दिए जलाने की तैयारी शुरू कर दी। बाजार व दुकानों पर किसी ने मोमबत्ती खरीदीं तो किसी ने मिट्टी के दिए। रात के नौ बजे से पहले ही लोग घरों की छतों पर पहुंच गए और दिए व मोमबत्ती जगह-जगह लगा दीं। नौ बजते ही लोगों ने घरों की लाइट बंद कर दी और बालकनी, छज्जों व दरवाजों पर दिए जलाने लगे। बिल्कुल दीवाली जैसा नजारा दिखने लगा। दिए जलाकर लोगों ने कोरोना पर विजय पाने का संकल्प लिया। इसके अलावा कसबों व ग्रामीण क्षेत्रों में भी खूब दिए जलाए गए।
कमालगंज प्रतिनिधि के अनुसार ज्योतिषाचार्य प्रदीप योगी का कहना है कि प्रधानमंत्री ने इस महामारी पर विजय पाने के लिए प्रकाशोत्सव का समय ऐसा चुना जो अद्भुत संयोग वाला और अत्यधिक फलदायी है। प्रदोष काल में वृश्चिक लग्न में अनंत दीपक जलने से शिवतत्व की उत्पत्ति कोरोना के प्रकोप को हतोत्साहित करने वाली है। इस प्रदोष को मदन द्वादशी व अनंग द्वादशी भी कहा जाता है।
... और पढ़ें

लोहिया के हाल देखकर डीएम बोले अजब गजब है सीएमओ व सीएमएस की माया

फर्रुखाबाद। लोहिया अस्पताल में बना आइसोलेशन वार्ड राम भरोसे चल रहा है। न तो डाक्टर का पता है ना ही मरीजों की जांच करने वालों का। बाहर से आने वाले लोग जांच कराने के लिए इधर-उधर भटक रहे हैं उन्हें कोई देखने वाला तक नहीं है। रविवार को अचानक लोहिया अस्पताल पहुंचे जिलाधिकारी को यह नजारा दिखाई पड़ा तो उनका पारा सातवें आसमान पर पहुंच गया। डीएम ने सीएमओ व एसीएमओ से कहा कि अजब गजब है आपकी माया।
डीएम मानवेंद्र सिंह व एसपी डॉ. अनिल मिश्रा, एडीएम विवेक श्रीवास्तव, एएसपी त्रिभुवन सिंह, सीएमओ चंद्रशेखर रविवार दोपहर लोहिया अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड की हकीकत देखने पहुंचे। डीएम एक आइसोलेशन वार्ड में घुसे वहां राजेपुर के गांव तुषौर निवासी एक ग्रामीण भर्ती था। उस वार्ड के अन्य तीन मरीज बाहर घूम रहे थे। मौके पर कोई डाक्टर नहीं था। नर्स ने आकर डीएम को मरीज के बारे मेें जानकारी दी। इस पर डीएम ने सीएमओ से कहा कि यह सब क्या है।
कोई डाक्टर तक मौजूद नहीं है, जबकि उनके आने के बारे में लोहिया अस्पताल के सीएमएस को जानकारी दे दी गई थी। जब सूचना के बाद यह हाल है तो बाद में लोहिया अस्पताल का हाल रामभरोसे होता होगा। कुछ देर बाद आए सीएमएस डॉ. अशोक कुमार की डीएम ने फटकार लगाई। डॉ. मेघा सक्सेना ड्यूटी से नदारद थीं। डीएम के बुलाने पर वह बीस मिनट बाद मौके पर पहुंचीं। डीएम ने कहा कि क्या लखनऊ से आ रही थीं जो इतना समय लग गया। तुषौर के मरीज को कैसे भर्ती किया।
इसके बारे मेेें मेघा सक्सेना कोई सटीक जानकारी नहीं दे पाईं। दूसरे वार्ड में शहर कोतवाली के शिव नगर के तीन लोग भर्ती थे। जो कि दिल्ली से पैदल अपने घर आए थे। पूछने पर इन लोगों ने डीएम को बताया कि मोहल्ले के लोग बाद में शिकायत करते इसलिए खुद अस्पताल में जांच कराने के लिए भर्ती हुए हैं। इस पर डीएम ने सीएमएस व सीएमओ से पूछा किस आधार पर इन लोगों को भर्ती कराया गया है। इस पर डॉ. मेघा सक्सेना ने बताया कि इमरजेंसी से इनको भेजा गया। इसलिए भर्ती कर लिया गया है। कुल पांच लोग भर्ती हैं। इनमें चार के सैंपल भेजे जाने हैं। इस डीएम ने नाराजगी जताई कि आखिर बिना थर्मल स्कैनिंग के इन लोगों को कैसे भर्ती कर लिया गया है। डीएम ने झल्लाकर कहा कि सीएमओ व सीएमएस की अजब गजब माया है। सीएमओ से कहा कि सोमवार की मीटिंग में सीएमएस को साथ लेकर आना, वहीं पर बात करेंगे।
... और पढ़ें

संदिग्ध युवक के लेटने पर छाया गृह में पतेल डाल लगाई आग

लोहिया अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में डाक्टर से जानकारी लेते डीएम व एसपी। संवाद

जिला पंचायतीराज विभाग ने दिए 8.48 लाख रुपये

फर्रुखाबाद। कोरोना वायरस के लॉकडाउन में गरीबों की मदद को जिला पंचायती राज विभाग की ओर से मुख्यमंत्री राहत कोष में आठ लाख 48 हजार 382 रुपये जमा किए गए हैं। विभागीय अधिकारी व कर्मचारियों ने अपना एक दिन का वेतन सीधे ट्रेजरी से ही कटवा दिया।
डीपीआरओ अमित कुमार त्यागी की अगुवाई में जिला पंचायती राज विभाग एडीओ, ग्राम पंचायत अधिकारी व सफाई कर्मियों सहित 1021 कर्मचारियों ने ट्रेजरी से एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में कटवा दिया। वहीं स्वच्छ भारत मिशन के 25 कर्मचारियों ने 10248 रुपये का अंशदान मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया।
जिला कृषि उपनिदेशक राजकुमार ने बताया कि निर्देश मिलने से पहले कर्मचारियों का वेतन उनके खातों में पहुंच गया था। मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए अंशदान एकत्र कर विभाग की ओर से जमा किया जाएगा। जिला विकास अधिकारी दुर्गादत्त शुक्ला ने बताया कि कर्मचारी स्वेच्छा से अंशदान जमा करेंगे। कुछ कर्मचारी एक दिन के वेतन से अधिक धनराशि राहत कोष में जमा करने की बात कह रहे हैं।
... और पढ़ें

पुलिस ने दिखाई सख्ती, तब घर से क्वारंटीन सेंटर पहुंचे

राजेपुर। दिल्ली, देहरादून और महाराष्ट्र से आए लोग क्वारंटीन सेंटर में जाने के बजाए घरों में ही हैं। इनको बुलाए जाने पर यह लोग स्वास्थ्य टीम और प्रधान से अभद्रता करते हैं। इसकी शिकायत पर एसडीएम ने पुलिस के साथ सख्ती दिखाई और छह लोगों को घर से निकाल कर क्वारंटीन सेंटर पर लेकर पहुंचे। अभी भी छह लोग घरों में हैं। उनको विद्यालय न आने पर कार्रवाई किए जाने की चेतावनी दी है।
गांव हमीरपुर सोमवंशी में करीब 27 ग्रामीण अन्य राज्यों से गांव में आए हैं। इसमें से 15 लोग क्वारंटीन सेंटर पर ठहरे हैं। 12 लोग अपने घरों में हैं। रविवार को क्वारंटीन सेंटर पर डॉ. पुनीत टीम के साथ स्वास्थ्य परीक्षण करने गए। इसी दौरान एसडीएम बृजेंद्र कुमार, एसओ जयंती प्रसाद गंगवार पुलिस बल के साथ विद्यालय पहुंचे।
प्रधान अवनीश कुमार ने एसडीएम से कहा कि 12 लोग गांव में अपने घरों में हैं। उनको जब स्वास्थ्य टीम के साथ बुलाने जाते हैं तो वह अभद्रता करते हैं और घर से नहीं निकल रहे हैं। यह सुनकर एसडीएम पुलिस के साथ गांव में गए और 12 लोगों में से छह लोगों को घर से बाहर निकाला। विरोध करने पर पुलिस ने लाठी भी फटकारी।
तब छह लोग क्वारंटीन सेंटर पर पहुंचे। एसडीएम ने बताया छह लोग अभी घर से विद्यालय में नहीं आए हैं। अगर वह विद्यालय नहीं आते हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। डॉ. पुनीत ने बताया कि 21 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया है।
प्रधान और सचिव पर लटकी तलवार
अमृतपुर। गांव लभेड़ा में अन्य राज्यों से करीब 29 लोग आए हैं। इनको ठहराने के लिए प्राथमिक विद्यालय को क्वारंटीन सेंटर बनाया गया है। प्रधान और सचिव इन लोगों को विद्यालय में बुलाकर नहीं लाए। इससे सभी लोग अपने घरों में हैं। खंड शिक्षा अधिकारी रमेश चंद्र जौहर ने मुख्य विकास अधिकारी को रिपोर्ट भेजी है। इसमें प्रधान और सचिव पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाकर कार्रवाई किए जाने की संस्तुति की है।
... और पढ़ें

संदिग्ध हालात में विवाहिता की मौत, दहेज हत्या की रिपोर्ट

संकिसा। मेरापुर थानाक्षेत्र के गांव अछरौड़ा में संदिग्ध हालात में विवाहिता की मौत हो गई। विवाहिता के पिता ने दहेज के लिए बेटी की हत्या कर शव फंदे पर लटकाने का आरोप लगाया है। पुलिस ने विवाहिता के पति, ससुर और सास के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है।
कमालगंज थानाक्षेत्र के गांव नगला जोध निवासी सर्वेश कुमार ने पुत्री कीर्ति (19) की शादी 9 फरवरी 2020 को मेरापुर थानाक्षेत्र के गांव अछरौड़ा निवासी बृजमोहन शर्मा के पुत्र अजीत शर्मा उर्फ लालू के साथ की थी। शनिवार रात सर्वेश कुमार को पुत्री की मौत होने की जानकारी मिली। वह पुत्र गौरव शर्मा व परिवार के अन्य लोगों के साथ रविवार को गांव अछरौड़ा पहुंचे।
पुत्री का शव देखकर पिता और भाई रोने बिलखने लगे। सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भेज दिया। कीर्ति के भाई गौरव शर्मा ने ससुरालीजनों पर दहेज की मांग पूरी न होने पर हत्या कर बहन का शव फंदे पर लटकाने का आरोप लगाया। भाई ने बताया कि पांच लाख रुपये बहन की शादी में खर्च किए थे। ससुरालीजन और दहेज की मांग को लेकर बहन के साथ आए दिन मारपीट करते थे।
बहन को बिजली का करंट भी लगाया था। पिता सर्वेश की तहरीर पर पुलिस ने कीर्ति के पति अजीत, ससुर बृजमोहन व सास रन्नो दवी के खिलाफ दहेज हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर ली है। बृजमोहन ने बताया कि पुत्र अजीत भिवानी में प्राइवेट नौकरी करता है। लॉकडाउन होने पर बहू कीर्ति ने पुत्र को फोन कर घर आने के लिए कई बार कहा, तब पुत्र घर आया था। पुत्र और पुत्रवधू में कभी कोई विवाद नहीं हुआ। शनिवार शाम को पुत्र के साथ वह खेत पर था। जब घर आए तो कमरे में बहू कीर्ति का शव फंदे पर लटका था। थानाध्यक्ष आरके रावत ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

सफाई कर्मी से मारपीट का आरोप लगाकर निकाला जुलूस

फर्रुखाबाद। नगर पालिका का एक सफाई कर्मी शनिवार शाम ड्यूटी करके घर जा रहा था। इसी दौरान पक्के पुल पर किसी सिपाही ने उसके साथ अभद्रता कर दी।
उसने सूचना सफाई कर्मचारी संगठन के पदाधिकारियों को दी। रविवार सुबह दस बजे 40-50 कर्मचारी कोटा पार्चा मोहल्ले में एकत्रित हुए। अखिल भारतीय सफाई मजदूर महासंघ के मंडल अध्यक्ष नीरज वाल्मीकि, जिलाध्यक्ष हरिओम वाल्मीकि के नेतृत्व में कर्मचारी नारेबाजी करते हुए पक्के पुल तक पहुंचे। वहां ड्यूटी कर रहे तिकोना चौकी प्रभारी दीपक त्रिवेदी ने कर्मचारियों को वहां रोक लिया।
उन्होंने कर्मचारी नेताओं से वार्ता करने के लिए बुलाया। चार कर्मचारी नेताओं से वार्ता की। इस दौरान अन्य कर्मचारियों को ड्यूटी पर भेज दिया गया।
चौकी प्रभारी ने पीड़ित कर्मचारी से सिपाहियों की शिनाख्त कराई, मगर उनमें से कोई नहीं था। चौकी प्रभारी ने आश्वासन दिया कि उनकी चौकी का कोई सिपाही ऐसा नहीं कर सकता। यदि ऐसा हुआ है, तो वह हर हाल में कार्रवाई कराएंगे। इस पर कर्मचारी नेता संतुष्ट होकर चले गए।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us