वित्तीय अनियमितता में सचिव निलंबित

Home›   City & states›   Secretary suspended in financial irregularities

आजमगढ़/ब्यूरो, अमर उजाला

Secretary suspended in financial irregularities

रानी की सराय। विकास खंड रानी की सराय के कस्बा स्थित सहकारी समिति के सचिव को वित्तीय अनियमितता के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। सचिव का चार्ज सहायक विकास अधिकारी मनोज यादव को सौंपा गया है।   रानी की सराय स्थित सोसायटी परिसर के पुराने भवन में बैंक का संचालन हो रहा था। बैंक की बिल्डिंग जर्जर होने के कारण इसे दोबारा बनाने का निर्णय लिया गया। इसके निर्माण का जिम्मा सहकारी संघ के सचिव चंद्रपति यादव पर था। नए भवन के ऊपरी हिस्से में बैंक संचालन के लिए और नीचे दूकानें बनाई गई। आरोप है कि सचिव ने दूकानों को फर्जी तरीके से आवंटन कर दिया। साथ ही भवन और दूकान के निर्माण का हिसाब भी बोर्ड को नहीं सौंपा। दूकान आवंटन में मिली धनराशि को संघ के नहीं अपने निजी खातों में जमा करता था। वही सहकारी संघ के खाते से तीन लाख रुपये खाद के बिक्री के नाम निकाला गया। लेकिन खाते में धनराशि नहीं जमा की गई। परिसर में चल रहे बैंक को भी सचिव ने एक व्यक्ति के नाम आंवटित कर दिया। सहकारी संघ के अध्यक्ष दयानंद सिंह ने इसकी शिकायत पत्र के जरिए सहायक आयुक्त एवं सहायक निबंबधक सहकारिता रामकिंकर से की थी। उन्होंने अपर जिला सहकारी अधिकारी मेंहनगर सुनील कुमार पांडेय और अपर जिला सहकारी अधिकारी राधेश्याम सिंह से इसकी जांच कराई। जांच में आरोप सही मिलने पर उन्होंनेे सचिव को निलंबित कर सहायक विकास अधिकारी सहकारी मनोज यादव को सचिव की जिम्मेदारी सौंप दी। सहायक विकास अधिकारी मनोज यादव ने बताया कि अभी जांच चल रही है, इसके बाद ही मामले का पता चलेगा।
Share this article
Tags: azamgarh news , suspend , finance , irregulations , secretary , secretary suspend ,

Most Popular

एक्स ब्वॉयफ्रेंड ने देखी अनुष्‍का की हनीमून फोटो, फिर तुरंत दिया कुछ ऐसा रिएक्‍शन

विराट-अनुष्का की शादी में एक मेहमान का खर्च था 1 करोड़, पूरी शादी का खर्च सुन दिमाग हिल जाएगा

अनुष्‍का-विराट की हनीमून फोटो पर 1 घंटे में 9 लाख से ज्यादा लाइक, तेजी से हो रही वायरल

रायन के माली ने खोला बहुत बड़ा राज, हत्या के वक्त आसपास भी नहीं था बस कंडक्टर

संसद परिसर में हुआ कुछ ऐसा कि आडवाणी के लिए भीड़ से बाहर आए राहुल और पकड़ लिया उनका हाथ

चश्मदीद की जुबानी, प्रद्युम्न की हत्या वाले दिन की कहानी