शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

आवाज दबाने का प्रयास किया तो दो महीने बाद देंगे जवाब

आगरा ब्यूरो Updated Wed, 12 Sep 2018 11:46 PM IST
वृंदावन (मथुरा)। एससी-एसटी एक्ट के विरोध को लेकर सभा करने गए भागवताचार्य देवकीनंदन ठाकुर को आगरा में हिरासत में लिए जाने पर पंडा सभा में आक्रोश है। वहीं, देवकीनंदन ठाकुर ने बुधवार को शंकराचार्य स्वरूपानंद का आशीष लिया। उन्होंने कहा कि वह सवर्ण समाज की आवाज को दबने नहीं देंगे। शासन-प्रशासन यदि जबरन उनकी आवाज को दबाने का प्रयास करेगा तो वह 2 महीने बाद अपना जवाब देंगे।
बुधवार को गोविंद मंदिर क्षेत्र में पंडा सभा ने बैठक की। ताराचंद्र गोस्वामी ने कहा कि भाजपा शासन आज हिटलरशाही पर उतर आया है।
पूर्व सभासद गोविंद शर्मा ने कहा कि सवर्ण समाज के स्वाभिमान व अधिकारों का दमन करने वाले इस कानून का विरोध कर रहे लोगों को जबरन पुलिस केस में फंसाने के प्रयास किए जा रहे हैं। यह निंदनीय है। बैठक में बाबा जनार्दन स्वामी, सुनील गौतम, लोकेश शर्मा, छोटेलाल, पवन शर्मा, डा. महेंद्र सिंह, गोपाल गौड़, पंकज शर्मा, बाबूलाल, सुरेश उपस्थित थे।

दूसरी ओर अपनी विदेश यात्रा पर जाने से पूर्व देवकीनंदन ठाकुर ने दोपहर 1 बजे उड़िया बाबा आश्रम पहुंचकर शंकराचार्य स्वरूपानंद से मुलाकात कर उनका आशीर्वाद लिया। उन्होंने एससी-एसटी एक्ट का विरोध अखंड इंडिया मिशन के बैनर तले देशभर में किए जाने की बात शंकराचार्य को बताई।
विज्ञापन

Recommended

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Related Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।