शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

कुछ अलग ही था इन अफसर का अंदाज, विश्वास जीतकर फैलाया नेटवर्क, गलती पर माफी मांगकर हैरत में डाला

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Fri, 19 Jul 2019 04:30 PM IST
1 of 5
पीपीएस हबीबुल हसन - फोटो : amar ujala
लखनऊ पुलिस का इतिहास कई रोमांचक किस्सों और जांबाजी से भरा हुआ है। यहां के अनेक पुलिस अफसर अपने काम से सुर्खियों में रहे और नागरिकों का विश्वास जीता। इनमें हबीबुल हसन की अलग पहचान है। कवि होने के नाते बातचीत में मधुरता और इंसानियत से उन्होंने लोगों का विश्वास जीतकर पूरे जिले में नेटवर्क फैलाया। राजधानी में पुलिस उपाधीक्षक और अपर पुलिस अधीक्षक के पद पर लंबी तैनाती रही। 
विज्ञापन

2 of 5
पीपीएस हबीबुल हसन - फोटो : amar ujala
करीब 15 साल पहले सीओ बाजार खाला के पद पर तैनाती के दौरान हबीबुल हसन की बातचीत के लखनवी अंदाज से लोग उनसे जुड़ने लगे। अपराधियों पर कार्रवाई के वक्त सख्त पुलिस अफसर और कवि होने के नाते नागरिकों से बातचीत में मधुरता उनकी पहचान बनने लगी। कुछ ही दिनों में लोग बेझिझक गोपनीय सूचना देने लगे। पारा क्षेत्र से लापता युवक की तलाश में पुलिस हार मान चुकी थी। नागरिकों से सीधे जुड़े हबीबुल हसन को पता चला कि युवक की हत्या कर शव दफनाने के बाद उस पर कमरे का निर्माण कराया जा चुका है। मजिस्ट्रेट से अनुमति लेकर मौके पर पहुंचे। फर्श तोड़कर गड्ढा खोदा गया तो युवक का कंकाल मिला।

3 of 5
पीपीएस हबीबुल हसन - फोटो : amar ujala
इस खुलासे से आला अफसर उनके नेटवर्क की सराहना करने लगे। बाजार खाला में फोटोग्राफर की गला रेतकर हत्या के चंद घंटे में आरोपियों की गिरफ्तारी से चर्चित हुए। माज हत्याकांड में क्राइम ब्रांच के निरीक्षक संजय राय को सलाखों के पीछे भेजने में अहम भूमिका निभाई। निवेशकों के पांच सौ करोड़ हड़पने के आरोपी मैग्नम इंफ्रा कंपनी के संचालकों पर 72 मुकदमे दर्ज कराने के साथ विवेचना पर सीधी नजर रखी। आरोपियों से साठगांठ किए पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की। उससे मिलकर खेद जताने की ठानी, लेकिन कुछ दिनों बाद तबादला हो गया।

4 of 5
पीपीएस हबीबुल हसन - फोटो : amar ujala
गलती पर माफी मांगकर हैरत में डाला
पुराने शहर में दो पक्षों के बीच बवाल से कानून व्यवस्था छिन्नभिन्न होती देख हबीबुल हसन ने पुलिस व पीएसी को साथ लेकर धरपकड़ शुरू की। पता चला कि एक परिवार के बच्चों के कारण बवाल हुआ। गुस्साए हबीबुल हसन ने बच्चों के पिता को हिरासत में लेकर काफी कुछ कह डाला। हालात सामान्य होने पर हबीबुल हसन को बच्चों के पिता से किया गया व्यवहार कचोटता रहा।

5 of 5
पीपीएस हबीबुल हसन - फोटो : amar ujala
राजधानी में दोबारा तैनाती होने पर उन्होंने उस व्यक्ति को ढूंढ निकाला। अनेक लोगों की मौजूदगी में सामना होते ही हबीबुल हसन ने हाथ जोड़कर माफी मांगी। अपमान को भुला चुका व्यक्ति हैरत में था। रो पड़ा। बात फैलते ही हर वर्ग के लोग हबीबुल हसन की इंसानियत की सराहना करने लगे।
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।