शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

जब माखन लाल चतुर्वेदी पर नाराज हो गए राजर्षि टंडन , जानें- पूरा मामला

अखिलेश वाजपेयी/अमर उजाला, लखनऊ Updated Thu, 18 Jul 2019 04:20 PM IST
राजर्षि दास टंडन - फोटो : अमर उजाला
राजर्षि पुरुषोत्तम दास टंडन हिंदी को सम्मानजनक स्थान दिलाने के लिए प्रयासरत थे। हिंदी उनके लिए जीवन-मरण का प्रश्न था। वह हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए लगातार काम कर रहे थे। हिंदी साहित्य सम्मेलन के जरिये वह इस काम को आगे बढ़ा रहे थे।

इसके लिए उन्होंने कई लोगों को सम्मेलन के साथ जोड़ा। सभी को पता है कि उन्हें सिद्धांतों से समझौता किसी भी कीमत पर पसंद नहीं था। कोई बात यदि उनकी नीति के विरुद्ध हुई तो वह उसका प्रबल विरोध करने से भी संकोच नहीं करते थे।

भले ही सामने वाले व्यक्ति का कद कितना भी बड़ा क्यों न हो। वह हिंदी को प्रतिष्ठित करने के लिए लोगों के पास आर्थिक मदद लेने जाया करते थे। उमाशंकर दीक्षित का संस्मरण है, ‘एक बार हिंदी साहित्य सम्मेलन के लिए धन एकत्र करने के उद्देश्य से राजर्षि टंडन मुंबई चले गए।

उनके साथ मैं भी था और मेरे अलावा श्रीमती लीलावती मुंशी और माखनलाल चतुर्वेदी भी थे। एक दिन हम लोग प्रसिद्ध उद्योगपति रामनाथ पोद्दार के पास गए। माखनलाल चतुर्वेदी ने उनसे आर्थिक सहयोग मांगा। चतुर्वेदी जी ने जितना सहयोग मांगा पोद्दार साहब ने कहा, ‘मैं इतना दे सकता हूं।’
विज्ञापन

जब टंडन जी को बड़ी मुश्किल से किया शांत

दोनों के धन में कुछ अंतर था। बातचीत के दौरान रामनाथ जी की एक बात सुनकर माखनलाल जी ने कहा, ‘मदद लेना है तो दोष क्या देखना।’ चतुर्वेदी जी का इतना कहना था कि राजर्षि टंडन बिगड़ गए। बोले, ‘क्या कहा। हम अर्थ प्राप्ति के लिए कोई भी दोषपूर्ण काम करने को तैयार हैं? मुझे यह स्वीकार नहीं।

हिंदी का प्रतिष्ठित करना है, लेकिन दोषपूर्ण तरीके से सहायता लेकर नहीं।’ बड़ी मुश्किल से हम लोगों ने टंडन जी को शांत किया। चतुर्वेदी जी ने भी अपने शब्द वापस लिए और पोद्दार जी ने भी टंडन से आर्थिक सहयोग लेने का आग्रह किया। उन्होंने सहयोग के रूप में जो धन दिया उसे लेकर चले आए।
विज्ञापन

Recommended

akhilesh vajpayee rajshree tandoa makhan lal chaturvedi lucknow news

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।