शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

अपहरण के छह साल बाद कब्र से मिले अगवा युवक के कपड़े-बेल्ट, कातिलों पर सख्त कार्रवाई की मांग

न्यूज डेस्क/अमर उजाला, लखनऊ Updated Tue, 21 May 2019 04:30 PM IST
लालजी (फाइल फोटो) - फोटो : अमर उजाला
सीबीसीआईडी की टीम ने सोमवार को मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में लखनऊ के चिनहट क्षेत्र में कब्र खोदवा कर छह साल पहले अगवा युवक के कपड़े व बेल्ट बरामद की है। अपहृत युवक की तलाश में पुलिस की लापरवाही पर परिवारीजनों के प्रदर्शन व शिकायतों पर विवेचना सीबीसीआईडी को सौंपी गई थी।

चिनहट के तिवारीगंज निवासी लालजी रावत के 2 जनवरी 2013 को अपहरण की विवेचना कर रहे सीबीसीआईडी के सेक्टर अफसर डॉ. कृष्ण गोपाल ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में इंदिरा नहर के माइनर इमली बांध बाबा के पास जेसीबी से खोदाई शुरू कराई।

पांच फीट गहरा गड्ढा खोदने पर लालजी के कपड़े, स्वेटर, बेल्ट आदि बरामद हुई। उसे सील करके चिनहट कोतवाली के मालखाना में सुरक्षित रखा गया। कपड़े व बेल्ट की पहचान करने के साथ परिवारीजन रोने लगे। उन्होंने कातिलों पर सख्त कार्रवाई की मांग की। 
विज्ञापन

सीबीसीआईडी को सौंपी गई थी विवेचना

मालूम हो कि 25 वर्षीय लालजी दो जनवरी 2013 को मजदूरी करके लौटा और उसके बाद लापता हो गया। पुलिस ने कई दिन टालमटोल के बाद गुमशुदगी दर्ज की। लालजी की तलाश में भटक रहे भाई राकेश कुमार रावत ने गांव के ही गुड्डू सिंह, दीपू, छंगा व चंदन पर अपहरण का आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।

पुलिस की टालमटोल पर परिवार ने प्रदर्शन किया। शासन, मानवाधिकार आयोग व पुलिस उच्चाधिकारियों से कार्रवाई मांग की। लालजी का कुछ पता न चलने पर हत्या का अंदेशा जताया। इस पर अपहरण व दलित उत्पीड़न की प्राथमिकी दर्ज करके तफ्तीश गोमतीनगर के तत्कालीन क्षेत्राधिकारी विद्यासागर मिश्र को सौंपी गई।

राकेश का आरोप है कि विवेचक ने अपहृत की तलाश के बजाय उसे ही जेल भेजने की धमकी देकर भगा दिया। परिवार के लंबे संघर्ष के बाद विवेचना सीबीसीआईडी को सौंपी गई थी। 
विज्ञापन

Recommended

crime in lucknow lucknow police uttar pradesh police kidnapping

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।