शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

फ्लाईओवर बनाने को काटे गए पेड़ देखकर मन दुखी हुआ और ले लिया संकल्प, 500 पौधे लगा डाले

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Fri, 14 Jun 2019 01:45 PM IST
सुमीर भाटिया - फोटो : अमर उजाला
8वीं के छात्र सुमीर भाटिया के जज्बे को सलाम कीजिए, जिसने चंडीगढ़ में 500 से अधिक पेड़ लगाकर पर्यावरण बचाने के लिए मिसाल कायम की है। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़-जीरकपुर फ्लाईओवर बनाने के लिए काटे गए पेड़ों की सूचना से काफी दुखी हैं। अखबार के जरिये यह बात पता चली तो उसी दिन से ठान लिया कि पेड़ लगाएंगे।
विज्ञापन
सुमीर ने कहा, उन्होंने अपनेआप से सवाल किया कि हमारे लिए अधिक जरूरी क्या है, टिकाऊ पर्यावरण या हरे-भरे पर्यावरण की कीमत पर होने वाला विकास निश्चित रूप से पर्यावरण संरक्षण की कीमत पर इस तरह के विकास को तरजीह नहीं मिलनी चाहिए। सुमीर ने हरियाली को सुधारने की दिशा में एक छोटे से कदम के माध्यम से योगदान करने का निश्चय किया।

वह चंडीगढ़ के आसपास के क्षेत्रों में पंजाब के कई गांवों में गए। पाया कि जिन स्थानों पर बुनियादी ढांचा विकसित करने के लिए वनों की कटाई की गई, वहां भूजल कम हो गया है। सुमीर ने कहा, एक छोटी सी पहल के तहत हमने वृक्षारोपण अभियान चलाया और उन जगहों पर वनों की भरपाई करने के लिए 500 से अधिक नए पेड़ लगाए। इस पहल को दि ट्री बॉक्स नाम दिया है।
विज्ञापन

Recommended

success story environment presentation plantation farming

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।