सुरिंगगाड़ परियोजना मार्च 2018 में पूरी होगी

Home›   City & states›   सुरिंगगाड़ परियोजना मार्च 2018 में पूरी होगी

Haldwani Bureau

पिथौरागढ़। मुनस्यारी तहसील के सुरिंगगाड़ में बन रही लघु जल विद्युत निगम की पांच मेगावाट क्षमता वाली बिजली परियोजना का काम मार्च 2018 में पूरा होने की उम्मीद है। परियोजना से उत्पादित बिजली मुनस्यारी तहसील क्षेत्र को दी जाएगी। परियोजना का लगभग 80 फीसदी काम पूरा हो चुका है। शासन ने सुरिंगगाड़ परियोजना के लिए 40 करोड़ रुपये की राशि मंजूर की है।जून 2013 में आई आपदा के समय सुरिंगगाड़ में स्थित 800 किलोवाट क्षमता वाली बिजली परियोजना पूरी तरह ध्वस्त हो गई थी। बाद में पुरानी परियोजना से थोड़ा हटकर नई परियोजना के निर्माण का फैसला लिया गया और उत्पादन क्षमता बढ़ाने पर भी सहमति बनी। लघु जल विद्युत निगम ने 23 दिसंबर 2015 से सुरिंगगाड़ में नई परियोजना के निर्माण का काम शुरू किया। परियोजना में 2.5 मेगावाट क्षमता वाले दो टरबाइन लगाए जाएंगे। इनसे पांच मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। मुनस्यारी क्षेत्र में जितनी बिजली की जरूरत होगी, उसकी पूर्ति के बाद शेष बिजली ग्रिड को सौंप दी जाएगी।लघु जल विद्युत निगम के उपमहाप्रबंधक जीएस बुदियाल ने बताया कि अब तक परियोजना की नहर के निर्माण का काम पूरा कर लिया गया है। इसके अलावा पावर हाउस के निर्माण का काम शुरू किया गया है, जल्द ही पावर हाउस में टरबाइन स्थापित कर दी जाएगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि परियोजना मार्च से उत्पादन शुरू कर देगी और मुनस्यारी क्षेत्र में बिजली का संकट समाप्त हो जाएगा। इस समय मुनस्यारी को पिथौरागढ़ से ग्रिड की बिजली दी जा रही है। बिजली की लाइन ज्यादा लंबी होने के कारण इसमें अक्सर व्यवधान आता रहता है। सुरिंगगाड़ परियोजना का निर्माण होने पर मुनस्यारी के लोगों को बिजली के संकट से नहीं जूझना पड़ेगा। लघु जल विद्युत निगम परियोजना का निर्माण तेजी से कर रहा है।
Share this article
Tags: ,

Most Popular

शादीशुदा हीरो पर डोरे डाल रही थी ये एक्ट्रेस, पत्नी ने सेट पर सबके सामने मारा चांटा

Bigg Boss 11: आज अर्शी करेंगी इन दो कंटेस्टेंट की किस्मत का फैसला, उल्टी पड़ जाएगी पूरी बाजी

रुला देने वाले हैं मां-बहन की हत्या में पकड़े गए किशोर की जिंदगी के ये 5 सच

पीरियड्स पर सोनम कपूर की तीखी बात, कहा- 'बचपन में दादी ऐसा बोलती थीं'

देशभर के सभी बैंकों में बदल गया ये नियम, पढ़ लें नहीं तो होगी मुसीबत

3 लाख में मारुति बलेनो को बना दिया मर्सिडीज, RTO ने देखा तो कर दी सीज