शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

फेसबुक पर बिछाया ऐसा जाल, 10 राज्यों के 300 युवा बने शिकार, सरगना सहित चार गिरफ्तार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, आगरा Updated Sun, 18 Aug 2019 03:15 PM IST
पुलिस की गिरफ्त में जालसाज - फोटो : अमर उजाला
फेसबुक पर नौकरी का विज्ञापन देकर उत्तर प्रदेश सहित 10 राज्यों के बेरोजगार युवाओं से ठगी करने वाले गिरोह के सरगना सहित चार आरोपियों को आगरा की साइबर क्राइम सेल ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों से बड़ी संख्या में बैंक पासबुक, एटीएम कार्ड, मोबाइल, युवकों के बायोडाटा सहित अन्य सामान बरामद किया है। आरोपी ढाई साल में 300 से अधिक युवाओं से लाखों की ठगी कर चुके हैं।

एसपी सिटी प्रशांत वर्मा ने शनिवार को बताया कि गिरफ्तार आरोपी कुबेरपुर (रहनकलां) निवासी मुकेश, फिरोजाबाद के रामनगर निवासी बालकिशन, ताजगंज स्थित गोविंद नगर कॉलोनी निवासी नोयल जींस और उसकी पत्नी मधु उर्फ जैशमिन है। पुलिस की पूछताछ में पता चला कि मुकेश और बालकिशन ढाई साल से हरिद्वार (उत्तराखंड) में रहकर ठगी का धंधा कर रहे थे। 

दोनों ने फेसबुक पर पब्लिक सेक्टर यूनिट गेल, भेल, एनटीपीसी, बीईएल, एयरपोर्ट इंडिया के एचआर मैनेजर के नाम से आईडी बनाई थीं। उस पर नौकरी का विज्ञापन देते थे। जो लोग संपर्क करते थे, उन्हें एचआर मैनेजर बताते थे। कंपनी में स्थायी नौकरी का प्रलोभन देते थे। दो से तीन लाख रुपये की मांग करते थे। 45 से 60 हजार रुपये मेडिकल और कमीशन के नाम पर एडवांस में लेते थे।
विज्ञापन

उत्तराखंड की कई बैंकों में 15 से अधिक खाते

मुकेश और बालकिशन ने उत्तराखंड के छह से अधिक बैंकों में 15 से अधिक खाते खुलवा रखे थे। यह सभी खाते अपने पुराने आईडी पर खुलवाए थे। जुलाई में दोनों आगरा आ गए। उनकी पहचान मधु उर्फ जैशमिन से थी। 

मुकेश ने उसे लालच देकर गैंग में शामिल कर लिया। उसके पति नोयल जींस की आईडी पर खाते खुलवा लिए। मधु लोगों से बात करने लगी। जो फंस जाता था, उसकी मुकेश से बात कराई जाती थी। दोनों खुद को अधिकारी बताते थे। इसके बाद खाते में रकम जमा करा लेता था।

गैंग ने उत्तर प्रदेश के आगरा, कानपुर, मेरठ, गाजीपुर, बनारस, सहारनपुर, रायबरेली, फतेहपुर, नोएडा आदि जिलों के के अलावा बिहार, दिल्ली, झारखंड, महाराष्ट्र, कन्याकुमारी, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश के तकरीबन 300 से अधिक बेरोजगार युवकों से ठगी की है। पुलिस डायरी में लिखे नाम के आधार पर लोगों से संपर्क कर रही है।

यह हुई बरामदगी

आरोपियों के पास से 200870 रुपये, दस मोबाइल, 24 सिम कार्ड, 18 एटीएम कार्ड, 10 आधार कार्ड, पांच पेन कार्ड, 16 बैंक पासबुक, आठ चेक बुक, पांच ड्राइविंग लाइसेंस, छह वोटर आईडी कार्ड, सात रजिस्टर, 11 पॉकेट डायरी, सोने के आभूषण, दो बाइक, विभिन्न प्रदेश के लोगों के बायोडाटा, शैक्षणिक दस्तावेज मिले हैं। 

छह युवकों ने एसएसपी से की थी शिकायत

ताजगंज निवासी दीपक सोलंकी, कानपुर निवासी अमित कुमार, मेरठ निवासी रोहन नेहरा, फतेहपुर निवासी पूतन सिंह, अमेठी निवासी अतुल कुमार और बिहार निवासी अंकेश कुमार ने एसएसपी बबलू कुमार से पब्लिक सेक्टर यूनिट में सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर 60-60 हजार रुपये ठगी की शिकायत की थी। इस पर थाना ताजगंज में मुकदमा दर्ज किया गया।

अलग नामों से बनाते थे फेसबुक आईडी

आरोपियों की फेसबुक पर आईडी एचआर मैनेजर जैशमिन सिंह गेल इंडिया, एचआर त्रिलोक चंद भेल, किशब बघेल एचआर बीईएल, एचआर सुरेंद्र कांत बीएचईएल, एचआर स्वाति शर्मा एयरपोर्ट इंडिया, एचआर गुलाब सिंह गेल इंडिया, देवेंद्र सिंह एचआर एनटीपीसी, सुरेश चंद गुप्ता एनटीपीसी, बीएम सोलंकी गेल आदि नाम से हैं।
विज्ञापन

Recommended

thugs arrested fraud on name of jobs agra police facebook fraud

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।