ऐप में पढ़ें

पंचायत चुनाव हिमाचल: हमीरपुर जिले में आरक्षण रोस्टर जारी

अमर उजाला नेटवर्क, शिमला/ हमीरपुर Published by: Krishan Singh Updated Tue, 15 Dec 2020 07:01 PM IST
सांकेतिक
सांकेतिक - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन

हिमाचल प्रदेश में पंचायत चुनावों को लेकर तैयारियां तेज हो गई हैं। मंगलवार को जिला निर्वाचन अधिकारी एवं डीसी हमीरपुर देवश्वेता बनिक ने जिला परिषद, पंचायत समिति और प्रधान पद का आरक्षण रोस्टर जारी कर दिया है। जिले की छह पंचायत समितियों में से चार के अध्यक्ष पद का आरक्षण रोस्टर बदला गया है। वहीं, दो पंचायत समितियों में पूर्व की तरह इस बार भी अध्यक्ष पद अनारक्षित है। जिला की छह पंचायत समितियों में से सुजानपुर पंचायत समिति की अध्यक्ष पिछली बार एससी महिला थी और अब महिला होगी। बमसन में पिछली बार अनारक्षित और अब एससी महिला, भोरंज पिछली बार ओबीसी महिला और अब अनारक्षित, बिझड़ी पिछली बार अनारक्षित और अब ओबीसी महिला के लिए आरक्षित है। वहीं, हमीरपुर और नादौन पंचायत समितियों के अध्यक्ष पदों के आरक्षण में बदलाव नहीं किया गया है। यह वर्ष 2015 में भी अनारक्षित थे और अब भी अनारक्षित हैं। 

 यंहा क्लिक कर देखें रोस्टर

नादौन का रोस्टर यहां देखें

पंचायत समिति के पदों का रोस्टर

विज्ञापन

पंचायतों का आरक्षण रोस्टर

जिले के सभी 6 विकास खंडों की ग्राम पंचायतों का आरक्षण रोस्टर जारी कर दिया गया है। उपायुक्त ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। अधिसूचना के अनुसार विभिन्न विकास खंडों की ग्राम पंचायतों में प्रधान के पदों के लिए आरक्षण खंडवार निर्धारित किया गया है। विकास खंड बमसन की कुल 51 में से 19 ग्राम पंचायतों को अनारक्षित रखा गया है। अनारक्षित पंचायतों में ग्राम पंचायत कक्कड़, चंबोह, बधानी, पंजोत, दाड़ी, कंज्याण, बजड़ोह, बारीं, अम्मण, बराड़ा, सिकांदर, नाड़सीं, धरोग, समीरपुर, कैहरवीं, लंबलू, बगवाड़ा, डबरेड़ा और ग्राम पंचायत लग शामिल है। ग्राम पंचायत बजरोल, भेरड़ा, चारियां दी धार, दरब्यार, खनौली, कोट लांगसा, टिक्कर बुहला, गवारडू, बलोह, पौहंज, ढनबान, दिम्मी, डाडू, बोहणी, धलोट, गसोता, बरोहा, भरनांग और ग्राम पंचायत पुरली में प्रधान का पद महिला के लिए आरक्षित रहेगा। ग्राम पंचायत जंदड़ू, भटेड़, टपरे, उटपुर, पटनौण और स्वाहल अनुसूचित जाति के लिए, ग्राम पंचायत ऊहल, बफड़ी, कालेअंब, पंधेड़, चमनेड़, डुग्घा और ग्राम पंचायत सराहकड़, अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित है। विकास खंड भोरंज की कुल 39 में से 11 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद अनारक्षित रखा गया है।

    अनारक्षित में ग्राम पंचायत भकेड़ा, करहा, बडैहर, भौंखर, अमरोह, महल, भुक्कड़, साहन्वीं, मनवीं, पलपल और ग्राम पंचायत भगेटू शामिल है। ग्राम पंचायत कड़ोहता, भोरंज, सधरियाण, अग्घार, नंधन, धमरोल, मुुंडखर, उखली, जाहू, रौंही और ग्राम पंचायत नाहलवीं महिला के लिए आरक्षित है। ग्राम पंचायत हनोह, कक्कड़, टिक्कर डिडवीं, भलवानी और चौकी कनकरी अनुसूचित जाति के लिए, ग्राम पंचायत पट्टा, लुद्दर महादेव, बाहनवीं, खरवाड़, गरसाहड़ और लझियाणी अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित होगी। ग्राम पंचायत धिरड़, पपलाह और ताल अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए, ग्राम पंचायत टिक्करी मिन्हांसा, झरलोग और पांडवीं अन्य पिछड़ा वर्ग की महिला के लिए आरक्षित होगी। विकास खंड हमीरपुर में ग्राम पंचायत दरोगण पति कोट, चंगर, सेर बलौणी, मझोग सुल्तानी, ब्राहलड़ी, दड़ूही, नेरी और जंगलरोपा को अनारिक्षत रखा गया है।

ग्राम पंचायत ललीण, देई दा नौण, नालटी, नारा, अमरोह, ख्याह लुहाखरियां, टिब्बी, बजूरी और अणु महिलाओं के आरक्षित रखी गई। ग्राम पंचायत रोपा, कुठेड़ा और बस्सी झनियारा अनुसूचित जाति के लिए, ग्राम पंचायत धनेड़, मति टीहरा तथा सासन अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित है। ग्राम पंचायत बल्ह को अन्य पिछड़ा वर्ग और ग्राम पंचायत फरनोल अन्य पिछड़ा वर्ग की महिला के लिए आरक्षित रखा गया है। विकास खंड सुजानपुर में ग्राम पंचायत रंगड़, ठाणा धमड़ियाणा, चलोह, स्पाहल, पनोह, लंबरी और ग्राम पंचायत डूहक को अनारक्षित रखा गया है। ग्राम पंचायत री, टीहरा, डेरा, जंगल, बनाल और मनिहाल को महिलाओं के लिए आरक्षित रखा गया है। ग्राम पंचायत जोल को अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए, ग्राम पंचायत बीड़ बगेहड़ा और ग्राम पंचायत चबूतरा अन्य पिछड़ा वर्ग की महिला के लिए आरक्षित है। ग्राम पंचायत पटलांदर, खैरी और बैरी को अनुसूचित जाति के लिए, ग्राम पंचायत करोट, चमियाणा और ग्राम पंचायत दाड़ला को अनुसूचित जाति की महिला के लिए आरक्षित रखा गया है। रोस्टर में फेरबदल और मन मुताबिक रोस्टर न आने से कई प्रतिनिधियों व संभावित प्रत्याशियों की तैयारियां धरी रह गई। 
विज्ञापन

जिले के 18 में से 16 जिप वार्डों का बदल गया आरक्षण, दो इस बार भी अनारक्षित

 जिले के कुल 18 जिला परिषद वार्डों में से 16 वार्डों के आरक्षण रोस्टर में इस बार बदलाव होने से वर्तमान सदस्यों व चुनावी मैदान में उतरने की मंशा पाले लोगों को झटका लगा है। महज दो वार्डों में पूर्व की तरह ही इस बार भी सीट अनारक्षित रही है। इनमें विकास खंड नादौन का लड़हा और विकास खंड बिझड़ी का बणी (दांदड़ू) वार्ड शामिल है। यहां से वर्ष 2015 के चुनाव में भी जिप की सीट अनारक्षित थी और इस बार भी अनारक्षित ही है। यहां के वर्तमान प्रत्याशी को आगामी चुनाव में दोबारा अपनी किस्मत आजमाने का मौका है। वहीं, कई जिप वार्डों से चुनाव में उतरने की मंशा पाले लोगों को झटका लगा है, क्योंकि जिस वार्ड में वह बीते एक या दो साल से चुनाव के लिए मेहनत कर रहे थे, वहां पर इस बार उनके मन मुताबिक आरक्षण नहीं मिला है। इससे ऐसे संभावित प्रत्याशियों को झटका लगा है। 

    वर्ष 2015 में जिप वार्ड एक बगेहड़ा अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित था जो इस बार अनारक्षित हो गया है। वार्ड दो चबूतरा (करोट) पूर्व में महिला, इस बार महिला एससी, वार्ड तीन बारीं (दरोगण पति कोट) पिछली बार अनारक्षित इस बार महिला एससी, चार वार्ड गसोता (धलोट) पिछली बार महिला इस बार एससी, पांच वार्ड जंगलरोपा पिछली बार महिला इस बार एससी, छह वार्ड सराहकड़ (अणू) पिछली बार अनारक्षित इस बार महिला, वार्ड सात समीरपुर (धीरड़) से पहले महिला अब अनारक्षित, आठ वार्ड धमरोल (जाहू) से पहले ओबीसी अब महिला, नौ वार्ड खरवाड़ से पहले महिला अब ओबीसी, 10 वार्ड भोरंज से पहले एससी अब ओबीसी, 11 वार्ड सौर (करेर) से पहले महिला एससी अब अनारक्षित, 12 वार्ड बिझड़ी पहले ओबीसी महिला अब महिला, 13 वार्ड बड़सर पहले एससी अब महिला, 14 वार्ड बणी (दांदड़ू) पहले अनारक्षित इस बार भी अनारक्षित, वार्ड 15 लड़हा पहले भी अनारक्षित और अब भी अनारक्षित, वार्ड 16 धनेटा (मालग) पहले अनारक्षित अब ओबीसी, वार्ड 17 अमलैहड़ (बेला) पहले अनारक्षित अब महिला, वार्ड 18 सपड़ोह (नौहंगी) पहले महिला और अब अनारक्षित रखा गया है। 

एक साल से सक्रिय था व्यक्ति, वार्ड हो गया आरक्षित  
वार्ड चार गसोता (धलोट) से पूर्व में भाजपा पदाधिकारी रहा एक व्यक्ति पिछले एक साल से जिप चुनाव के लिए एक संस्था के बैनर तले जनता के बीच सक्रिय था। इस बार जिप के लिए वार्ड चार से अनुसूचित जाति सीट आरक्षित होने से इस व्यक्ति को भी झटका लगा है। जिप चुनाव के लिए यह नेता वार्ड की 13 पंचायतों में काफी सक्रिय था। कयास लगाए जा रहे हैं कि जिप सीट के लिए ही यह तैयारी थी। बहरहाल वार्ड आरक्षित होने से इस नेता समेत कई अन्य चाहवानों के सपने भी टूटे हैं। 

जिला परिषद चेयरमैन और वाइस चेयरमैन का वार्ड महिला के लिए आरक्षित

जिला परिषद हमीरपुर के विभिन्न वार्डों का आरक्षण रोस्टर जारी कर दिया गया है। उपायुक्त देवश्वेता बनिक की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार परिषद के कुल 18 वार्डों में से 9 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित रखे गए हैं। नए रोस्टर के कारण जिला परिषद के चेयरमैन राकेश ठाकुर और वाइस चेयरमैन चौधरी चंदू लाल का वार्ड महिला के लिए आरक्षित हो गया। अनारक्षित वार्डों में वार्ड नंबर 1 बगेहड़ा, वार्ड नंबर 7 धीरड़, वार्ड नंबर 11 करेर, वार्ड नंबर 14 दांदड़ू, वार्ड नंबर 15 लहड़ा और वार्ड नंबर 18 नौंहगी शामिल है। वार्ड नंबर 6 अणु, वार्ड नंबर 8 जाहू, वार्ड नंबर 12 बिझड़ी, वार्ड नंबर 13 बड़सर और वार्ड नंबर 17 बेला महिलाओं के लिए आरक्षित है।

 वार्ड नंबर 4 धलोट और वार्ड नंबर 5 जंगलरोपा अनुसूचित जाति के लिए रखे गए हैं, जबकि वार्ड नंबर 2 करोट और वार्ड नंबर 3 दरोगणपति कोट अनुसूचित जाति की महिलाओं के लिए आरक्षित रहेंगे। वार्ड नंबर 16 मालग अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए, जबकि वार्ड नंबर 9 खरवाड़ और वार्ड नंबर 10 भोरंज अन्य पिछड़ा वर्ग की महिलाओं के लिए आरक्षित रखा गया है। जिले की 6 ब्लॉक पंचायत समितियों का आरक्षण रोस्टर भी जारी कर दिया गया है। उपायुक्त देवश्वेता बनिक ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। बीडीसी सुजानपुर का अध्यक्ष पद महिला के लिए आरक्षित किया गया है, जबकि बीडीसी अध्यक्ष बमसन का पद अनुसूचित जाति की महिला और बीडीसी अध्यक्ष बिझड़ी का पद अन्य पिछड़ा वर्ग की महिला के लिए आरक्षित होगा। बीडीसी भोरंज, बीडीसी हमीरपुर और बीडीसी नादौन के अध्यक्ष पद अनारक्षित होंगे।

जिला परिषद के 10 वार्डों के नाम बदले
जिला परिषद के 10 वार्डों के नाम में भी परिवर्तन किया गया है। यह परिवर्तन प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशों के तहत किया गया है। सराहकड़ वार्ड का नाम अब अणु, चबूतरा का नाम करोट, समीरपुर का धीरड़, धमरोल का जाहू, सौर का करेर, बणी का दांदडू, धनेटा का मालग, अमलेहड़ का बेला, सपडोह का नौहंगी और गसोता का नया नाम धलोट रखा गया है। जिन पंचायतों की जनसंख्या सबसे अधिक है, उनके नाम पर जिला परिषद के वार्डों का नामकरण हुआ है।
विज्ञापन
विज्ञापन
MORE