शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

चुनाव जीतने के बाद शीला दीक्षित से आशीर्वाद लेने पहुंचे मनोज तिवारी, 3.66 लाख वोटों से दी थी मात

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 25 May 2019 06:24 PM IST
1 of 6
शीला दीक्षित से मिले मनोज तिवारी - फोटो : अमर उजाला
लोकसभा चुनावों में दिल्ली की पूर्व सीएम और उत्तर-पूर्वी दिल्ली से ही अपनी प्रतिद्वंद्वी शीला दीक्षित को करारी शिकस्त देने का बाद आज भाजपा सांसद मनोज तिवारी उनसे मिलने पहुंचे। बता दें कि इस चुनाव में दोनों नेता आमने-सामने थे और दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने उन्हें कुल 3,66,102 वोटों से हराया। आगे जानिए क्यों शीला दीक्षित से मिलने पहुंचे थे मनोज तिवारी...
विज्ञापन

2 of 6
शीला दीक्षित से मिले मनोज तिवारी - फोटो : अमर उजाला
चुनाव परिणाम आने के दो दिन बाद मनोज तिवारी आज शीला दीक्षित के घर पहुंचे और उनसे आशीर्वाद भी लिया। जब उनसे पूछा गया कि वह शीला दीक्षित के घर क्यों गए थे उन्होंने इसके बारे में बताया। मनोज तिवारी ने कहा कि शीला दीक्षित की तबीयत कुछ खराब चल रही है, इसलिए वह उनका हाल जानने उनके घर गए थे। इस बीच दोनों नेताओं की मुलाकात काफी सौहार्दपूर्ण रही।

3 of 6
शीला दीक्षित से मिले मनोज तिवारी - फोटो : अमर उजाला
दिल्ली में कांग्रेस का पूरा कुनबा ढहा
भाजपा की आंधी में कांग्रेस लगातार दूसरी बार लोकसभा चुनावों में चित हो गई। पूरे दमखम के साथ पुराने दिग्गजों को उतारने के बावजूद किसी भी लोकसभा सीट पर कांग्रेस का सिक्का नहीं चला। सभी धुरंधर नेता भाजपा के सामने टिक नहीं पाए और मतगणना केंद्रों से निराश होकर दूसरे व तीसरे राउंड में भी बाहर निकल गए। इस हार से एक बात तो तय हो गई है कि कांग्रेस में अब कई फेरबदल देखने को मिलेंगे, क्योंकि दिल्ली में विधानसभा चुनाव भी होने हैं।

4 of 6
शीला दीक्षित से मिले मनोज तिवारी - फोटो : अमर उजाला
चुनाव के ठीक पूर्व बतौर विकास का चेहरा कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व ने तीन बार की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित पर दांव लगाया, लेकिन वह खुद अपनी सीट नहीं बचा सकी। इसी तरह पैराशूट उम्मीदवार बॉक्सर विजेंद्र कुमार को दक्षिणी दिल्ली संसदीय सीट पर उतारा गया, लेकिन हताशा ही हाथ लगी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का रोड शो भी दोनों प्रत्याशियों के पक्ष में कोई उम्मीद नहीं जगा पाया।

5 of 6
शीला दीक्षित मनोज तिवारी पूर्वी दिल्ली सीट से आमने-सामने - फोटो : सोशल मीडिया
पिछले चुनाव में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष से शिकस्त खा चुके जयप्रकाश अग्रवाल को भी इस बार चांदनी चौक विधानसभा सीट से भाजपा के डॉ. हर्षवर्धन के सामने उतारा गया, लेकिन वह विफल साबित हुए। यही हाल नई दिल्ली संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ने वाले अजय माकन, पूर्वी दिल्ली के प्रत्याशी अरविंदर सिंह लवली, पश्चिमी दिल्ली के प्रत्याशी महाबल मिश्रा जो कांग्रेस के पूर्वांचल चेहरा है और उत्तर-पश्चिम लोकसभा सीट के प्रत्याशी राजेश लिलोठिया का भी रहा।

6 of 6
शीला दीक्षित - फोटो : अमर उजाला
इस हार के बाद अब यह तय हो गया है कि प्रदेश संगठन में भारी फेरबदल होगा क्योंकि संगठन के तौर पर कांग्रेस दिल्ली में बिखर रही है। अगले साल विधानसभा चुनाव भी दिल्ली में होने है। लिहाजा प्रदेश नेतृत्व को भी बदला जा सकता है।
विज्ञापन

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।