विज्ञापन

आसिफ मामूली ड्राइक्लीनर से कैसे बना आशु गुरुदेव, पढ़िए अय्याश बाबा की चौंकाने वाली कहानी 

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 12 Sep 2018 04:07 PM IST
ashu bhai guruji
महिला शिष्या से सालों तक गैंगरेप करने और उसकी बेटी से छेड़छाड़ करने के आरोपों से घिरे बाबा आशु गुरुदेव के जीवन के बारे में कुछ ऐसे चौंकाने वाले खुलासे सामने आए हैं जिसे सुनकर आप भी हैरान रह जाएंगे। ये खुलासे बताते हैं कि मामूली ड्राइक्लीन की दुकान चलाने वाला आसिफ कैसे बन गया दिल्ली में कई आश्रम चलाने वाला आशुभाई गुरुजी....
विज्ञापन

ashu bhai guruji
महिला से दुष्कर्म के आरोप में घिरा बाबा आशु गुरुदेव असल में हिंदू नहीं मुसलमान है। वह अपना नाम बदलकर झूठ का साम्राज्य चला रहा था। आशु गुरुदेव का असली नाम आसिफ खान है। उसके पिता का नाम इधा खान है। बाबा बनने से पहले वह क्या करता था और कैसे उसके मन में बाबा बनने का ख्याल आया उसकी भी एक दिलचस्प कहानी है।

ashu bhai guruji
सालों पहले आसिफ दिल्ली में रोहिणी के पास एक मामूली सी ड्राइक्लीन की दुकान चलाता था। इससे उसका घर बड़ी मुश्किल से चल पाता था। एक दिन उसकी मुलाकात एक बाबा से हो गई। वह उस बाबा से इतना प्रभावित हुआ कि आसिफ ने बाबा से तंत्र विद्या वशीकरण सीखने का निर्णय लिया।

ashu bhai guruji
आसिफ ने उस बाबा से तंत्र मंत्र वशीकरण टोटके आदि सीखा। इसके बाद उसने सोचा कि वह भी बाबा बन जाएगा। लेकिन इसके लिए उसने अपना नाम बदलने का फैसला किया। उसने ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रभावित करने के लिए अपना नाम बदलकर आसिफ से आशु गुरुदेव कर लिया। धीरे-धीरे वह लोगों को अपनी तंत्र विद्या से अपने बातों में बहलाने लगा। लोग उसके झांसे में आते चले गए।

ashu bhai guruji
लेकिन आपको ये जानकर काफी हैरानी होगी कि कैसे उसने कुछ लोगों से अपनी पैठ बड़े वर्ग तक पहुंचा ली।  शुरुआत में तो आशु गुरुदेव खुद अपने नाम के पर्चे गलियों-गलियों और मोहल्लों में जाकर बांटता था। जैसे-जैसे लोग उसके झांसे में फंसते गए उसके यहां अंधभक्तों का तांता बढ़ता गया।

ashu bhai guruji
जब भक्त बढ़े तो पैसा भी बढ़ा। पैसा बढ़ा तो आशु गुरुदेव ने अपना प्रचार पर्चियों के बजाय समाचार पत्रों और टीवी में शुरू कर दिया। टीवी चैनलों के विज्ञापन से यह बाबा ज्यादा मशहूर हो गया और रोहिणी के छोटे आश्रम से शुरू होता इसका गोरखधंधा कई आश्रमों तक जा पहुंचा। बाबा करोड़ों की संपत्ति का मालिक हो गया।

ashu bhai guruji
वह अपने यहां आने वाले लोगों तंत्र-मंत्र और वशीकरण के झांसे में फंसाने लगा। आरोपी बाबा खुद को मां कामाख्या देवी का अनन्य भक्त बताता है। अपने दुखों का इलाज कराने आने वाले किसी को बी यह अंदाजा नहीं था कि यह बाबा लोगों की भावनाओं से खेलेगा और दुष्कर्म जैसे जघन्य कृत्य में भी शामिल होगा।

ashu bhai guruji
बाबा आशु गुरुदेव के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कराने वाली गाजियाबाद की पीड़िता के मंगलवार को कोर्ट में 164 के तहत बयान दर्ज किए गए। अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि महिला अपने बयानों पर टिकी हुई है। महिला ने कोर्ट में वहीं बयान दिए हैं जो बयान उसने एफआईआर करवाते समय दिए थे। पीड़िता की नाबालिग बेटी के बुधवार को बयान हुए। अपराध शाखा के अधिकारी ने बताया कि केस की फाइल मिल गई है और टीम ने मामले की जांच शुरू कर दी है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पीड़ित पक्ष के कोर्ट में बयान होने के बाद आरोपी आशु गुरुदेव व उसके बेटे और दोस्त को बुलाया जाएगा। पुलिस इस मामले में सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रही है। गौरतलब है कि गाजियाबाद की महिला(40) ने आशु गुरुदेव, उसके बेटे व बेटे के दोस्त के खिलाफ हौजखास थाने में मामले में दर्ज कराया था। बाबा आशु का सेक्टर-7, रोहिणी में आश्रम है। दूसरा एक छोटा आश्रम एक्स ब्लाक, हौजखास में है। महिला ने हौजखास थाना पुलिस को दी अपनी शिकायत में कहा था वर्ष 2013 में वह बाबा के रोहिणी स्थित आश्रम में गई थी। वहां उनके मैनेजर ने पीने को शीतल पेय दिया। इसके बाद वह बेहोश हो गई और इसका फायदा उठाकर बाबा व उसके साथी ने उससे दुष्कर्म किया। इसके बाद वर्ष 2016 में बाबा के बेटे व उसके दोस्त ने उसके साथ दुष्कर्म किया। 
विज्ञापन
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।