शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

सात साल से क्लेम के लिए दौड़ा रही थी बीमा कंपनी, हाईकोर्ट सख्त, अब मिलेगा न्याय

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Sat, 20 Jul 2019 08:40 PM IST
Lucknow High Court
लगभग सात साल पहले दुर्घटना में मरे रोडवेज कर्मी की पत्नी को बीमा राशि के लिए आज भी चक्कर काटने पड़ रहे हैं। इस मामले में हाईकोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए बीमा कंपनी के महाप्रबंधक को तलब कर लिया है। साथ ही चेतावनी दी है कि भुगतान व तलबी के आदेश की अनदेखी की गई तो बीमा कंपनी को 50 हजार रुपये जुर्माना भुगतना होगा। जुर्माने की यह रकम याची को देय होगी। 
विज्ञापन
न्यायमूर्ति अजय लांबा व न्यायमूर्ति नरेंद्र कुमार जौहरी की पीठ ने यह आदेश शीला सिंह की याचिका पर दिया। याचिका में कहा गया कि 20 सितंबर 2012 को रोडवेज में काम करने वाले उसके पति बृजभान सिंह की दुर्घटना में मौत हो गई थी। याची ने तभी अपने पति की बीमा राशि के दावे के लिए आवेदन कर दिया था, पर संबंधित कर्मचारी ने इसे आगे नहीं भेजा। मामला परिवहन निगम व बीमा कंपनी के बीच लटके होने की वजह से याची को आज तक बीमा राशि का भुगतान नहीं हो सका। 

इस मामले में कोर्ट ने पूर्व में बीमा कंपनी को नोटिस जारी किया था, लेकिन सुनवाई के समय कंपनी की तरफ से कोई उपस्थित नहीं हुआ। इससे नाराज हाईकोर्ट ने अब बीमा कंपनी के महाप्रबंधक को सुनवाई की अगली तिथि 22 जुलाई को तलब कर लिया है। साथ ही कहा है कि निगम व कंपनी के बीच मामला फंसे होने की वजह से याची का भुगतान लंबित नहीं रखा जा सकता।  
विज्ञापन

Recommended

lucknow news high court lucknow insurance claim insurance company

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।