डेढ़ दशक पहले ने शुरू की थी शौचालय की लड़ाई, केंद्रीय मंत्रालय ने किया आमंत्रित

Home›   City & states›   she was fighting for toilet for 15 years, invited by the Union ministry

amarujala.com- Presented by: अभिषेक मिश्रा

she was fighting for toilet for 15 years, invited by the Union ministryPC: AFP

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ भारत अभियान के तहत लोगों से कई बार अपील कर चुके हैं कि वह खुले में शौच के लिए न जाएं। बल्कि शौच के लिए शौचालय का इस्तेमाल करें, लेकिन पीएम मोदी के इस अभियान से कई वर्ष पहले ही एक महिला टीचर ने इसकी शुरुआत की थी। झारखंड की रहने वाली 72 साल की दोरोथिया कर्केता एक रिटायर टीचर और बेसेन पंचायत की पूर्व मुखिया हैं। रांची के लगभग 150 किमी दूर सिमडेगा जिले में दोरोथिया एक जाना पहचाना नाम है। उन्होंने अपने जिले में स्वच्छता का संदेश पहुंचाने के लिए लगभग 15 साल पहले खुले में शौच के खिलाफ जंग छेड़ी थी।  पढ़ें: मध्य प्रदेश: खुले में शौच पर 75 हजार जुर्माना जिस वक्त उन्होंने इस मिशन की शुरुआत की थी वह महज एक स्कूल टीचर थी। उन्होंने पुराने दिनों को याद करते हुए बताया कि मुझे अपने गांव की महिलाओं को खुले में शौच करते देखकर बहुत दुख होता था। मैंने इस बारे में लोगों से बात करने की कोशिश की लेकिन वह मेरी बात सुनना ही नहीं चाहते थे। उन्होंने बताय कि शुरुआत में महिलाओं के इज्जत, प्राइवेसी और स्वास्थ्य संबंधी बातों को लेकर उन्हें लोगों की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। इन सब के बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और अपनी लड़ाई जारी रखी। इसके बाद 2010 में उन्हें इलाके का मुखिया चुना गया। 
आगे पढ़ें >>

केंद्रीय मंत्रालय ने दो अक्तूबर को किया आमंत्रित

Share this article
Tags: swachcha bharat mission , jharkhand , union ministry , ranchi , toilet taboos , toilet ,

Also Read

5 राज्यों के 2 लाख से अधिक गांव हुए खुले में शौच से मुक्तः यूनिसेफ

घर में शौचालय नहीं बनाया तो बीडीओ ने दी ये सजा

स्वच्छ भारत अभियान के तहत निकाली रैली

वर्सोवा बीच पर सफाई करते नजर आए बिग बी, जानें क्या है माजरा

Most Popular

आमिर से फैन ने कहा- 'मैं आपके साथ सोना चाहती हूं', जवाब सुन पत्नी किरण राव रह गईं हैरान

बसंत पंचमी 2018: आज अपनी राशि के अनुसार करेंगे ये उपाय तो मिलेगी तरक्की

क्रिकेटर इरफान पठान को इरफान खान समझ दी बेस्ट एक्टर की बधाई, दिया ऐसा जवाब सब हो गए लोट-पोट

जहां ना पहुंचे रवि वहां पहुंचेगा यह वायरलेस स्मार्टफोन कैमरा

'GOD SEX AND TRUTH' के खिलाफ सड़क पर उतरी महिलाएं, किया कुछ ऐसा डर जाएंगे रामू

पद्मावत: 200 क्षत्राणियों ने इच्छा मृत्यु मांगी, राजस्थान के 10 से ज्यादा जिलों में प्रदर्शन