स्वर्णकारों की दुकानों में सर्वे

Home›   City & states›   survey in jewelery stores

ब्यूरो, अमर उजाला/उध्ामपुर

आभूषण की दुकान में खरीदारी करते लोग।PC: अमर उजाला

काला धन बचाने के लिए फटाफट सोने की खरीदारी होने की सूचना पर आयकर विभाग ने शुक्रवार को कई स्वर्णकारों की दुकानों पर दबिश देकर सर्वे किया। मौके पर मौजूद ग्राहकों के बिल और दुकानदारों की रजिस्टर जांची और दुकानदारों के बिल बुक के पन्नाें पर अपनी मुहर लगा दी। आयकर विभाग की इस पहल से शहर के सभी स्वर्णकारों ने अपनी-अपनी दुकानें बंद कर निकल लिए। अलबत्ता विभाग की टीम ने चार दुकानों पर दबिश दी। दरअसल विभाग को शिकायत मिली थी कि स्वर्णकार एक सप्ताह या उससे भी पहले की तारीख में बिल काट कर सोना बेच रहे हैं। इस तरह काला धन बचाने की जानकारी पर आयकर विभाग की टीम ने सर्वे शुरू किया। आला अधिकारियों की टीम पुलिस दल के साथ जैसे ही बाजार में पहुंची कि स्वर्णकारों की दुकानों के रिकार्ड की जांच शुरू कर दी। उसके बाद आयकर विभाग के अधिकारियों ने स्वर्णकारों ने ग्राहकों को दिए जाने वाले बिलों पर भी विभाग की मुहर लगाई गई। इस बीच छापेमारी की बात शहर में फैल गई, जिससे कई स्वर्णकारों ने अपनी दुकानों को बंद कर दिया। गौरतलब है कि प्रधानंत्री ने 500 व 1000 के नोट बंद करने के बाद पूरे देश में अफरातफरी मच गई हैं। लोग जल्दी-जल्दी अपने पास रखे 500 व 1000 के नोटों को बैंक में जमा करवना चाहते हैं। लेकिन जिन लोगों के पास आय अधिक है, वे किसी न किसी तरह पैसों को सोने के माध्यम से बचाना चाहते हैं। दिल्ली में भी इस प्रकार की कालाबाजारी सामने आने के बाद यहां भी छापेमारी शुरू कर दी गई। उच्च अधिकारियों के निर्देश पर स्वर्णकारों की दुकानों की जांच की गई है। जांच के दौरान स्वर्णकारों के रिकार्ड की जांच की गई। उसके बाद विभाग की ओर से ग्राहकों को दिए जाने वाले बिल मोहर लगाई गई है। आयकर विभाग को यह संदेह था कि धन की कालाबाजारी करने के लिए लोग सोने खरीद रहे हैं। -एमएल डोगरा, आयकर विभाग अधिकारी उधमपुर स्वर्णकार संघ केंद्र सरकार के साथ है। आयकर विभाग अपना काम कर रहा है, लेकिन जब तक उधमपुर में पूरी तरह से नये नोट नहीं आ जाते हैं। तब तक स्वर्णकारों की दुकानें खुली तो रहेंगी, लेकिन कारोबार नहीं होगा। स्वर्णकार ईमानदारी से काम कर रहे हैं। छापेमारी के बाद किसी भी दुकानदार ने अपनी दुकान बंद नहीं की। शादियों का सीजन होने के कारण कुछ स्वर्णकारों की दुकानें बंद थी। -जोगेंद्र वर्मा, प्रधान स्वर्णकार संघ, उधमपुर
Share this article
Tags: survey , jewelery shop , udhampur ,

Also Read

पश्चिमी बंगाल की तर्ज पर होगी हिसार की ट्रैफिक व्यवस्था

कुपोषित बच्चों के परिवारों का तैयार होगा डाटाबेस

सिटी ब्यूटीफुल में अंडरपास के लिए सर्वे शुरू

Most Popular

पेट्रोल पंप पर आपकी आंखों के सामने होती है तेल की चोरी, जानना चाहेंगे कैसे?

ICC Rankings: विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह और टीम इंडिया वन-डे में नंबर-1

सुरेश रैना बोले- टीम इंडिया के इस क्रिकेटर के लिए अपनी जान भी दे सकता हूं

खुल गया युजवेंद्र चहल का मैच के दौरान अचानक चश्मे में दिखने का राज, हैरान करेगी वजह

डॉक्टर जानबूझकर गंदी हैंडराइटिंग क्यों लिखते हैं, नहीं जानते होंगे ये राज

गाजियाबाद : योगी सरकार ने किया हज हाउस को सील, ये रही वजह