शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

PNB SCAM: पीएनबी घोटाले में 35 बैंक प्रमुखों से होगी पूछताछ, गीतांजलि के वाइस प्रेसिडेंट गिरफ्तार

एजेंसी, मुंबई Updated Wed, 07 Mar 2018 04:31 AM IST
nirav and mehul
पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में 127 अरब रुपये के घोटाले के संबंध में सीरियस फ्रॉड इनवेस्टिगेशन ऑफिस (एसएफआईओ) 35 बैंकों के शीर्ष अधिकारियों से पूछताछ करेगा। इस सिलसिले में मंगलवार को एक्सिस बैंक के वरिष्ठ अधिकारी एसएफआईओ के ऑफिस में पेश हुए। पीएनबी के प्रबंध निदेशक सुनील मेहता बुधवार को पेश हो सकते हैं। 

सूत्रों के अनुसार एसएफआईओ ने आईसीआईसीआई बैंक की एमडी एवं सीईओ चंदा कोचर और एक्सिस बैंक की प्रमुख शिखा शर्मा से भी पूछताछ के लिए समन जारी किया है। उन्हें खुद या अपने प्रतिनिधि के जरिए पेश होने का निर्देश दिया गया है। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो सकी।
 
बैंक के शीर्ष अधिकारियों यह समन पीएनबी घोटाले के आरोपी एवं गीतांजलि ग्रुप के मालिक मेहुल चोकसी को 5280 करोड़ रुपये के वर्किंग कैपिटल लोन को संबंध में पूछताछ के लिए जारी किया गया है। चोकसी के ग्रुप को यह लोन 31 बैंकों के कंसोर्टियम ने दिया है। इस कंसोर्टियम के लीड बैंक के तौर पर आईसीआईसीआई बैंक की ओर से ग्रुप को 405 करोड़ रुपये का लोन मंजूर किया गया था।

पेश हुए डिप्टी एमडी

मंगलवार को एक्सिस बैंक के डिप्टी एमडी वी श्रीनिवासन की अगुवाई में अधिकारियों की एक टीम दक्षिण मुंबई में एसएफआईओ के कार्यालय में पेश हुई। इन अधिकारियों से एसएफआईओ के अधिकारियों ने दो घंटे से ज्यादा पूछताछ की। सूत्रों के अनुसार, उनसे मेहुल चोकसी के गीतांजलि जेम्स और नीरव मोदी की कंपनियों के साथ लेन-देन के बारे में जानकारी हासिल की गई।
विज्ञापन

गीतांजलि के वाइस प्रेसिडेंट गिरफ्तार

PNB Scam
गीतांजलि के वाइस प्रेसिडेंट गिरफ्तार

पीएनबी घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने मंगलवार को गीतांजलि ग्रुप के वाइस प्रेसिडेंट विपुल चितालिया को गिरफ्तार कर लिया। उन्हें मुंबई एयरपोर्ट से हिरासत में लेकर बांद्रा-कुर्ला कांप्लेक्स में जांच एजेंसी के कार्यालय लाया गया, जहां उनसे गहन पूछताछ की गई और उसके बाद गिरफ्तार कर लिया गया। मालूम हो कि मेहुल चोकसी ने अपने भांजे नीरव मोदी के साथ मिलकर पीएनबी को 127 अरब रुपये का चूना लगाया है। यह धोखाधड़ी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) और फारेन लेटर्स ऑफ क्रेडिट (एफएलसी) के जरिए की गई। इसमें बैंक के अधिकारियों की मिलीभगत भी सामने आई है।

45 दिन में बड़े कर्जदारों के पासपोर्ट के ब्यौरे जुटाएं बैंक

वित्त मंत्रालय ने सभी सरकारी बैंकों को निर्देश दिया है कि वे 50 करोड़ रुपये से ज्यादा का लोन लेने वाले सभी कर्जदारों के पासपोर्ट के ब्यौरे 45 दिन के अंदर जुटा लें ताकि नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या की तरह उन्हें देश छोड़कर भागने से पहले ही रोका जा सके। जिन कर्जदारों के पास पासपोर्ट नहीं हैं, उनसे एक प्रमाणपत्र हासिल किया जाए जिसमें यह घोषणा हो कि संबंधित व्यक्ति के पास पासपोर्ट नहीं है। इसके अलावा मंत्रालय ने बैंकों से कहा है कि वे लोन के आवेदन फॉर्म में संशोधन करें ताकि उसमें पासपोर्ट का ब्यौरा दर्ज किया जा सके। 

बीएसई ने मांगा स्पष्टीकरण

बांबे स्टॉक एक्सचेंज ने आईसीआईसीआई बैंक एवं एक्सिस बैंक के शीर्ष अधिकारियों को पीएनबी घोटाले में समन जारी किए जाने को लेकर स्पष्टीकरण मांगा है। उन्हें समन भेजे जाने की खबर के बाद आईसीआईसीआई के शेयर 2.64 फीसदी की गिरावट के साथ 295.10 रुपये पर और एक्सिस बैंक के शेयर 1.31 फीसदी की गिरावट के साथ 516.80 पर बंद हुए। 
विज्ञापन

Spotlight

Most Read

Related Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।