बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

शहर चुनें

Coronavirus in Uttarakhand : गुरुवार को मिले 30 कोरोना पॉजिटिव, संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 508

न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Updated Thu, 28 May 2020 11:29 PM IST

सार

  • कोरोना संक्रमित मिलने के बाद देहरादून के चार इलाके सील किए गए
  • कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा, पीपीई किट के बिना क्वारंटीन सेंटर में नहीं मिलेगा प्रवेश
विज्ञापन
- फोटो : अमर उजाला

विस्तार

उत्तराखंड में बृहस्पतिवार को 30 और लोगों में कोरोना संक्रमण मिला है। इन्हें मिला कर प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 508 पहुंच गई है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार बृहस्पतिवार को आई जांच रिपोर्ट में 835 सैंपल निगेटिव मिले हैं।


वहीं, देहरादून, हरिद्वार, टिहरी, अल्मोड़ा और नैनीताल जिले में 30 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। दून में 17 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इनमें एक मरीज मुंबई से आया। जबकि तीन संक्रमित निरंजनपुर मंडी में आढ़ती हैं। पांचवां मरीज पहले से संक्रमित मरीज के संपर्क में आया है। वहीं, निजी पैथोलॉजी लैब में भी एक व्यक्ति में कोरोना संक्रमण मिला है। वो एक निजी अस्पताल में भर्ती है।


Coronavirus in uttarakhand: क्वारंटीन किए गए युवक की अस्पताल में मौत, तबीयत बिगड़ने पर दून किया था रेफर

वहीं शाम को दून में तीन और संक्रमित पाए गए। इनमें एक मरीज एम्स ऋषिकेश में भर्ती है। दूसरा महाराष्ट्र से आया है। जबकि तीसरा मरीज पहले से संक्रमित मरीज के संपर्क में आया है। वहीं देर रात एम्स ऋषिकेश में आठ और मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें भी कई लोग बाहर से आए बताए जा रहे हैं। हरिद्वार जिले में महाराष्ट्र से आए सात लोग संक्रमित मिले हैं।

टिहरी जिले में भी महाराष्ट्र से आए दो और लोग संक्रमित पाए गए। अल्मोड़ा में तीन संक्रमित मरीज महाराष्ट्र से आए हैं। नैनीताल जिले में कोरोना संक्रमित मिले मरीज की मौत हो गई है। पिछले चार महीने से संक्रमित मरीज का दिल्ली में कैंसर का इलाज चल रहा था। बृहस्पतिवार को मरीज ने दमतोड़ दिया, उसके सैंपल में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है।

अपर सचिव स्वास्थ्य युगल किशोर पंत ने बताया कि कोरोना संक्रमित मरीज पहले से कैंसर से पीड़ित था। डेथ रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का सही पता लग पाएगा। पंत ने बताया कि बृहस्पतिवार को 30 कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 508 पहुंच गई है। इसमें 79 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा जा चुका है।
विज्ञापन

देहरादून के चार इलाके सील

कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद दून जिले के चार इलाकों को कंटेनमेंट जोन में पाबंद कर दिया गया है। इसमें शहर के वार्ड 43 प्रेमनगर की प्रेम बत्ता गली संतोवाली घाटी, रेसकोर्स स्थित नेगी तिराहा व डांडीपुर और ऋषिकेश का सिंचाई विभाग परियोजना खंड शामिल है। इन सभी इलाकों के लोग प्रशासन के अगले आदेश तक अंदर ही रहेंगे।

इसके अलावा बैंक, दुकानें समेत अन्य सभी प्रतिष्ठान भी पूरी तरह बंद रहेंगे। जिलाधिकारी डा. आशीष श्रीवास्तव ने उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। पुलिस ने बैरिकेडिंग कर इलाके को पाबंद कर दिया ताकि लोग अनावश्यक इधर-उधर ना जा सकें।

जिलाधिकारी ने अधिकारियों को पूरे पाबंद इलाके में जरूरी वस्तुओं की सप्लाई नियमित रखने के निर्देश दिए। इस दौरान परिवार का एक सदस्य घर के बाहर आकर सामान ले सकता है। उन्होंने बताया कि दूध, फल-सब्जियों की कमी नहीं होने दी जाएगी। क्षेत्र की सफाई व्यवस्था के लिए
नगर निगम की अलग-अलग टीमों को लगाया गया है।

जिलाधिकारी ने सीएमओ डा. बीसी रमोला को सामुदायिक स्वास्थ्य पर नजर बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की इमरजेंसी पर कॉलोनी के लोग पुलिस के टोल फ्री नंबर 112 पर संपर्क कर मदद ले सकते हैं। वहीं, आदेशों का पालन न करने, अनावश्यक घर से बाहर घूमने वालों को उन्होंने आपदा प्रबंधन एक्ट के तहत कार्रवाई की चेतावनी भी दी।
विज्ञापन

पीपीई किट के बिना नहीं करेगा कोई क्वारंटीन सेंटर में प्रवेश: सुबोध

पीपीई किट के बिना क्वारंटीन सेंटर में कोई भी कर्मी प्रवेश नहीं कर पाएगा। बृहस्पतिवार को मुनिकीरेती स्थित जीएमवीएन गंगा रिसोर्ट में हुई बैठक में कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने आला अधिकारियों को यह निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने इन कर्मियों की सुरक्षा के लिए 500 पीपीई किट और 500 सौ सैनिटाइजिंग किट भी सौंपी।

इस दौरान उन्होंने क्वारंटीन सेंटरों में भेजी जा रही भोजन व्यवस्था के बारे में भी जाना। साथ ही  प्रशासन के आला अधिकारियों को खुला भोजन बांटने की बजाए पैकेट सेवा के माध्यम से भोजन बांटने के लिए कहा। साथ ही अधिक कमरों वाले होटलों को पहले क्वारंटीन सेंटर बनाने के निर्देश दिए। कहा कि प्रवासियों की भीड़ को क्षेत्र में फैलने की बजाय एक जगह पर एकत्र कर क्वारंटीन किया जाए। इसके तहत स्थानीय लोगों की सुरक्षा के लिए अधिक संख्या के कमरों वाले होटलों को पहले क्वारंटीन किया जाना बेहतर उपाय है।

क्वारंटीन सेंटर में न हो नशीली सामग्रियों की बिक्री
बृहस्पतिवार को आयोजित बैठक में कैबिनेट मंत्री के समक्ष खंड शिक्षा अधिकारी पंकज उप्रेती ने संस्थागत क्वारंटीन सेंटर में लोगों की ओर से नशीले पदार्थों के प्रयोग का सेवन करना बताया। इस पर कैबिनेट मंत्री आला अधिकारियों की लापरवाह कार्यशैली पर भड़क उठे और क्वारंटीन सेंटरों के आसपास नशीले पदार्थों की बिक्री करने वाले लोगों के विरुद्घ कार्रवाई करने के आदेश दिए।
विज्ञापन

Latest Video

Recommended

Next

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।