बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
डाउनलोड करें
विज्ञापन

Haridwar: पतंजलि के नाम एक और उपलब्धि, विश्व के अग्रणी वैज्ञानिकों की सूची में शामिल हुए आचार्य बालकृष्ण

संवाद न्यूज एजेंसी, हरिद्वार Published by: अलका त्यागी Updated Fri, 14 Oct 2022 06:32 AM IST

सार

स्वामी रामदेव ने कहा कि आचार्य बालकृष्ण के नेतृत्व में संचालित पतंजलि अनुसंधान संस्थान के अंतर्गत अनेकों आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों पर वृहद् स्तर पर अनुसंधान कर विभिन्न विश्व प्रसिद्ध रिसर्च जर्नल्स में प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है।
आचार्य बालकृष्ण
आचार्य बालकृष्ण - फोटो : अमर उजाला फाइल फोटो
Trending Videos

विस्तार

यूएसए की स्टेन फोर्ड यूनिवर्सिटी एवं यूरोपियन पब्लिशर्स एल्सेवियर की ओर से जारी विश्व के अग्रणी वैज्ञानिकों की सूची में पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण को शामिल किया गया है। योग गुरु स्वामी रामदेव ने कहा कि आचार्य बालकृष्ण ने विश्व के अग्रणी और ख्याति प्राप्त वैज्ञानिकों में स्थान प्राप्त कर बॉटनी बेस्ड मेडिसिन सिस्टम, योग, आयुर्वेद चिकित्सा और चिकित्सा के परिणामों को वैश्विक स्तर पर गौरवान्वित किया है।
विज्ञापन


Uttarakhand: संगठन की नब्ज टटोलने आएंगे कैलाश विजयवर्गीय, हल्द्वानी और देहरादून में डालेंगे डेरा


स्वामी रामदेव ने कहा कि आयुर्वेद के क्षेत्र में कार्य करने वाली पतंजलि पहली ऐसी संस्था है जिसके पास मान्यता प्राप्त विश्वस्तरीय अनुसंधान प्रयोगशालाएं हैं। आचार्य बालकृष्ण के नेतृत्व में संचालित पतंजलि अनुसंधान संस्थान के अंतर्गत अनेकों आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों पर वृहद् स्तर पर अनुसंधान कर विभिन्न विश्व प्रसिद्ध रिसर्च जर्नल्स में प्रमुखता से प्रकाशित किया गया है। पतंजलि में करीब 500 वैज्ञानिक निरंतर शोधकार्य में लगे हैं। 

स्वामी रामदेव ने कहा कि आचार्य बालकृष्ण ने सैकड़ों ग्रंथों, वनस्पति आधारित पुस्तकों, पांडुलिपी आधारित पुस्तकों की रचना कर अद्वितीय कार्य किया है। योग-आयुर्वेद में ही 80 भाषाओं में रिसर्च बेस्ड पब्लिकेशंस हैं। वर्ल्ड हर्बल इन्साइक्लोपीडिया ऐसी ही कालजयी रचना है जो आने वाली कई पीढ़ियों के लिए प्रेरणाप्रद एवं मार्गदर्शक की भूमिका निभाएगा। इससे पूर्व यूएनओ की संस्था यूएनएसडीजी द्वारा भी आचार्य बालकृष्ण को सम्मानित किया जा चुका है।
विज्ञापन
विज्ञापन
MORE
एप में पढ़ें