बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

शहर चुनें

पंजाब: सितंबर तक 1000 शहरी गरीबों को मिलेंगे घर, खेल विश्वविद्यालय के निर्माण में आएगी तेजी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Tue, 11 May 2021 11:40 PM IST

सार

वर्चुअल मीटिंग के दौरान स्थानीय सरकार विभाग के कामकाज का जायजा लेते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को प्रांतीय और केंद्रीय स्कीमों के अंतर्गत सभी बड़े प्रोजेक्टों में तेजी लाने को कहा, ताकि इस साल दिसंबर तक इन प्रोजेक्टों को पूरा करके कार्यशील बनाया जा सके। 
विज्ञापन
कैप्टन अमरिंदर सिंह। (फाइल फोटो) - फोटो : एएनआई

विज्ञापन मुक्त विशिष्ट अनुभव के लिए अमर उजाला प्लस के सदस्य बनें

Subscribe Now

विस्तार

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शहरी गरीबों को घर मुहैया करवाने के लिए स्थानीय सरकार संबंधी विभाग को अपने प्रमुख प्रोग्राम ‘बसेरा’ के कामों में तेजी लाने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सितंबर तक झुग्गी-झोपड़ी वाले 1000 घरों को मालिकाना हक देने का लक्ष्य पूरा किया जाए। 


वर्चुअल मीटिंग के दौरान स्थानीय सरकार विभाग के कामकाज का जायजा लेते हुए मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को प्रांतीय और केंद्रीय स्कीमों के अंतर्गत सभी बड़े प्रोजेक्टों में तेजी लाने को कहा, ताकि इस साल दिसंबर तक इन प्रोजेक्टों को पूरा करके कार्यशील बनाया जा सके। 


यह उल्लेख करते हुए कि ‘बसेरा’ स्कीम के अधीन 196 झुग्गियों की पहचान की जा चुकी है और 25,850 घरों का सर्वे किया गया है, मुख्यमंत्री ने अगले चार महीनों में 1000 घरों को मालिकाना हक देने के काम को तत्काल पूरा करने को कहा। उन्होंने विभाग को प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत स्वीकृत किए गए सभी 97,598 घरों को पूरा करने को कहा। 
विज्ञापन

खेल यूनिवर्सिटी के लिए वित्त विभाग को 60 करोड़ जारी करने के निर्देश 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को वित्त विभाग को निर्देश दिए कि महाराजा भूपिंदर सिंह पंजाब खेल यूनिवर्सिटी पटियाला कैंपस के पहले चरण के निर्माण के लिए मंजूर की गई 60 करोड़ रुपये की राशि तुरंत जारी की जाए। उन्होंने वित्त विभाग को इस प्रतिष्ठित संस्था के लिए इस साल के बजट में घोषित राशि बढ़ाने के लिए भी कहा, क्योंकि यूनिवर्सिटी के लिए अलॉट 15 करोड़ रुपये बहुत कम हैं।

राज्य की पहली खेल यूनिवर्सिटी की प्रगति की वर्चुअल समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने लोक निर्माण मंत्री विजय इंदर सिंगला से कहा कि कैंपस के निर्माण के लिए एक चीफ इंजीनियर की ड्यूटी लगाते हुए उसे किसी अच्छे बाहरी कंसलटेंट के साथ विचार-विमर्श करके प्रोजेक्ट को तेजी से पूरा कराया जाए।

उन्होंने खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी को भी यूनिवर्सिटी के काम में तेजी लाने के लिए लोक निर्माण विभाग के साथ तालमेल करने के लिए तीन सदस्यीय कमेटी बनाने को कहा। खेल यूनिवर्सिटी 2019 से किसी अन्य कैंपस से काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने खेल यूनिवर्सिटी के लिए विश्व स्तरीय कोर्स स्थापित करने के लिए इंग्लैंड की लफबरौफ यूनिवर्सिटी के साथ संस्थागत सहयोग बनाने के लिए आपसी सहमति के समझौते (एमओयू) के मसौदे को भी मंजूरी दी। 

युद्धस्तर पर चल रहा है यूनिवर्सिटी के निर्माण का काम 
खेल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर लेफ्टिनेंट जनरल (सेवामुक्त) जेएस चीमा ने मीटिंग में बताया कि पटियाला-भादसों रोड पर यूनिवर्सिटी के निर्माण का काम मौजूदा समय में युद्धस्तर पर चल रहा है। कैंपस करीब 100 एकड़ क्षेत्रफल में फैला है।

मीटिंग में बताया गया कि मौजूदा समय 2019-20 सेशन के लिए दाखिले किए जा चुके हैं और 130 विद्यार्थियों ने दाखिला लिया है। इस साल के बजट में 76 पद मंजूर किए गए हैं। इस समय यूनिवर्सिटी के तीन कांस्टीट्यूट कॉलेज हैं, जो प्रो. गुरसेवक सिंह सरकारी कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन पटियाला, सरकारी आर्ट एंड स्पोर्ट्स कॉलेज जालंधर और सरकारी कॉलेज काला अफगाना (गुरदासपुर) हैं।
विज्ञापन

Latest Video

Recommended

Next

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।