शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

LIC का आईपीओ लाने की तैयारी में सरकार, रिलायंस-टीसीएस को देगी मात

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Mon, 29 Jul 2019 04:04 PM IST
केंद्र सरकार जल्द ही भारतीय जीवन बीमा निगम लिमिटेड (एलआईसी) का आईपीओ लाने की तैयारी में है। आईपीओ आने के बाद कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज और टीसीएस को पछाड़ देगा। अगर शेयर बाजार में यह कंपनी लिस्टेड होती है तो फिर यह देश की सबसे बड़ी कंपनी बन जाएगी। 

संसद से लेनी होगी मंजूरी

हालांकि इसके लिए सरकार को ससंद में एलआईसी कानून में संशोधन करवाना पड़ेगा। ऐसा इसलिए क्योंकि सरकार बिना कानून में संशोधन किए एलआईसी को आईपीओ लाने की मंजूरी नहीं दे सकती है। 

48 हजार करोड़ रुपये का मुनाफा

कंपनी को पिछले वित्त वर्ष में करीब 48,436 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। कंपनी के पास कुल 31.10 लाख करोड़ रुपये के असेट अंडर मैनेजमेंट हैं। तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2016 कहा था कि अगर यह कंपनी शेयर बाजार में लिस्टेड होती है तो फिर वो देश की सबसे वैल्यू वाली कंपनी होगी। 

अभी टीसीएस का पूंजीकरण सबसे ज्यादा

बाजार पूंजीकरण के हिसाब से फिलहाल टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) का बाजार पूंजीकरण सबसे ज्यादा है। यह 7.91 लाख करोड़ रुपये है, वहीं रिलायंस इंडस्ट्रीज का मार्केट कैप 7.70 लाख करोड़ रुपये है।

पॉलिसीधारकों से कमाई

फिलहाल एलआईसी को पॉलिसीधारकों से ही कमाई होती है। यह कमाई प्रीमियम के तौर पर होती है, जो कि लोग हर साल जमा करते हैं। अगर शेयर बाजार में यह लिस्टेड होती है तो फिर लोगों को इस कंपनी के शेयर खऱीदने का मौका मिलेगा और आगे चलकर उनको डिविडेंड व शेयर कीमतों में उछाल के चलते काफी ज्यादा पैसा कमाने की उम्मीद रहेगी।  

सरकार घटाएगी हिस्सेदारी

आईपीओ लाने का मकसद यह है कि सरकार अपनी हिस्सेदारी को घटाएगी। केंद्र सरकार ने बजट में घोषणा की थी, कि वो पीएसयू कंपनियों में अपनी हिस्सेदारी को 35 फीसदी तक रखेगी। सरकार इस वित्त वर्ष में करीब सरकारी कंपनियों में से अपनी हिस्सेदारी को बेच कर के करीब एक लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की उगाही करना चाहती है। 
विज्ञापन

Recommended

lic ipo share market parliament disinvestment tcs ril एलआईसी आईपीओ शेयर बाजार संसद विनिवेश टीसीएस आरआईएल

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।