शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

अखंड सुहाग के लिए रखा निर्जला व्रत

Varanasi Bureau Updated Thu, 13 Sep 2018 01:00 AM IST
ज्ञानपुर। पति की सलामती और मनचाहे वर के लिए बुधवार को सुहागिनों और युवतियों ने तीज का कठिन व्रत रखकर मां पार्वती की उपासना की। इस दौरान पूजा-पाठ के लिए पूरे दिन शिव मंदिरों पर भीड़ उमड़ी रही। शाम को सोलह शृंगार कर सुहागिनों ने जगत जननी से अखंड सौभाग्य की कामना की। युवतियों ने भी मनचाहे वर की खातिर व्रत रखकर सुखद वैवाहिक जीवन की कामना की। मान्यता है कि आदि शक्ति मां पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए तीज का निर्जला व्रत रखा था। हाथ में मेहंदी, पांव में महावर, बालों में गजरा और आभूषणों से सज-धज कर सुहागिन महिलाएं बुधवार की शाम तीज का निर्जला व्रत रखकर जगत जननी जगदंबा की दर पर अखंड सौभाग्य की कामना लेकर पहुंचीं। ज्ञानपुर नगर स्थित सिद्धपीठ हरिहरनाथ धाम में तीज के अवसर पर सुहागिनों और युवतियों की भारी भीड़ उमड़ी। इस दौरान भजन-कीर्तन के साथ व्रती महिलाओं ने गौरीशंकर का दर्शन-पूजन किया और प्रसाद सामग्री अर्पित की। इससे पूर्व मंगलवार को मेहंदी और साज-शृंगार के बाद बुधवार को दिनभर बिना अन्न-जल के व्रत रखा गया। मान्यता है कि तीज का व्रत विधि विधान से करने वाली सुहागिन महिलाएं वैवाहिक जीवन पूरे आनंद से व्यतीत करने के बाद शिवलोक को जाती हैं। इसके निमित्त बुधवार को घर-घर में तीज के व्रत को लेकर पूजा-पाठ और कजरी गाने की रस्म अदा की गई। कजरी के जरिए भी शिव और पार्वती के आध्यात्मिक प्रसंगों को उकेरा गया। देर रात तक महिलाओं ने जागरण करते हुए गुजारा। इसी तरह गोपीगंज नगर के बड़ेशिव धाम, तिलंगा के तिलेश्वर नाथ, सेमराधनाथ समेत जिले भर के शिवमंदिरों पर तीज के अवसर पर दर्शन-पूजन के लिए महिलाओं और युवतियों की भीड़ जुटी। मान्यता है कि मुख्य रूप से यूपी के पूर्वांचल और बिहार में मनाया जाने वाला तीज का व्रत करवा चौथ से भी कठिन होता है। करवा चौथ में दिन भर निर्जला व्रत रखने के बाद शाम को चांद देखने के बाद व्रत तोड़ दिया जाता है, लेकिन इसमें एक दिन निर्जला व्रत रखने के बाद अगले दिन दान-दक्षिणा करके ही व्रत का पारण किया जाता है।
विज्ञापन

Recommended

Spotlight

Most Popular

Related Videos

विज्ञापन
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।