शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

जल्द ही ललितपुर, मुरैना व धौलपुर में नहीं रुकेगी शताब्दी एक्सप्रेस

झांसी ब्यूरो Updated Fri, 21 Feb 2020 02:12 AM IST
विज्ञापन
shatabdi express train not stop at muraina, lalitpur and dhaulpur
झांसी। रेलवे बोर्ड जल्द ही नई दिल्ली से हबीबगंज स्टेशन के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस का ललितपुर, मुरैना व धौलपुर स्टेशन पर ठहराव खत्म करने जा रहा है। इन स्टेशनों से रेलवे को ट्रैफिक (यात्री) नहीं मिल पा रहा है। प्रतिदिन इन स्टेशनों से औसत दस से पंद्रह मुसाफिर ही चढ़ रहे हैं। इन स्टेशनों की जगह बीना को नया ठहराव स्टेशन बनाया जाएगा।
विज्ञापन
भारतीय रेल में जब वीआईपी शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन शुरू हुआ था, उसमें एक ट्रेन (गाड़ी संख्या 12001/12002) दिल्ली से झांसी के मध्य भी चलाई गई थी। उस समय यह ट्रेन दिल्ली के बाद मथुरा, आगरा व ग्वालियर में ही रुकती थी। मगर, बाद में इसका विस्तार भोपाल और फिर एक जुलाई 2014 से हबीबगंज तक स्टेशन तक कर दिया गया।
वापसी में दिल्ली पहुंचने का टाइम अच्छा होने के कारण (रात 10.30 बजे) यह ट्रेन पैक्ड होकर चलती थी। समय के साथ यह गाड़ी राजनीति की भेंट चढ़ गई। इस गाड़ी को मुरैना, धौलपुर व ललितपुर नए ठहराव स्टेशन दे दिए गए। इस कारण यह गाड़ी रात में पौने बारह बजे के बाद ही दिल्ली पहुंचती है। दिल्ली में रात में टैक्सी वाले उल्टे सीधे दाम मांगते हैं। इससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। दूसरा रात में होटल तलाशना भी मुश्किलों भरा होता है। यही कारण है कि इस गाड़ी का ट्रैफिक दिनों दिन कम हो गया है।
रेलवे बोर्ड ने जिस उद्देश्य से मुरैना, धौलपुर व ललितपुर स्टेशन पर ठहराव दिया था, वह पूरा नहीं हो रहा है। इन स्टेशनों से गिने चुने यात्री ही सफर कर रहे हैं। इस कारण रेलवे बोर्ड अब इन स्टेशनों से शताब्दी एक्सप्रेस का ठहराव खत्म करने की तैयारी में है। साथ ही, बीना स्टेशन को नया ठहराव स्टेशन बनाया जाएगा।
यह भी कारण
ट्रेन के स्टॉपेज बढ़ने से इस ट्रेन का समय पालन भी बिगड़ गया है। वापसी में यह ट्रेन अक्सर लेट हो जाती है। हबीबगंज में भी पौन घंटे ट्रेन रुकती है। इस अवधि में यात्रियों को चढ़ना व उतरना भी पड़ता है। इस कारण ट्रेन में ठीक से सफाई भी नहीं हो पा रही है। रेलवे अफसर इस परेशानी को भलीभांति समझते हैं।
विज्ञापन

Recommended

railway shatabdi express train train stopage
विज्ञापन

Spotlight

Recommended Videos

Most Read

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।