हथियारों संग पकड़ा गया दोहरे हत्याकांड का आरोपी

Home›   Crime›   Armed with arms, accused of double murder

अमर उजाला ब्‍यूूराे

Armed with arms, accused of double murderPC: Amar Ujala

क्वार्सी पुलिस ने एएमयू के दोहरे हत्याकांड के आरोपी पूर्व एएमयू छात्र हस्सान को दो साथियों व अवैध हथियारों सहित दबोच लिया। उसके पास से दो पिस्टल व चार कारतूस बरामद हुए हैं।  क्वार्सी पुलिस गुरुवार देर शाम जीवनगढ़ की पुलिया के समीप चेकिंग कर रही थी। तभी सामने से अपाचे बाइक पर सवार तीन युवक आते दिखाई दिए। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो वे भागने लगे। पुलिस ने दौड़धूप के बाद उन्हें दबोच लिया। तलाशी में उनके पास दो पिस्टल व कारतूस बरामद हुए। पुलिस उन्हें थाने ले गई। पूछताछ में एक युवक का नाम गांव मऊ निवासी हस्सान तो दो अन्य युवकों के नाम जीवनगढ़ निवासी खालिद व रेहान पता चले। इस बीच सूचना पर एएमयू छात्र यूनियन के निवर्तमान उपाध्यक्ष नदीम अंसारी समेत सैकड़ों छात्र थाने पहुंच गए और पुलिस पर दबाव बनाने का प्रयास किया। सूचना पर सीओ सिविल लाइन संजीव दीक्षित एवं इंस्पेक्टर क्वार्सी दिलीप सिंह भी थाने पहुंच गए। पता चला कि आरोपी हस्सान पिछले साल अप्रैल माह में एएमयू प्रॉक्टर आफिस में छात्र गुटों के बीच हुई गोलीबारी में मारे गए दो छात्रों के मामले का आरोपी है और जेल भी जा चुका है। आरोपियों के पास हथियार बरामद होने की बात सुनकर अधिकांश छात्र लौट गए। कुछ देर रात तक थाने में जमा थे। तीनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। उनकी गिरफ्तारी को इस वजह से अहम माना जा रहा है कि गुरुवार को जीवनगढ़ इलाके में ही 15 हजार रुपये की लूट हुई है। पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि कहीं इन्हीं तीनों तो वह लूट नहीं की। इंस्पेक्टर दिलीप सिंह ने बताया कि तीनों युवकों से पूछताछ की जा रही है। 
Share this article
Tags: ,

Most Popular

अगर आपका भी अकाउंट पीएनबी में है तो 25 जनवरी तक कर लें सारे काम वरना होगी मुश्किल

अमर उजाला पोल: लोकसभा-विधानसभा चुनाव साथ कराने से देश की राजनीतिक व्यवस्‍था में सुधार आएगा

सलमान की 'दबंग-3' हुई फाइनल, इस वजह से तोड़ेगी 'टाइगर जिंदा है' की कमाई का रिकॉर्ड!

सुहागरात पर दुल्हन का वर्जिनिटी टेस्ट का विरोध करना पड़ा भारी, शादी में पहुंचे तो हुआ ऐसा हाल

Jio Republic Day Offer: सिर्फ 98 रुपये में 28 दिन तक अनलिमिटेड मजा

आयकर विभाग की सलाह, राजनीतिक दलों को दो हजार से अधिक न दें नकद चंदा