बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
डाउनलोड करें
विज्ञापन

Coronavirus Vaccine: वित्त मंत्री ने बताया- कोरोना वैक्सीन को लेकर देश में क्या है ताजा अपडेट

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: निलेश कुमार Updated Thu, 22 Oct 2020 01:26 PM IST
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 of 5
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण - फोटो : ANI
विज्ञापन
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच दुनियाभर के लोगों को इसकी एक सुरक्षित और कारगर वैक्सीन का इंतजार है। कोरोना महामारी काल में पहली बार होने वाले चुनाव को लेकर प्रोटोकॉल और दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में कोरोना वैक्सीन को लेकर वादा किया है। घोषणा पत्र जारी करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन ने कहा कि जैसे ही कोरोना वैक्सीन बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए उपलब्ध होगा, बिहार के हर व्यक्ति को मुफ्त में दिया जाएगा। चुनावी घोषणापत्र में यह भाजपा का पहला वादा है। भाजपा बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में जदयू के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। वित्त मंत्री ने इस मौके पर वैक्सीन को लेकर ताजा स्थिति भी बताई। 
विज्ञापन

2 of 5
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : पीटीआई
वित्त मंत्री ने निर्मला सीतरमण ने वैक्सीन की प्रगति के बारे में भी ताजा जानकारी दी। उन्होंने कहा कि देश में तीन वैक्सीन अंतिम चरण के ट्रायल में हैं। ये वैक्सीन लगभग उत्पादन के कगार पर आ गए हैं। अगर ट्रायल में सफलता के साथ अनुमति मिलती है तो हम बड़े पैमाने पर इसके उत्पादन के लिए तैयार बैठे हैं। उन्होंने कहा कि देश में जैसे ही बड़े पैमाने पर उत्पादन की अनुमति मिलती है, हर बिहारी के लिए मुफ्त टीकाकरण का हमारा वादा पूरा होगा।  
 

3 of 5
Coronavirus Vaccine - फोटो : Twitter/Amar Ujala
मालूम हो कि देश में तीन वैक्सीन सफलता के करीब हैं। भारत बायोटेक की Covaxin का तीसरे चरण का ट्रायल अगले महीने शुरू होगा। इसके अलावा अहमदाबाद की कंपनी जायडस कैडिला की वैक्सीन जायकोव-डी से भी उम्मीदें है, जिसने शुरुआती चरणों के ट्रायल के दौरान बेहतर रिजल्ट दिखाया है। वहीं, ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन को भारतीय कंपनी सीरम इंस्टिट्यूट कोविशील्ड नाम से बना रही है। वैक्सीन के बड़े पैमाने पर उत्पादन में इस कंपनी की बड़ी भूमिका रहेगी।
विज्ञापन

4 of 5
Coronavirus Vaccine News - फोटो : Pixabay/Amar Ujala
भारत में तमाम जरूरी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए वैक्सीन विकसित की जा रही है, इसलिए सुरक्षित और कारगर वैक्सीन उपलब्ध होने की उम्मीद है। दरअसल, अबतक रूस और चीन ने कोरोना के जिन टीकों को मंजूरी दी है, उनका तीसरे चरण का ट्रायल पूरा नहीं हुआ है। इमेरजेंसी अप्रूवल के तहत रूस और चीन ने उच्च जोखिम समूह के लोगों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया है। वहीं, इंडोनेशिया में भी अगले महीने से उच्च जोखिम वर्ग के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। 

5 of 5
देसी कोरोना वैक्सीन (Covaxin) - फोटो : निलेश कुमार, अमर उजाला ग्राफिक्स
भारत की देसी कोरोना वैक्सीन Covaxin से लोगों को बड़ी उम्मीद है, जिसे अंतिम यानी तीसरे चरण के ट्रायल की अनुमति मिल गई है। इसे भारत बायोटेक कंपनी ने आईसीएमआर यानी भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की मदद से तैयार किया है। 25 हजार से ज्यादा लोगों पर इस वैक्सीन का ट्रायल किया जाएगा। खबरों के मुताबिक, अगले महीने दिल्ली, बिहार, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और असम में इस वैक्सीन का ट्रायल शुरू होगा। 
विज्ञापन
विज्ञापन
MORE
एप में पढ़ें