शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

अमित शाह बोले, आतंकी फंडिंग में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे सुरक्षाबल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Thu, 27 Jun 2019 10:41 PM IST
बैठक लेते गृहमंत्री अमित शाह और राज्यपाल सत्यपाल मलिक - फोटो : अमर उजाला
सुरक्षा बल आतंकवाद के खिलाफ जीरो टॉलरेंस (असहिष्णुता) की नीति अपनाए और आतंकी फंडिग में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे। गृह मंत्री अमित शाह ने यह निर्देश गुरुवार को एसकेआईसीसी में राज्य और केंद्र के शीर्ष अधिकारियों के साथ हुई सुरक्षा समीक्षा बैठक के दौरान दिए। इस बैठक में राज्यपाल सत्यपाल मलिक भी मौजूद थे। 
विज्ञापन
शाह के दो दिवसीय दौरे के बारे में संवाददाताओं को जानकारी देते हुए राज्य के मुख्य सचिव बी वी आर सुब्रह्मण्यम ने बताया कि गृह मंत्री ने राज्य में आतंकी गतिविधियों पर शिकंजा कसने को कहा है। बैठक के दौरान शाह ने कहा कि आतंकवादियों और आतंकवाद को कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति होनी चाहिए। आतंकी फडिंग के खिलाफ लगातार कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। कानून का शासन लागू होना चाहिए।

प्रमुख जगहों के नाम शहीद पुलिस कर्मियों के नाम पर हों
केंद्रीय गृह मंत्री ने आतंकवाद का मुकाबला करने में जम्मू और कश्मीर पुलिस के काम की प्रशंसा की और निर्देश दिया कि राज्य सरकार को हर साल शहीद हुए पुलिसकर्मियों की शहादत को उनके अपने गृहनगर और गांवों में उचित तरीके से याद करना चाहिए। साथ ही प्रमुख सार्वजनिक स्थानों का नाम भी शहीद पुलिसकर्मियों के नाम पर होना चाहिए।

अमरनाथ यात्रा की तैयारियों की भी समीक्षा
गृह मंत्री ने एक जुलाई से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा की तैयारियों की भी समीक्षा की। राज्य के मुख्य सचिव ने कहा कि यह बैठक सुरक्षा बलों द्वारा अब तक की गई तैयारियों, पिछले साल की अपेक्षा इस साल किए गए सुधारों और सुरक्षा बलों की और किसी जरूरत पर केंद्रित थी। यात्रा के सुगम रूप से संचालन के लिए प्रशासनिक और अन्य इंतजामों की भी इस दौरान समीक्षा की गई। उन्होंने यात्रा के लिए हर संभव मदद का आश्वासन भी दिया। 

शाह को सुरक्षा परिदृश्य की दी जानकारी
बैठक में सुरक्षा एजेंसियों ने राज्य में सुरक्षा परिदृश्य पर एक विस्तृत जानकारी गृह मंत्री को सौंपी। जिसमें पिछले एक साल के प्रयासों के परिणाम आतंकवाद और उनके भविष्य की योजना शामिल थी। साथ ही बैठक में सुरक्षा परिदृश्य में सुधार को लेकर सराहना की गई और राज्य में शांति के साथ-साथ सामान्य स्थिति बहाल करने के लिए और क्या सुधार किए जा सकते हैं, इस पर विस्तृत चर्चा भी हुई।   
विज्ञापन

Recommended

amit shah anantnag encounter indian army jammu kashmir police

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Related

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।