शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

तीन साल में हर ट्रैक पर दौड़ेगी ट्रेन-18, निर्माण में तेजी के लिए रेलवे लाया नया टेंडर सिस्टम

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 17 Jul 2019 06:17 AM IST
train-18 - फोटो : amar ujala

खास बातें

  • रेलवे का लक्ष्य: तीन साल में हर ट्रैक पर दौड़ेगी ट्रेन-18
  • 40 ट्रेन-18 का निर्माण करना है तीन साल में आईसीएफ को
  • 10 ट्रेन 2019-20 में बनाकर दे देनी है रेलवे बोर्ड को
  • 15 ट्रेन 2020-21 व 15 ट्रेन 2021-22 में होंगी निर्मित
  • पक्षपात के आरोपों के बाद थम गया था तीसरी ट्रेन-18 का निर्माण
  • पारदर्शिता के लिए रेलवे लागू करने जा रहा है नया टेंडर सिस्टम 
वंदे भारत एक्सप्रेस के नाम से मशहूर ट्रेन-18 का उत्पादन अब फिर से गति पकड़ेगा। इस ट्रेन के निर्माण का ठेका छोड़ने में पारदर्शिता नहीं होने के आरोपों के बाद तीसरी ट्रेन-18 का निर्माण बीच में ही रोक दिया गया था लेकिन रेलवे ने मंगलवार को कहा कि वह सभी बोलीदाताओं को समान मौके देने और पारदर्शिता तय करने के लिए नया टेंडर सिस्टम लागू कर रहा है। मालूम हो कि भारतीय रेलवे आने वाले तीन साल के अंदर हरेक रूट पर ट्रेन-18 दौड़ाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। 

बता दें कि पहली ट्रेन-18 के निर्माण के टेंडर सिस्टम में भेदभाव के आरोप सामने आए थे। इन आरोपों के चलते चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) ने तीसरी ट्रेन-18 के निर्माण के लिए जारी सभी टेंडरों को खारिज कर दिया था। रेलवे अधिकारियों ने कहा कि अब तीसरी ट्रेन-18 का निर्माण नए टेंडर सिस्टम के जरिए पूरा कराया जाएगा। 

रेलवे अधिकारियों ने कहा कि नए टेंडर सिस्टम में वेंडरों को आवेदन देने को लेकर तीन महीने का समय मिलेगा, जबकि अभी यह तीन सप्ताह है। इसमें उत्पादन इकाइयों के लिए रेलवे के तकनीकी सलाहकार रिसर्च डिजाइन एंड स्टैन्डर्ड ऑर्गनाइजेशन के मानदंडों का पालन करना अनिवार्य किया गया है। यह नियम पहली ट्रेन-18 के निर्माण के समय लागू नहीं था। 
विज्ञापन

रिकॉर्ड समय में निर्माण के बाद भी लगे थे आरोप

train 18 - फोटो : सोशल मीडिया
पहली ट्रेन-18 को महज 18 महीने के रिकॉर्ड समय में बनाया गया था। हालांकि मंत्रालय को 97 करोड़ रुपये की लागत से बनी इस ट्रेन के निर्माण में इलेक्ट्रिकल उपकरणों की खरीद प्रक्रिया में कथित भेदभाव की 25 शिकायत मिली थी। 

दूसरी ट्रेन-18 अगले महीने से जाएगी वैष्णो धाम

बता दें कि पहली ट्रेन-18 यानी वंदे भारत एक्सप्रेस को इस साल की शुरुआत में दिल्ली से वाराणसी के बीच में चलाया गया था, जो यात्रियों के बीच बेहद लोकप्रिय साबित हुई थी। दूसरी ट्रेन-18 भी पूरी तरह तैयार हो चुकी है और उसे अगले महीने वैष्णो देवी जाने वाले यात्रियों के लिए दिल्ली से कटरा के बीच चलाए जाने की संभावना है। 
विज्ञापन

Recommended

train 18 train 18 speed train 18 route train 18 number train 18 fare train 18 delhi to varanasi indian railways railway new tender management system vande bharat train no vande bharat express train vande bharat

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।