शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

520 कंपनियों की 67 तरह से जांच कर रहा एसएफआईओ

पीयूष पांडेय, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Thu, 10 Jan 2019 04:37 AM IST
एसएफआईओ
फर्जीवाड़ा करने वाली कंपनियों के खिलाफ गंभीर धोखाधड़ी जांच कार्यालय (एसएफआईओ) लगातार कार्रवाई कर रहा है। केंद्र सरकार के मुताबिक पिछले तीन साल में 520 कंपनियों के खिलाफ एसएफआईओ 67 तरह की जांच कर रहा है। इनमें से सौ से भी ज्यादा कंपनियों के खिलाफ एक घोटाले का मामला भी दर्ज है। साथ ही 124 क्षेत्रीय निदेशकों (आरडी) और रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (आरओसी) के खिलाफ भी जांच एसएफआईओ को सौंपी गई है।  
विज्ञापन
कॉर्पोरेट मंत्रालय के मुताबिक, एसएफआईओ ने कंपनियों के खिलाफ जांच रिपोर्ट और गैर अनुपालन के संबंध में विभिन्न अदालतों के समक्ष 95 शिकायतें दर्ज की हैं। तीन साल में की गई कार्रवाई के दौरान अदालतों के आदेश पर 6,90,140 रुपये वसूल किए गए हैं। खास बात ये है कि एसएफआईओ पीएनबी घोटाला मामले में भी जांच कर रहा है। इस मामले से जुड़े संदिग्ध लेनदेन को लेकर सौ से भी ज्यादा कंपनियों के खिलाफ जांच की जा रही है। इसके अलावा कई कंपनियों के खिलाफ देश-विदेश में किए गए संदिग्ध लेनदेन की भी पड़ताल चल रही है। 

कंपनी धोखाधड़ी के सबसे ज्यादा मामले

सरकार द्वारा धन के अवैध लेनदेन को रोकने के लिए नोटबंदी के बाद लगातार कदम उठाए गए। इस दौरान सामने आए मामलों में सीबीआई, ईडी, एसएफआईओ, एफआईयू समेत विभिन्न एजेंसियों द्वारा जांच की जा रही है। इनमें से कंपनियों की धोखाधड़ी के खिलाफ सबसे ज्यादा मामले एसएफआईओ के पास हैं। कॉर्पोरेट मंत्रालय द्वारा दो साल या इससे अधिक समय तक वित्तीय जानकारियां या वार्षिक रिटर्न नहीं दाखिल करने वाली सवा दो लाख कंपनियों का पंजीकरण भी रद्द किया गया था। 

कई बड़े मामलों की पड़ताल

एसएफआईओ मौजूदा समय में कई महत्वपूर्ण मामलों की जांच कर रहा है। इनमें आदर्श को-ऑपरेटिव सोसायटी हेराफेरी, आईएलएंडएफएस समूह और शारदा घोटाला समेत कई मामले हैं। आईएलएंडएफएस में एसएफआईओ को अहम सुराग मिले हैं। जांच में पता चला है कि समूह के प्रबंधन ने घोटाला कर करोड़ों की संपत्ति बनाई जिससे कंपनी को 91 हजार करोड़ रुपये का नुकसान झेलना पड़ा।
विज्ञापन

Recommended

sfio companies fraud corporate ministry

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।