सरकार ने भी माना, अंग्रेजों के बनाए गए पुल हमसे बेहतर 

Home›   India News›   Finally Govt of India admitted that Bridges of British Era are more strong then present construction

एजेंसी, नई दिल्ली

bridge

ब्रिटिश काल के कुछ रेलवे पुलों की स्थिति आजादी के बाद बने पुलों से बेहतर है जबकि आजादी के बाद बनाए गए कई पुलों को बार-बार मरम्मत की जरूरत पड़ती है। संसदीय समिति ने शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट में यह बातें कहीं। लोक लेखा समिति ने माना है कि अधिकारियों और ठेकेदारों के भ्रष्ट गठजोड़  पुलों को जर्जर बना रहा है और यही गठजोड़ खराब गुणवत्ता के लिए भी जिम्मेदार है। बता दें कि संसद में पेश भारतीय रेलवे के पुलों का रखरखाव नामक रिपोर्ट में कहा गया है कि पुलों के निर्माण को मंजूरी देने में हुई देरी से यात्रियों की जान खतरे में आ जाती थी। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सुझाव दिया कि पुलों के निर्माण ई टेंडर के जरिये किया जाए, जिससे ज्यादा पारदर्शिता आए और अच्छी कंपनियां निर्माण के लिए सामने आएं। यह रिपोर्ट कैग की 2015 रिपोर्ट पर आधारित है। 
Share this article
Tags: govt of india , british era , bridges , construction ,

Also Read

ब्रिटिश रॉयल फैमिली जलियांवाला बाग के लिए भारतीयों से मांगे माफी- थरूर

देश की लापता 24 ऐतिहासिक धरोहरों की तलाश शुरू

Most Popular

फिनाले के कुछ दिन बाद ही बिग बॉस के सेट से आई बुरी खबर, मेकर्स को लगा 9 करोड़ रुपए का चूना

हीरोइन का बॉलीवुड पर चौंकाने वाल बयान- 'न्यूकमर्स फिल्म पाने के लिए...'

नाबालिग को जबरदस्ती KISS करते ही ट्रोल हुए सिंगर पापोन, यूजर्स ने कर डाली जानवर से तुलना

बच्ची को जबरदस्ती किस कर बुरे फंसे सिंगर पापोन, मोह-मोह के धागे से हुए थे फेमस

रोटोमैक के मालिक विक्रम कोठारी पटियाला हाउस कोर्ट पहुंचे, 3700 करोड़ के घोटाले का आरोप

अब छोटे पर्दे पर भी 'रॉबिनहुड पांडे' बनेंगे सलमान खान, जल्द लेकर आएंगे टीवी शो