सरकार ने भी माना, अंग्रेजों के बनाए गए पुल हमसे बेहतर 

Home›   India News›   Finally Govt of India admitted that Bridges of British Era are more strong then present construction

एजेंसी, नई दिल्ली

bridge

ब्रिटिश काल के कुछ रेलवे पुलों की स्थिति आजादी के बाद बने पुलों से बेहतर है जबकि आजादी के बाद बनाए गए कई पुलों को बार-बार मरम्मत की जरूरत पड़ती है। संसदीय समिति ने शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट में यह बातें कहीं। लोक लेखा समिति ने माना है कि अधिकारियों और ठेकेदारों के भ्रष्ट गठजोड़  पुलों को जर्जर बना रहा है और यही गठजोड़ खराब गुणवत्ता के लिए भी जिम्मेदार है। बता दें कि संसद में पेश भारतीय रेलवे के पुलों का रखरखाव नामक रिपोर्ट में कहा गया है कि पुलों के निर्माण को मंजूरी देने में हुई देरी से यात्रियों की जान खतरे में आ जाती थी। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सुझाव दिया कि पुलों के निर्माण ई टेंडर के जरिये किया जाए, जिससे ज्यादा पारदर्शिता आए और अच्छी कंपनियां निर्माण के लिए सामने आएं। यह रिपोर्ट कैग की 2015 रिपोर्ट पर आधारित है। 
Share this article
Tags: govt of india , british era , bridges , construction ,

Also Read

ब्रिटिश रॉयल फैमिली जलियांवाला बाग के लिए भारतीयों से मांगे माफी- थरूर

देश की लापता 24 ऐतिहासिक धरोहरों की तलाश शुरू

Most Popular

पाकिस्तान को भारत की चेतावनी समेत देश और दुनिया की बड़ी खबरें

शराब पीने के बाद इन 18 बॉलीवुड सिलेब्स को नहीं रहता होश, यार-दोस्त छोड़कर आते हैं घर तक

विश्व प्रसिद्ध इस मंदिर में हुए हैं अद्भुत चमत्कार, भक्तों से सुनिए उनकी आंखों देखी...

7 लाख करोड़ का स्तर छूने वाली पहली कंपनी बनी टीसीएस, आरआईएल को मिला दूसरा स्थान

बिजली की बढ़ी मांग पूरी करने को हरकत में केंद्र, आदेश जारी कर कहा इन कंपनियों को मिले प्राथमिकता

एबी डीविलियर्स 14 साल के करियर में हासिल नहीं कर पाए ये 5 उपलब्धि, ताउम्र रहेगा मलाल