दिल्ली सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार, कहा- ‘कूड़े के परमाणु बम’ फटने का है इंतजार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Thu, 08 Mar 2018 10:03 AM IST
कूड़ा प्रबंधन को लेकर दिल्ली सरकार के उदासीन रवैये पर सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि पूरी दिल्ली कूड़े के ‘परमाणु बम’ पर बैठी है। शीर्ष अदालत ने सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि क्या आप बम के फटने का इंतजार कर रहे हैं। यह राजधानी वासियों के साथ घोर अन्याय है।

पीठ ने सभी राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी करते हुए सुनवाई 19 मार्च तक के लिए टाल दी। न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय पीठ ने कूड़ा प्रबंधन को लेकर दिल्ली सरकार के अब तक के प्रयासों पर नाखुशी जताई। पीठ ने कहा कि सिर्फ बैठकें हो रही हैं। काम नहीं हो रहा। पीठ ने कहा कि बैठक होने के कई दिनों बाद मिनिट्स तैयार की जा रही है। दो वर्ष पहले हुई बैठक में जो बात हुई थी, वही बात आज हो रही है।

पीठ ने दिल्ली सरकार से सवाल किया कि आखिर कूड़ा प्रबंधन को लेकर क्या किया जा रहा है। सुनवाई के दौरान पीठ ने यह भी कहा कि अगर आप काम नहीं करना चाहते हैं तो आप हमें बता दीजिए।
पीठ ने यह भी कहा कि ऐसा लगता है कि यह राष्ट्रीय मसला है, लेकिन कोई भी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश इसे गंभीरता से नहीं ले रहा है।

अदालत ने पाया कि दिल्ली को छोड़ कर किसी भी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश के वकील सुनवाई के दौरान अदालत में उपस्थित नहीं थे। इस बात से नाराज पीठ ने दिल्ली के अलावा सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रधान सचिवों को अगली सुनवाई में पेश होने का निर्देश दे दिया। हालांकि बाद में पीठ ने यह देखते हुए आदेश वापस ले लिया कि इस मामले में ये प्रदेश पक्षकार नहीं हैं।

Most Popular

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।