बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

शहर चुनें

उत्तराखंड: आज से प्रदेशभर में रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल, सुबह पांच बजे से आंदोलनकारी आईएसबीटी पर डटे

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: अलका त्यागी Updated Wed, 13 Jan 2021 10:57 AM IST

सार

  • उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन के साढ़े तीन हजार कर्मचारी हड़ताल पर
  • परिवहन निगम ने वार्ता के लिए बुलाया, आज होगी बातचीत
विज्ञापन
सुबह पांच बजे से आंदोलनकारी रोडवेज कर्मी देहरादून आईएसबीटी पर डटे - फोटो : amar ujala

विस्तार

उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन की ओर से आज प्रदेश भर में हड़ताल की जा रही है। इस हड़ताल में यूनियन से जुड़े करीब साढ़े तीन हजार कर्मचारी शामिल हो रहे हैं। उधर, रोडवेज प्रबंधन ने कर्मचारियों को आज वार्ता के लिए बुलाया है।

देहरादून मण्डल में पहले से करीब 1200 कर्मचारी हड़ताल पर हैं। देहरादून मंडल की हड़ताल का आज पांचवा दिन है। आज से रोडवेज के बाकी सभी मंडलों में भी हड़ताल शुरू हुई है। सुबह पांच बजे से आंदोलनकारी रोडवेज कर्मी आईएसबीटी पर डटे हैं।


उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन की ओर से वेतन भुगतान सहित सात सूत्री मांग को लेकर देहरादून मंडल में पांच दिन से हड़ताल की जा रही है। अब रोडवेज के सभी मंडलों में 13 जनवरी से हड़ताल शुरू हो गई है। यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चौधरी ने बताया कि यूनियन से जुड़े करीब 3500 कर्मचारी हड़ताल पर हैं। इनमें बड़ी संख्या ड्राईवर और कंडक्टरों की है। इस वजह से बस सेवा करीब 80 फीसदी तक ठप रहने की आशंका है।

हालांकि 20 फीसदी ड्राईवर बसें संचालित करेंगे। उधर, परिवहन निगम ने बुधवार को हड़ताली कर्मचारियों की मांगों पर सुनवाई के लिए वार्ता को बुलाया है। यूनियन के प्रदेश महामंत्री अशोक चौधरी का कहना है कि जब तक उनकी मांगें नहीं मानी जाती, वह आंदोलन जारी रखेंगे। निगम के महाप्रबंधक संचालन दीपक जैन का कहना है कि कर्मचारी यूनियन से वार्ता कर उन्हें मनाने का प्रयास किया जा रहा है।
विज्ञापन

सड़क हादसे में घायल चालक की मौत, रोडवेज ने दी पांच लाख रुपये की राहत राशि

रोडवेज बस हादसे में घायल 57 वर्षीय चालक की मंगलवार को सुबह एम्स ऋषिकेश में उपचार के दौरान मौत हो गई। उनकी मौत की खबर सुनकर रोडवेज अफसरों में हड़कंप मच गया। निगम ने परिवार को पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता के साथ ही परिवार के एक आश्रित को नौकरी देने की सिफारिश करने का ऐलान किया है।

उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन ने आरोप लगाया था कि परिवहन निगम ने यात्रियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करते हुए व मोटर वाहन एक्ट की धज्जियां उड़ा बुजुर्ग चालक से रोडवेज अफसरों ने लगातार 2000 किमी की ड्यटी कराई थी। हादसे का कारण भी चालक को नींद आना माना जा रहा था। इस घटना की मजिस्ट्रेटी जांच की मांग करते हुए लगातार ड्यूटी कराने वाले अफसरों पर एफआईआर दर्ज कराने की मांग कर्मचारी यूनियन ने की है। 

वहीं, मृतक की पत्नी ने भी अफसरों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराने, 20 लाख रुपये की आर्थिक सहायता व बेटे को नौकरी देने की मांग की है। बीते पांच दिन से रोडवेज कर्मचारी यूनियन की चल रही हड़ताल के कारण दूसरे संगठनों से जुड़े चालक और परिचालकों को बिना आराम दिए लगातार ड्यूटी कराई जा रही है।

दुष्परिणाम यह हुआ था कि चंडीगढ़ से हरिद्वार होकर कोटद्वार जा रही रोडवेज बस रविवार तड़के दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। हरिद्वार डिपो की यह साधारण बस श्यामपुर में सामने से आ ही उत्तर प्रदेश रोडवेज की बस से भिड़ गई थी, जिसमें उत्तराखंड रोडवेज के 55 वर्षीय चालक ओमपाल सिंह बुरी तरह जख्मी हुए थे और उनका ऋषिकेश एम्स अस्पताल में उपचार चल रहा था।

सहायक महाप्रबंधक प्रतीक जैन ने इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए मृतक चालक के परिजनों को पांच लाख रुपये की तत्काल सहायता देने की घोषणा के साथ ही परिवार के एक आश्रित को नौकरी देने की सिफारिश करने की भी घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि मृतक चालक के सभी देयकों का भुगतान 15 दिन के भीतर कर दिया जाएगा।
विज्ञापन

Latest Video

Recommended

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।