बदरीनाथ-मद्महेश्वर ट्रैकिंग रूट पर छह दिन से फंसे एक ट्रेकर की मौत, 8 को किया रेस्क्यू

Home›   City & states›   mountaineer death on Badrinath Madhmeshwar Tracking Route

ब्यूरो/अमर उजाला, रुद्रप्रयाग

mountaineer death on Badrinath Madhmeshwar Tracking Route

बदरीनाथ-मद्महेश्वर ट्रैकिंग रूट पर 6 दिन से फंसे नौ ट्रैकरों में पंश्चिम बंगाल के एक ट्रैकर की मौत हो गई है, जबकि आठ ट्रैकरों और पोर्टरों कोे एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीम मद्महेश्वर ले आई है। टीम ने ट्रैकर के शव को फिलहाल पनपतियां में छोड़ा है, जिसे शनिवार को जोशीमठ लाया जाएगा। शुक्रवार को पैदल मार्ग से रेस्क्यू के लिए रवाना हुए एसडीआरएफ के दल को 8 ट्रैकर और पोर्टर पनपतिया से कुछ पहले ग्लेशियर क्षेत्र में नीचे की तरफ आते मिले। पूछताछ में पता चला कि ये वही ट्रैकर हैं जो पनपतिनया में फंसे हुए थे। इसके बाद दस सदस्यीय रेस्क्यू दल इन्हें दोपहर बाद सकुशल मद्महेश्वर ले आया। यहां पर पहले से मौजूद चिकित्सकीय दल ने ट्रैकरों/पोर्टरों की जांच कर जरूरी उपचार किया गया। ये लोग काफी थके हुए थे। करीब छह दिन तक बर्फीले क्षेत्र में रहने के कारण उनके पैरों में सूजन आ गई है, जिससे चलते उन्हें चलने में दिक्कत हो रही है। ट्रैकरों ने बताया कि पश्चिम बंगाल निवासी सुप्रीम बर्मन की 27 सितंबर को तबीयत खराब होने से पनपतिया में ही मौत हो गई थी। अभी उसके शव को वहीं छोड़ दिया गया है।  रेस्क्यू टीम से ट्रैकरों की बातचीत के  आधार पर एसपी ने बताया कि क्षेत्र में लगातार बर्फबारी के चलते ट्रैकर रास्ता भटक गए थे। पनपतिया में मीलों तक फैली बर्फ होने और ग्लेशियर क्षेत्र होने के कारण उन्हें मजबूरी में वहीं टैंट लगाना पड़ा। बृहस्पतिवार को ये सभी आठ लोग बर्मन के शव को वहीं छोड़कर रास्ता ढूंढने लगे थे, जिन्हें रेस्क्यू दल ने शुक्रवार को सकुशल मद्महेश्वर पहुंचा दिया। यहां पहले से दल के पांच लोग मौजूद थे।  
आगे पढ़ें >>

दो पोर्टर जोशीमठ के सेना अस्पताल में भर्ती

Share this article
Tags: mountaineer , death , helicopter , mountaineer rescue , mountaineer rescue from madhmeshwar tracking route , mountaineer death on badrinath tracking route , mountaineer death ,

Most Popular

चीन की खुली पोल, जहाजों के जरिए कर रहा उत्तर कोरिया की मदद: रिपोर्ट

20 विधायकों के अयोग्य घोषित होते ही इन 6 संकटों में घिरी केजरीवाल सरकार

नेतन्याहू के प्रोग्राम में सालों बाद Ex BF से मिलीं ऐश्वर्या, ससुर और पति के सामने करना पड़ा अवॉयड

सरहद से सटे घरों में सन्नाटा हर तरफ सिर्फ गोलों की गूंज

NSG की सदस्यता के और करीब पहुंचा भारत, वासेनार, MTCR में पहले ही हो चुका है शामिल

सोहराबुद्दीन केस: शाह की रिहाई मामले में सीबीआई के खिलाफ याचिका दायर