शहर चुनें

अपना शहर चुनें

Top Cities
States

उत्तर प्रदेश

दिल्ली

उत्तराखंड

हिमाचल प्रदेश

जम्मू और कश्मीर

पंजाब

हरियाणा

विज्ञापन

रिपोर्ट में खुलासा, नहीं बिके देश के नौ प्रमुख शहरों में चार लाख से ज्यादा किफायती फ्लैट

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला Updated Sun, 18 Aug 2019 04:10 PM IST
किफायती आवास की मांग बढ़ने के बाद भी देश के नौ प्रमुख शहरों में 4.12 लाख ऐसे तैयार अपार्टमेंट हैं जो बिक नहीं पाये हैं। इनकी कीमतें 45 लाख रुपये तक हैं। एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गयी है।
विज्ञापन
संपत्ति की खरीद-बिक्री संबंधी सेवाएं देने वाली कंपनी प्रॉपटाइगर ने कहा कि नौ प्रमुख शहरों गुरुग्राम, नोएडा, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बंगलूरू, हैदराबाद, पुणे और अहमदाबाद में 7,97,623 ऐसे फ्लैट हैं जो बिक नहीं पाये हैं। कंपनी ने कहा कि इनमें से 4,12,930 फ्लैट की कीमतें 45 लाख रुपये तक हैं और ये किफायती श्रेणी की हैं।

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) ध्रुव अग्रवाल का मानना है कि अब किफायती श्रेणी में आवास की बिक्री में तेजी आएगी। सरकार ने आवास ऋण पर ब्याज में छूट की सीमा को दो लाख रुपये से बढ़ाकर साढ़े तीन लाख रुपये कर दिया है।

इससे पहले जेएलएल ने एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें कहा गया था कि रियल इस्टेट बाजार में छाई हुई मंदी के चलते फिलहाल देश के सात सबसे बड़े शहरों में करीब 2.2 लाख फ्लैट का निर्माण अटका पड़ा है। इन फ्लैट का निर्माण 2011 में शुरू हुआ था। इन फ्लैटों की कुल कीमत 1.56 लाख करोड़ रुपये के करीब है। 

पहले स्थान पर एनसीआर

रिपोर्ट के मुताबिक पहले स्थान पर दिल्ली-एनसीआर है, जहां पर मौजूद ज्यादातर प्रमुख कंपनियां दिवालिया घोषित हो गई हैं। यहां पर करीब 71 फीसदी फ्लैटों का निर्माण अधूरा पड़ा हुआ है, जो देशभर की कुल कीमत का 56 फीसदी है। दिल्ली एनसीआर के अलावा मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, बंगलूरू, हैदराबाद और पुणे भी इस लिस्ट में शामिल हैं। देश के टॉप सात रीजन में फिलहाल ऐसे 220 प्रोजेक्ट हैं, जोकि अभी भी पूरी तरह से बने नहीं हैं। इन प्रोजेक्ट के न बनने से 1.74 लाख लोगों को अभी भी अपने सपनों का आशियाना नहीं मिला है। 
विज्ञापन

Recommended

flats property real estate real estate companies प्रॉपर्टी

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Recommended Videos

Next
Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।